कांगड़ा प्रशासन का कड़ा फैसला: क्वारंटाइन तोड़ा तो 50 हजार जुर्माना, पैसे न होने पर बिकेगी प्रॉपर्टी

कांगड़ा में कोरोना वायरस के मामले.
कांगड़ा में कोरोना वायरस के मामले.

कांगड़ा में कोरोना वायरस के 16 मामले रिपोर्ट हुए हैं. सूबे में ऊना के बाद सबसे अधिक केस कांगड़ा में हुए हैं. यही पर कोरोना वायरस से प्रदेश की पहली मौत भी हुई है. फिलहाल, कांगड़ा में कोरोना का कहर बढ़ रहा है. यहां 12 मई को एक दिन में पांच मामले भी रिपोर्ट हुए थे.

  • Share this:
धर्मशाला. हिमाचल प्रदेश के जिला कांगड़ा (Kangra) के डीसी ने कोरोना वायरस के चलते क्वारंटीन तोड़ने वाली पर सख्ती से पेश आने के आदेश दिए हैं. डीसी राकेश प्रजापति ने कहा कि होम क्वारंटाइन (Quarantine) की उल्लंघना करने वाले नागरिकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के साथ-साथ पचास हजार के जुर्माने (Fine) का प्रावधान भी किया गया है. इस बाबत आदेश पारित कर दिए गए हैं.

डीसी के आदेश के अनुसार, क्वारंटीन यदि कोई ऐसा नहीं कर पाता है, तो उसकी जमीन की भी कुर्की की जा सकती है. बाहरी राज्यों या क्षेत्रों से आए हुए नागरिकों को निर्देश दिए गए है कि 28 दिनों तक अपने घरों में रहें तथा सामाजिक दूरी की पूरी अनुपालना सुनिश्चित करें. इन निर्देशों की अवहेलना करने वालों के खिलाफ  एफआईआर दर्ज करवाने का प्रावधान भी किया गया है.

यह बोले डीसी
डीसी ने कहा कि बाहरी राज्यों के रेड जोन तथा हिमाचल के बद्दी और बरोटीबाला से आने वाले सभी नागरिकों को संस्थागत क्वारंटाइन किया जाएगा. इसके साथ ही ग्रीन तथा ऑरेंज जोन से आने वाले उन लोगों को संस्थागत क्वारंटाइन में रखा जाएगा, जिनमें फ्लू के लक्षण होंगे. उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि सीमांत नाकों पर बाहर से आने वाले सभी नागरिकों का मेडिकल चैकअप किया जा रहा है.
कोरोना के निशाने पर कांगड़ा


बता दें कि कांगड़ा में कोरोना वायरस के 16 मामले रिपोर्ट हुए हैं. सूबे में ऊना के बाद सबसे अधिक केस कांगड़ा में हुए हैं. यही पर कोरोना वायरस से प्रदेश की पहली मौत भी हुई है. फिलहाल, कांगड़ा में कोरोना का कहर बढ़ रहा है. यहां 12 मई को एक दिन में पांच मामले भी रिपोर्ट हुए थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज