Home /News /himachal-pradesh /

कौल सिंह ने ज्यादा मुआवजे के लिए फोरलेन को नहीं दी अपनी जमीन : जवाहर ठाकुर

कौल सिंह ने ज्यादा मुआवजे के लिए फोरलेन को नहीं दी अपनी जमीन : जवाहर ठाकुर

विधायक जवाहर ठाकुर.

विधायक जवाहर ठाकुर.

जवाहर ठाकुर ने राज्य सरकार से एसआईटी गठित करके इसकी जांच करवाने की मांग उठाई है.

    हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले के द्रंग से भाजपा के विधायक जवाहर ठाकुर ने पूर्व मंत्री कौल सिंह ठाकुर पर संगीन आरोप लगाए हैं. मंडी में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान जवाहर ठाकुर ने कहा कि कौल सिंह ठाकुर ने अभी तक फोरलेन निर्माण में जा रही अपनी जमीन का अधिग्रहण नहीं करवाया है.

    मंडी से पंडोह के बीच बनने वाले फोरलेन में सिर्फ कौल सिंह ठाकुर की ही जमीन को अधिग्रहित नहीं किया गया है, जबकि बाकी सभी जगहों पर जमीन का अधिग्रहण करके लोगों के आशियाने तोड़े जा चुके हैं.

    जवाहर ठाकुर का यह भी आरोप है कि कौल सिंह ने वर्ष 1977 में पहली बार सत्ता में आने के बाद एक बुजुर्ग महिला से यह जमीन हथियाई थी. उन्होंने कहा कि कौल सिंह ठाकुर पूर्व में राजस्व मंत्री थे और वह यह सोचते थे कि दोबारा से उनकी सरकार बनेगी और सर्किल रेट रिवाईज करके वह अपनी जमीन का सबसे ज्यादा मुआवजा हासिल करेंगे.

    इसी मंशा से उन्होंने जमीन का अधिग्रहण नहीं होने दिया. जवाहर ठाकुर ने राज्य सरकार से एसआईटी गठित करके इसकी जांच करवाने की मांग उठाई है.

    जवाहर ठाकुर ने कौल सिंह ठाकुर द्वारा इनपर और इनके परिवार पर लगाए गए आरोपों को सीरे से खारिज किया. उन्होंने कहा कि फोरलेन निर्माण में उनकी और उनके परिवार की कोई संलिप्तता नहीं है.

    यदि कौल सिंह ठाकुर उनके खिलाफ विजिलेंस जांच की मांग कर रहे हैं तो वह भी इसका समर्थन करते हैं, ताकि दूध का दूध और पानी का पानी हो सके. इस मौके पर उनके साथ मंडी जिला भाजपा के अध्यक्ष रणवीर सिंह सहित अन्य मौजूद रहे.

    ये भी पढ़ें : HRTC की बस खाई में गिरी, 35 सवार घायल, छह गंभीर IGMC रेफर

    शिमला में खाई में गिरी कार, 4 सवारों की मौत, 2 घायल

    ‘चिट्टा वे’: 48 घंटे में 5 मामले, 1 मौत, युवती समेत 4 गिरफ्तार

    आगे HP, पीछे दिल्ली का नंबर, पुलिस देख गाड़ी छोड़ भागा युवक, चिट्टा-कैश बरामद

    सऊदी में फंसे 10 युवकों के परिजन चिंतित, सरकार नहीं उठा रही कोई ठोस कदम

    PHOTOS: धंधु के आगोश में आधा हिमाचल, पांच शहरों में पारा शून्य डिग्री से नीचे

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर