होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /हिमाचल के मयंक ने दुनिया की सबसे कठिन ट्रायथलोन जीतकर बनाया नया वर्ल्ड रिकॉर्ड

हिमाचल के मयंक ने दुनिया की सबसे कठिन ट्रायथलोन जीतकर बनाया नया वर्ल्ड रिकॉर्ड

भारतीय एथलीट मंयक वैद ने रिकॉर्ड समय में एंडुरोमन ट्राएथलोन रेस जीती

भारतीय एथलीट मंयक वैद ने रिकॉर्ड समय में एंडुरोमन ट्राएथलोन रेस जीती

विश्व स्तरीय एंडुरोमन ट्रायथलोन प्रतियोगिता में बिलासपुर के नोआ गांव के मयंक वैद ने नया कीर्तिमान स्थापित किया है. मयं ...अधिक पढ़ें

    बिलासपुर. विश्व स्तरीय एंडुरोमन ट्रायथलोन प्रतियोगिता (Enduroman Triathlon Competition) में हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर (Bilaspur) के नोआ गांव के मयंक वैद (Mayank vaid) ने नया कीर्तिमान स्थापित किया है. मयंक ने 144 किलोमीटर दौड़, 33.8 किलोमीटर तैराकी व 289.7 किलोमीटर साइकिलिंग (cycling) करके विश्व में सब से कम समय में ऐसा करने वाले ट्रायएथलिट (triathlete) बनने का नया कीर्तिमान स्थापित किया है. मयंक वैद ने इस रेस को 50 घंटे 24 मिनट में जीत लिया. उन्होंने पिछले वर्ल्ड रिकॉर्ड को 2 घंटे 6 मिनट के बड़े अंतर से तोड़ा.

    मयंक वैद पहले भी जीत चुके हैं कई विश्व स्तरीय प्रतियोगिताएं 

    बिलासपुर जिला से संबध रखने वाले मयंक वैद ने विश्वस्तर पर आयोजित एंडुरोमन ट्रायथलोन प्रतियोगिता में नया वर्ल्ड रिकार्ड (World record) बनाया है. मयंक यह रेस जीतने वाले एशिया के पहले एथलीट बन गए है. बता दें कि मयंक वैद इस समय हांगकांग (Hong Kong) में  रहते हैं, इससे पहले भी मयंक अल्ट्रा मैन आस्ट्रेलियन, सहारा मरुस्थल, कच्छ के रण गुजरात जैसी विश्व स्तरीय प्रतियोगिताएं जीत चुके हैं.मंयक वैद ने रेस को 50 घंटे 24 मिनट में जीतकर बनाया रिकॉर्ड

    रेस जीतने वाले एशिया के पहले और दुनिया के 44वें एथलीट बने मंयक

    मयंक वैद यह रेस जीतने वाले एशिया के पहले तथा दुनिया के 44वें एथलीट(athlete) बन गये. यह विश्व की सबसे कठिन ट्रायथलोन रेस है. विश्व में अब तक इसे केवल 44 लोग ही जीत सके हैं. इसमें रनिंग, स्वीमिंग और साइकिलिंग के जरिए इंग्लैंड से फ्रांस तक की यात्रा करनी होती है.

    प्रतियोगिता के दौरान स्वीमिंग करते हुए मयंक वैद
    प्रतियोगिता के दौरान स्वीमिंग करते हुए मयंक वैद


    एंडुरोमन ट्रायथलोन क्या है?



    एंडुरोमन ट्रायथलोन प्रतिस्पर्धा की शुरुआत लंदन के मार्बल आर्च से डोवर के बीच 140 किमी की दौड़ से होती है. इसमें सफल होने वाले एथलीट को उसके बाद कम से कम 33.8 किमी की स्वीमिंग करनी होती है. इन दोनों चरणों में सफल होने के बाद 289.7 किमी की साइकिलिंग फ्रांस के शहर कैलैस से आर्क डी ट्रौम्फ़(Calais To Arc de Triomphe) के बीच करनी होती है. इस प्रतिस्पर्धा को विश्व में सबसे कठिन माना जाता है.

    ये भी पढ़ें - टी-20 मुकाबला : कोहली ने कहा- मेजबान टीम होने का थोड़ा लाभ जरूर मिलेगा

    Tags: Bilaspur district, Himachal pradesh news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें