होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /देवभूमि चंबा : श्रद्धालुओं को मूलभूत सुविधाएं नहीं मिलने से हो रही परेशानी

देवभूमि चंबा : श्रद्धालुओं को मूलभूत सुविधाएं नहीं मिलने से हो रही परेशानी

चंबा में दर्जनों ऐसे मंदिर हैं जिनका अपना एक अलग इतिहास है.

चंबा में दर्जनों ऐसे मंदिर हैं जिनका अपना एक अलग इतिहास है.

चंबा जिले के चामुंडा मंदिर में शौचालय नहीं होने से श्रद्धालुओं को बहुत ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

    हिमाचल प्रदेश के चंबा जिला को देवभूमि (Devbhoomi Chmaba) के नाम से भी जाना जाता है. यहां पर दर्जनों ऐसे मंदिर हैं जिनका अपना एक अलग ही इतिहास है. यहां के मंदिरों में देवी के दर्शन करने के लिए हर साल हजारों की संख्या में लोग आते हैं. लेकिन सैलानियों (Tourists) को सुविधाएं नहीं मिलने से उन्हें काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. चंबा मुख्यालय के बिल्कुल ऊपर चामुंडा माता (Goddess Chamunda Temple) का मंदिर है. यहां स्थानीय लोगों के साथ ही बाहर के राज्यों से पर्यटक माता के दर्शन को आते हैं. हालांकि यहां आने वाले श्रद्धालुओं (Devotees) की एक शिकायत हमेशा ये रहती है कि उन्हें शौचालय (Toilets) के बिना काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. यहां के स्थानीय लोग प्रशासन से सड़क के किनारे शौचालय बनवाने की मांग कई बार कर चुके हैं. लेकिन उनकी मांग पर कोई ध्यान नहीं दिया गया.

    News18 Hindi
    चंबा मुख्यालय के बिल्कुल ऊपर चामुंडा माता का मंदिर है.


    दूसरे राज्यों से घूमने आए तीर्थयात्रियों और पर्यटकों ने कहा कि चामुंडा मंदिर बहुत ही रमणीक स्थान है. यहां से चंबा शहर का दृश्य देखते ही बनता है. यहां का वातावरण पूरी तरह से शुद्ध है. यहां हर कोई को सूकुन लेने पहुंचता है. लेकिन बाहर से आए लोगों ने भी यहां शौचालय नहीं होने की शिकायत की. उन्होंने कहा कि माता-बहनों को काफी परेशानियों को सामना करना पड़ता है. पर्यटकों ने मंदिरों व पर्यटन स्थलों के पास शौचालयों के नहीं होने पर काफी आश्चर्य व्यक्त किया. पर्यटकों ने प्रशासन से आग्रह किया है कि यहां शौचालय का निर्माण जल्द से जल्द कराया जाए.

    ये भी पढ़ें - सीएम के काफिले में शामिल होगी पहली इलेक्ट्रिक कार

    ये भी पढ़ें - भारतीय अर्थव्यवस्था तेज़ गति से आगे बढ़ रही है: अनुराग ठाकुर

    Tags: Chamba district, Cleaning, Himachal pradesh news, Swachhta Abhiyaan, Tourism

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें