सदियों पुरानी परंपरा टूटी: विवाद के बाद 2 घंटे बंद रहे ज्वालामुखी मंदिर के कपाट

Kangra Jawalimukhi Temple: पूरे प्रकरण पर राज्य योजना बोर्ड उपाध्यक्ष एवं ज्वालामुखी के विधायक रमेश ध्वाला ने जांच के आदेश दिए हैं.

News18 Himachal Pradesh
Updated: August 28, 2019, 4:49 PM IST
सदियों पुरानी परंपरा टूटी: विवाद के बाद 2 घंटे बंद रहे ज्वालामुखी मंदिर के कपाट
कांगड़ा का ज्वालामुखी मंदिर.
News18 Himachal Pradesh
Updated: August 28, 2019, 4:49 PM IST
हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा (Kangra) के विश्वप्रसिद्ध शक्तिपीठ ज्वालामुखी मंदिर (Jawalamukhi Temple) के कपाट विवाद की वजह से 2 घंटे बंद रहे. इस दौरान सदियों पुरानी परम्परा टूट गई. दोपहर की आरती, भोग और मंदिर की सफाई के लिए साढ़े 11 बजे से साढ़े 12 बजे तक रोजाना मंदिर के कपाट बंद होते हैं. जबकि बुधवार को मंदिर के कपाट, 11:30 बजे से 01:30 बजे तक बंद रहे.

ये है मामला
हुआ यूं कि एक सफाई कर्मी छुट्टी पर था. उक्त कर्मचारी मणिमहेश यात्रा (Manimahesh Yatra) पर गया था. इस दौरान दूसरे कर्मचारी ने सफाई करने से मना कर दिया तो पुजारियों ने खुद मंदिर में सफाई की और बाद में माता भोग और आरती की. दूसरे कर्मचारी ने मंदिर के गर्भगृह में सफाई करने से मना कर दिया और उसका तर्क था कि उन्हें किसी का भी आदेश नहीं मिला है.

शहनाई वादक भी हुए थे गायब

बीते 12 अगस्त ज्वालामुखी मंदिर में दोपहर की आरती के दौरान शहनाई वादकों के ड्यूटी से गायब रहने पर मंदिर अधिकारी तहसीलदार बीडी शर्मा ने नाराजगी जताते हुए मंदिर कार्यालय को आदेश दिए हैं कि शहनाई वादकों की अबसेंट लगाई जाए. इस मामले को अनुशासनहीनता के दायरे में लाकर शहनाई वादकों के खिलाफ नोटिस निकाले जाएं. साथ ही नोटिस में उनसे जवाब मांगा जाए कि क्यों वे अपनी ड्यूटी से गायब रहे. उसके गायब रहने से माता की सदियों से हो रही आरती में बाधा पड़ी है. सदियों से चली आ रही परंपरा को तोड़ा गया है.

जांच के आदेश
मंदिर न्यास सदस्य शैलेश शर्मा ने दुख व्यक्त करते हुए कहा कि मंदिर के सभी कर्मचारियों को अपनी ड्यूटी ईमानदारी से करनी चाहिए. मंदिर अधिकारी ने सुरक्षा प्रभारी रवि दत्त भारद्वाज को मौके पर भेजा तो वहां पर कोई भी शहनाई वादक नहीं था, केवल मात्र नगाड़़ा वादक ही था. मंदिर अधिकारी तहसीलदार बीडी शर्मा ने कहा कि इस मामले में कड़ा संज्ञान लिया गया हैय अनुपस्थित शहनाई वादकों का एक दिन का वेतन काटा जाएगा, वहीं उनको नोटिस देकर जवाब भी मांगा जाएगा. यदि उनके जवाब से मंदिर न्यास संतुष्ट न हुआ, तो कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी. इस पूरे प्रकरण पर राज्य योजना बोर्ड उपाध्यक्ष एवं ज्वालामुखी के विधायक रमेश ध्वाला ने जांच के आदेश दिए हैं.
Loading...

ये भी पढ़ें: ‘गलत HIV रिपोर्ट’ के बाद सदमे से महिला की मौत की होगी जांच

8 से 14 अक्तूबर तक मनाया जाएगा अंतर्राष्ट्रीय कुल्लू दशहरा

हिमाचल के कसौली एयरफोर्स स्टेशन में जवान ने की खुदकुशी

4 दिन से लापता नाबालिग मिली, रेप के आरोप में पिता गिरफ्तार

OMG!टूटी सड़क पर पाइपों के जरिये गुजारी कार, वायरल हुआ VIDEO

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए धर्मशाला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 28, 2019, 4:36 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...