उफनते नाले के किनारे खड़े स्कूल के बच्चे, पानी कम हो तो जाएं स्कूल

बरसात के चलते दूरदराज के पहाड़ी क्षेत्रों में बच्चों को स्कूल जाने में काफी दिक्कत हो रही है. कई जगह नालों पर पुल के नहीं होने की वजह से बच्चों को जान जोखिम में डाल कर नाला पार करना पड़ रहा है. या फिर बच्चों को नाला में पानी के कम होने का इंतजार करना पड़ रहा है.

HEM THAKUR | News18 Himachal Pradesh
Updated: August 2, 2019, 7:20 PM IST
HEM THAKUR | News18 Himachal Pradesh
Updated: August 2, 2019, 7:20 PM IST
लगातार हो रही बरसात के चलते लोगों की मुसीबत बढ़ती जा रही है. जगह-जगह नदी और नाले पूरे उफान पर दिख रहे हैं. दूरदराज के पहाड़ी क्षेत्रों में स्कूल के बच्चों को स्कूल जाने में काफी दिक्कत हो रही है. कई जगह नालों पर पुल के नहीं होने की वजह से बच्चों को जान जोखिम में डाल कर नाला पार करना पड़ रहा है. या फिर बच्चों को नाला में पानी के कम होने के लिए इंतजार करना पड़ रहा है. चंबा जिले के सनवाल पंचायत के अदवांस गांव के सनवाल स्कूल की बात करें तो वहां के स्कूल के बच्चों का नाले के किनारे खड़े हो कर नाले में पानी कम होने के इंतजार करने का वीडियो वायरल हुआ है. वहां नाले पर पुल के नहीं होने की वजह से बच्चों को काफी देर तक नाले के किनारे खड़े होकर पानी सूखने का इंतजार करना पड़ता है. हालांकि बच्चों ने कई बार नाला पार करने की कोशिश की, लेकिन वे नाकामयाब रहे.

बता दें कि बरसात के सीजन में अक्सर इस गांव के बच्चे इस नाले की वजह से स्कूल जाने से वंचित रह जाते हैं. कई बार उन्होंने प्रशासन व ग्राम पंचायत प्रतिनिधियों से इस नाले पर पुल बनाने की गुहार भी
लगाई है, लेकिन अभी तक उनकी इस मांग को पूरी नहीं की गई. ऐसे में इस बरसात में बच्चों को बिना शिक्षा ग्रहण किए यूं ही घर वापस लौट जाना पड़ रहा है.

नाले पर पुल बनवाने की मांग

बारिश की वजह से नाले में पानी बहुत बढ़ जाने के कारण बच्चे स्कूल नहीं जा पाते हैं.


स्कूल के बच्चों ने बताया कि वे पढ़ना चाहते हैं, लेकिन बारिश की वजह से नाले में पानी बहुत बढ़ जाने के कारण वे स्कूल नहीं जा पाते हैं, क्योंकि उनका स्कूल नाले के पार है. ऐसे में उन्हें कई बार बिना शिक्षा ग्रहण किए ही घर वापस आना पड़ता है. ग्रामीणों ने भी अपने बच्चों की शिक्षा को लेकर चिंता जताते हुए कहा कि नाले पर पुल के नहीं होने की वजह से उनके बच्चे काफी परेशान हैं. वे स्कूल नहीं जा पा रहे हैं.
उन्होंने प्रशासन से आग्रह किया है कि जल्द से जल्द इस नाले पर पुल बनाया जाए ताकि उन्हें और उनके बच्चों को किसी तरह की दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़े.
Loading...

पुल बनवाने का उपायुक्त ने दिया आश्वासन

इस बारे में चंबा के उपायुक्त विवेक भाटिया ने बताया कि उनके संज्ञान में ये बात आई है कि एक नाले में पानी ज्यादा होने की वजह से बच्चे स्कूल नहीं जा पा रहे हैं. उन्होंने कहा कि बरसात के समय में बहुत से ऐसे नाले हैं जहां पर पानी बढ़ जाता है और इस तरह की दिक्कत आती है. उन्होंने कहा कि अधिकारियों को इस मामले की रिपोर्ट लेन के लिए कहा गया है और जल्द ही इसका समाधान करने के आदेश भी जारी कर दिए गए हैं. साथ ही उन्होंने बच्चों और उनके अभिभावकों से आग्रह किया है कि वे बरसात में अपनी जान जोखिम में न डालें. नालों में पानी कम होने का इंतजार करें और फिर नाला पार करें.

वहीं शिक्षा विभाग के डिप्टी डायरेक्टर ने कहा कि सनवाल गांव के बच्चों को स्कूल पहुंचने में काफी दिक्कत आ रही है, क्योंकि वहां नाले पर पुल नहीं है. उन्होंने बताया कि इस तरह के बहुत से ऐसे नाले हैं जिन्हें पार करना बच्चों को मुश्किल हो रहा है. उन्होंने भी कहा कि जल्द ही इन समस्याओं का समाधान कर लिया जाएगा.

ये भी पढ़ें - श्रम कानूनों में फेरबदल केविरोध में सड़क पर उतरे मजदूर संगठन

ये भी पढ़ें - घरों की दीवारों पर करंट फैलने से दहशत, गाय की मौत
First published: August 2, 2019, 7:16 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...