Home /News /himachal-pradesh /

राजकीय सम्मान के साथ हुआ सागर चंद नैयर अंतिम संस्कार, बाजार भी रहा बंद

राजकीय सम्मान के साथ हुआ सागर चंद नैयर अंतिम संस्कार, बाजार भी रहा बंद

हिमाचल प्रदेश में दो बार कैबिनेट मंत्री रह चुके चंबा निवासी सागर चंद नैयर का सोमवार को राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। रावी व साल नदी के संगम में सैकड़ों नम आंखों ने उन्हें अंतिम विदाई दी। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अध्यक्ष कुलदीप सिंह पठानिया सहित प्रशासन की तरफ से उपायुक्त चंबा एम. सुधा देवी व अन्य प्रशासनिक अधिकारियों, एस.पी. चंबा ने उनकी अंतिम यात्रा में शिरकत की तथा पार्थिव शरीर पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

हिमाचल प्रदेश में दो बार कैबिनेट मंत्री रह चुके चंबा निवासी सागर चंद नैयर का सोमवार को राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। रावी व साल नदी के संगम में सैकड़ों नम आंखों ने उन्हें अंतिम विदाई दी। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अध्यक्ष कुलदीप सिंह पठानिया सहित प्रशासन की तरफ से उपायुक्त चंबा एम. सुधा देवी व अन्य प्रशासनिक अधिकारियों, एस.पी. चंबा ने उनकी अंतिम यात्रा में शिरकत की तथा पार्थिव शरीर पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

हिमाचल प्रदेश में दो बार कैबिनेट मंत्री रह चुके चंबा निवासी सागर चंद नैयर का सोमवार को राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। रावी व साल नदी के संगम में सैकड़ों नम आंखों ने उन्हें अंतिम विदाई दी। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अध्यक्ष कुलदीप सिंह पठानिया सहित प्रशासन की तरफ से उपायुक्त चंबा एम. सुधा देवी व अन्य प्रशासनिक अधिकारियों, एस.पी. चंबा ने उनकी अंतिम यात्रा में शिरकत की तथा पार्थिव शरीर पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

अधिक पढ़ें ...
हिमाचल प्रदेश में दो बार कैबिनेट मंत्री रह चुके चंबा निवासी सागर चंद नैयर का सोमवार को राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। रावी व साल नदी के संगम में सैकड़ों नम आंखों ने उन्हें अंतिम विदाई दी। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अध्यक्ष कुलदीप सिंह पठानिया सहित प्रशासन की तरफ से उपायुक्त चंबा एम. सुधा देवी व अन्य प्रशासनिक अधिकारियों, एस.पी. चंबा ने उनकी अंतिम यात्रा में शिरकत की तथा पार्थिव शरीर पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

श्‍मशान घाट पर पुलिस जवानों ने हवा में फायर कर उन्हें राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी। उनकी पार्थिव देह को कांग्रेस पार्टी के ध्वज में लपेट कर श्‍मशानघाट तक लाया गया। सागर चंद नैयर के पुत्र नीरज नैयर ने अपने पिता को मुखाग्नि दी।

सागर चंद की अंतिम यात्रा में चंबा नगर के सैकड़ों लोगों ने भाग लिया। सागर चंद नैयर के निधन पर कुछ घंटों के लिए चंबा का बाजार भी बंद रहा तथा व्यापार मंडल ने इस तरह उन्हें श्रद्धांजलि दी।

गौरतलब है कि बीमारी के चलते रविवार को नैयर का घर पर ही निधन हो गया था। वह 88 वर्ष के थे। मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के करीबी माने जाने वाले सागर चंद नैयर मिलनसार व मृदुभाषी थे। वह वर्ष 1982 से 1990 तक वीरभद्र सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे। पहले कायर्काल में वह वन एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री रहे, जबकि दूसरी बार वह प्रदेश के शिक्षा मंत्री रहे।

पूर्व मंत्री के निधन पर पहुंचे प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अध्यक्ष कुलदीप सिंह पठानिया ने कहा कि सागर चंद नैयर के निधन से कांग्रेस पार्टी को काफी क्षति हुई है। उन्होंने अपने कार्यकाल में जहां प्रदेश के उत्थान के लिए कार्य किया। वहीं शिक्षा क्षेत्र में उनके अविस्मरणीय योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता।

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

 

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर