होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /

दिल्ली लाया गया शहीद विवेक का पार्थिव शरीर, पत्नी से आखिरी बातचीत में कहा था- चेन्नई जा रहा हूं

दिल्ली लाया गया शहीद विवेक का पार्थिव शरीर, पत्नी से आखिरी बातचीत में कहा था- चेन्नई जा रहा हूं

हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले के पैरा कमांडो और लांस नायक विवेक कुमार का पार्थिव शरीर गुरुवार को दिल्ली लाया गया है.

हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले के पैरा कमांडो और लांस नायक विवेक कुमार का पार्थिव शरीर गुरुवार को दिल्ली लाया गया है.

CDS Bipin Rawat Helicopter Crash: विवेक कुमार पहले जैक राइफल में थे और बाद में पैरा कमांडो में सेवाएं दे रहे थे. विवेक की ड्यूटी VIP की सुरक्षा में लगी थी. उनकी बीते वर्ष 2020 में ही शादी हुई थी और उनका छह माह का बेटा है.

धर्मशाला. हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा (Kangra) जिले के पैरा कमांडो और लांस नायक विवेक कुमार का पार्थिव शरीर गुरुवार को दिल्ली लाया गया है. यहां पर पीएम नरेंद्र मोदी और रक्षामंत्री सहित कई बड़े नेताओं ने तमिलनाडु हेलिकॉप्टर क्रैश में शहीद हुए सीडीएस बिपिन सिंह रावत (CDS Bipin Singh Rawat) और दूसरे फौजी जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की है. वहीं, विवेक का पार्थिव शरीर शुक्रवार शाम को उनका शव घर पहुंचने की उम्मीद है. सेना के अधिकारियों की ओर से गुरुवार को उनके परिवार के डीएनए सैंपल लेकर दिल्ली भेजे गए हैं. बता दें कि विवेक कुमार बिपिन सिंह रावत के पीएसओ थे और कांगड़ा के जयसिंहपुर के कोसरी ठेहडू के रहने वाले थे.

शहीद की पत्नी प्रियंका ने बताया,’विवेक से फोन पर अंतिम बार बातचीत में उन्होंने कहा कि था कि मैं चेन्नई जा रहा हूं. उसके बाद पति की शहादत की खबर मिली.’ वहीं, शहीद विवेक कुमार के पिता का कहना है कि उनसे विवेक की कोई बात नहीं हुई, जब वह छुट्टी आया था, उस वक्त कि उन्होंने अपने घर पर बहुत सारी बातें की थी. पिता ने कहा कि हमारे घर में विवेक कुमार इकलौता काम आने वाला था और अब उसके बिना कोई दूसरा सहारा नहीं है. दूसरा बेटा है लेकिन बेरोजगार है. उन्होंने सरकार से गुहार लगाई है कि उनके छोटे बेटे को सरकारी नौकरी दी जाए.

पीएम नरेंद्र मोदी, रक्षामंत्री सहित कई बड़े नेताओं ने तमिलनाड़ू हैलीकॉप्टर क्रैश में शहीद हुए सीडीएस बिपिन सिंह रावत और दूसरे फौजी जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की है.

डेढ़ साल में उजड़ गया सुहाग

विवेक रमेश चंद के सबसे बड़े बेटे थे. विवेक का छोटा भाई बैजनाथ में बेकरी में काम करता है और बहन की शादी हो चुकी है. विवेक के पिता खेतीबाड़ी करते हैं व माता आशा देवी गृहणी हैं. विवेक के ताया सीताराम ने बताया उन्‍हें खबरों के माध्‍यम से ही सूचना मिली थी. विवेक पहले जैक राइफल में थे और बाद में पैरा कमांडो में सेवाएं दे रहे थे. विवेक की ड्यूटी VIP की सुरक्षा में लगी थी. विवेक की बीते वर्ष 2020 में ही शादी हुई थी और उनका छह माह का बेटा है. शादी के डेढ़ साल बाद ही उसका सुहाग उजड़ गया तो छह माह के मासूम से पिता का साया उठ गया.

Tags: Bipin Rawat Helicopter Crash, GEN Bipin Rawat Passes Away, Himachal Police, Himachal pradesh, Himachal Pradesh Lok Sabha Elections 2019, Indian Army news, Kangra district

अगली ख़बर