अपना शहर चुनें

States

सीयू के मुद्दे पर अनुराग ठाकुर का बयान- अब देरी बर्दाश्त नहीं, संभल जाए अफसरशाही

केन्द्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने सेंट्रल यूनिवर्सिटी के मुद्दे पर अपनी नाराजगी जताई. (फाइल फोटो)
केन्द्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने सेंट्रल यूनिवर्सिटी के मुद्दे पर अपनी नाराजगी जताई. (फाइल फोटो)

अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) ने भरी सभा में सीएम (Chief Minister) के सामने मंच पर यह कह दिया कि ‘मैं रोटी को चोची नहीं बोलता’.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 18, 2020, 8:02 AM IST
  • Share this:
धर्मशाला. कांगड़ा के देहरा में सीएम की जनसभा में सांसद व केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) ने सीएम ठाकुर को इशारों में नसीहत दी. अफसरशाही के कंधे पर बंदूक रखकर खूब निशाने भी दागे. आजकल अनुराग ठाकुर सेंट्रल यूनिवर्सिटी (Central University) के मुद्दे पर आर पार की लड़ाई के मूड में हैं. अनुराग ठाकुर ने भरी सभा में सीएम के सामने मंच पर यह कह दिया कि ‘मैं रोटी को चोची नहीं बोलता’. तो वहीं सीएम जयराम ठाकुर ने भी मंच से यह कह दिया कि अनुराग जी कुछ बातें मंच पर कहने के लिए नहीं होती. नहीं तो यह मीडिया वाले अपने अपने तरीके से छापते हैं. यहीं नहीं सीएम ने सीयू मुद्दे पर अपनी सफाई भी पेश की ओर कहा कि यह सेंट्रल यूनिवर्सिटी मेरे समय की नहीं पहले की है, इसे मुझसे जोड़ा न जाए.

बता दें कि केंद्रीय राज्य वित्तमंत्री अनुराग ठाकुर ने जसवां परागपुर विस क्षेत्र से हिमाचल प्रदेश के उद्योग एवं परिवहन मंत्री बिक्रम ठाकुर के करोड़ों रुपये के शिलान्यास उद्धघाटन कार्यक्रम के अवसर पर कोटला बेहड़ में आए हुए थे. सीएम जयराम ठाकुर ने भी कार्यक्रम में मुख्यातिथि के रूप में शिरकत की थी. अनुराग ठाकुर ने देहरा के बहुचर्चित एवं ज्वलंत सीयू के मुद्दे पर विरोधियों को नसीहत भी दी और सीयू के मुद्दे पर अधिकारियों की मंच पर सीएम के सामने खूब क्लॉस लगाई.

कांग्रेस पर साधा निशाना



इस मौके पर ठाकुर ने कांग्रेस के केंद्रीय नेतृत्व पर बरसते हुए कहा कि पंडित नेहरू का ‘बीजा’ मौजूदा दौर में देश भुगत रहा है. यहां यह भी बता दें कि 20 दिसम्बर को प्रदेश सरकार का तीन वर्ष का कार्यकाल भी पूरा हो रहा है, साथ ही भाजपा के शीर्ष नेतृत्व ने अनुराग ठाकुर का जे एंड के  का चुनाव प्रभारी नियुक्त करना और उससे ठीक पहले जसवां परागपुर में करोड़ों का शिलान्यास करना, साथ ही केंद्रीय राज्य वित्त मंत्री अनुराग ठाकुर का सीएम के साथ एक साथ मंच पर होना राजनीति गलियारों में कई प्रश्न खड़े कर रहा है.  विरोधी पक्ष इसे चुनावी स्टंट भी मान रह है.
सुनने के मूड़ में नहीं सरकार

लिहाजा सीयू का देहरा में निर्माण कार्य को अफसरशाही को दोषी ठहराना कहीं न कहीं अफसरशाही के लिए भी खतरे की घण्टी है. या यूं कहा जा सकता है कि सीयू के मुद्दे पर अब केंद्रीय भाजपा सरकार और हिमाचल सरकार न सुनने के मूड़ में नहीं है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज