Home /News /himachal-pradesh /

रज्जू रोपवे के बनने से बढ़ जाएगी कांगड़ा की खूबसूरती, पूर्व CM शांता कुमार ने बताई ये वजह

रज्जू रोपवे के बनने से बढ़ जाएगी कांगड़ा की खूबसूरती, पूर्व CM शांता कुमार ने बताई ये वजह

पूर्व सीएम शांता कुमार ने कहा कि करीब 13.5 किलोमीटर लंबे इस रोपवे पर 605 करोड़ रुपये खर्च होंगे और इस रोपवे के बनने से क्षेत्र में रोजगार के नए अवसर पैदा होंगे.

पूर्व सीएम शांता कुमार ने कहा कि करीब 13.5 किलोमीटर लंबे इस रोपवे पर 605 करोड़ रुपये खर्च होंगे और इस रोपवे के बनने से क्षेत्र में रोजगार के नए अवसर पैदा होंगे.

Himachal Development: पूर्व सीएम शांता कुमार ने कहा कि जो संरक्षित किया गया है वह आने वाले समय में राज्य के लोगों के लिए एक बड़ी सुविधा के रूप में भी आएगा. शांता कुमार ने कहा कि करीब 13.5 किलोमीटर लंबे इस रोपवे पर 605 करोड़ रुपये खर्च होंगे और इस रोपवे के बनने से क्षेत्र में रोजगार के नए अवसर पैदा होंगे. उन्होंने कहा कि पर्यटन उन क्षेत्रों में से एक है जहां अधिकतम रोजगार और स्वरोजगार के अवसर मौजूद हैं. उन्होंने कहा कि इन रोपवे की स्थापना से क्षेत्र में बेरोजगारी की समस्या पर भी अंकुश लगेगा.

अधिक पढ़ें ...

धर्मशाला. हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता शांता कुमार (Shanta Kumar) ने कहा कि केंद्रीय भूतल परिवहन मंत्रालय द्वारा हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के लिए लगभग 115 करोड़ रुपये के रोपवे बुनियादी ढांचे (Rajju Ropeway Project) को मंजूरी दी गई है, इनमें पालमपुर का लंबे समय से लंबित रोपवे शामिल है.

शांता कुमार ने बताया कि इस मंजूरी में 13.50 किलोमीटर लंबी रज्जू रोपवे परियोजना भी शामिल है. उन्होंने कहा कि इन रोपवे के निर्माण से हिमाचल में पर्यटन नई ऊंचाइयों को छुएगा और रोजगार के भी अवसर पैदा होंगे. इसके अलावा, क्षेत्र का सर्वांगीण विकास होगा, शांता कुमार ने कहा कि धौलाधार की सुंदरता लंबे समय से पर्यटकों को आकर्षित कर रही है.

himachal news, Kangra Valley, himachal pradesh, shanta kumar, himachal news

शांता कुमार ने उम्मीद जताई कि इस परियोजना के पूरी होने से कांगड़ा की खूबसूरती बढ़ जाएगी.

1992 से लंबित है परियोजना 

शांता कुमार ने कहा कि अयोध्या में बाबरी ढांचे के ढहने के बाद दुर्भाग्य से 1992 में उनकी सरकार भंग कर दी गई थी, जिसके कारण वहां की परियोजना उस समय पूरी नहीं हो सकी थी. उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित करने के लिए कि रोपवे धौलाधार तक पहुंचे, उन्होंने केंद्रीय भूतल परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से अनुरोध किया था, उन्होंने कहा कि बाद में एक टीम को जगह का सर्वेक्षण करने के लिए भेजा गया था.

हिमाचल को रोपवे के रूप में मिला बड़ा तोहफा

साल 2019 में मैकेंजी ने इस संबंध में रिपोर्ट केंद्रीय भूतल परिवहन मंत्रालय को भेजी थी. शांता कुमार ने बताया कि इसके बाद जुलाई 2021 में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के निर्देशानुसार इस प्रोजेक्ट को लेकर उच्चाधिकारियों की टीम उनसे मिली थी. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हमेशा हिमाचल से जुड़े रहे हैं और उन्होंने और नितिन गडकरी ने इन रोपवे के रूप में हिमाचल को एक बड़ा तोहफा दिया है.

13.5 KM लंबे रोपवे पर 605 करोड़ रुपये खर्च होंगे 

पूर्व सीएम शांता कुमार ने कहा कि जो संरक्षित किया गया है वह आने वाले समय में राज्य के लोगों के लिए एक बड़ी सुविधा के रूप में भी आएगा. शांता कुमार ने कहा कि करीब 13.5 किलोमीटर लंबे इस रोपवे पर 605 करोड़ रुपये खर्च होंगे और इस रोपवे के बनने से क्षेत्र में रोजगार के नए अवसर पैदा होंगे. उन्होंने कहा कि पर्यटन उन क्षेत्रों में से एक है जहां अधिकतम रोजगार और स्वरोजगार के अवसर मौजूद हैं.

उन्होंने कहा कि इन रोपवे की स्थापना से क्षेत्र में बेरोजगारी की समस्या पर भी अंकुश लगेगा. शांता कुमार ने कहा कि पालमपुर में 13.5 किलोमीटर लंबे रोपवे के निर्माण से पहाड़ी शहर पालमपुर भारत के पर्यटन मानचित्र में नंबर वन होगा.

Tags: Himachal news, Himachal pradesh, Kangra Valley, Shanta kumar

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर