Kangra: कोविड काल में बिना वीजा के हिमाचल पहुंचा चीनी नागरिक दोषी करार, 10 माह की सजा सुनाई

8 जुलाई 2020 को इस चीन नागरिक चीनी नागरिक लियू शियोडन कांगड़ा की सीमा में दाखिल हुआ था.

8 जुलाई 2020 को इस चीन नागरिक चीनी नागरिक लियू शियोडन कांगड़ा की सीमा में दाखिल हुआ था.

Chinese National convicted for illegal entrance in Himachal: बीते साल 8 जुलाई 2020 को इस चीन नागरिक चीनी नागरिक लियू शियोडन कांगड़ा की सीमा में दाखिल हुआ था. क्योंकि कांगड़ा के धर्मशाला में दलाई लामा का निवास है. ऐसे में मामले को लेकर सुरक्षा एंजेसियां भी सजग हो गई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 28, 2021, 3:32 PM IST
  • Share this:
 ब्रजेश्वर साकी

देहरा (कांगड़ा). हिमाचल के कांगड़ा (Kangra) जिले में देहरा से गिरफ्तार चीनी नागरिक (Chinese National) को भारतीय कानून की उल्लंघना और अवैध तरीके से दाखिल होने पर कोर्ट ने दोषी करार दिया है. कोर्ट ने चीनी नागरिक लियू शियोडन को दस महीने की सजा (Sentence) और 11 हजार रुपये जुर्माना ठोका है. बुधवार को एडिशनल जुडिशल कोर्ट देहरा की कोर्ट में मामले को लेकर सुनवाई हुई. इस दौरान जज शीतल शर्मा ने यह अहम फैसला सुनाया.

गौरतलब है कि बीते साल 8 जुलाई 2020 को इस चीन नागरिक चीनी नागरिक लियू शियोडन कांगड़ा की सीमा में दाखिल हुआ था. क्योंकि कांगड़ा के धर्मशाला में दलाई लामा का निवास है. ऐसे में मामले को लेकर सुरक्षा एंजेसियां भी सजग हो गई थी. अहम बात यह है कि उस दौरान विदेशी फ्लाइट भी बंद थी और हिमाचल में बिना कोविड रिपोर्ट के टूरिस्ट की एंट्री भी बैन थी. बावजूद इसके चीनी नागरिक हिमाचल में दाखिल होना चाह रहा था. लेकिन नाके पर वह पकड़ा गया था.

एडीए रवि कुमार ने कहा कि आज फाइनल हेयरिंग के दौरान आरोपी चाइनीज़ टूरिस्ट लियू सियोडेन को माननीय एसीजीएम शीतल शर्मा की कोर्ट में पेश किया गया. सरकारी वकील की दलीलों पर दोषी चाइनीस टूरिस्ट को 10 माह कारावास और ₹11000 की फाइन की सजा सुनाई है. सजा पूरी होने के बाद आरोपी चाइनीस टूरिस्ट को चाइनीज दूतावास के हवाले कर दिया जाएगा.
देहरा में बुधवार को कोर्ट के बाहर चीनी नागरिक.


क्या खुलासे हुए थे

जांच में पता चला था कि यह चीनी नागरिक पीपल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) में सेवाएं दे चुका है. जिले की सीमा पर चीनी नागरिक लियू शियोडन को बिना दस्तावेज पकड़ा था. यह भी जानकारी मिली थी कि वह नेपाल के रास्ते से अवैध रूप से भारत में आया था. उसके पासपोर्ट पर इमिग्रेशन की मुहर नहीं थी. चूंकि, वह गैरकानूनी तरीके से दाखिल हुआ था, इसलिए फॉरेन एक्ट के उल्लंघन के आरोप में उसके खिलाफ कार्रवाई की गई थी.



चीन के निशाने पर रहे हैं दलाईलामा

तिब्बती धर्मगुरु दलाईलामा हमेशा ही चीन के निशाने पर रहे हैं. चीन के खिलाफ दलाईलामा देश दुनिया में मुखर रहे हैं. हिमाचल में पहले भी कई बार चीनी नागरिक पकड़े गए हैं। 2019 में चार चीनी नागरिकों को हिमाचल पुलिस ने बद्दी में पकड़ा था। ये चारों पर्यटन वीजा पर देश में दाखिल हुए और हिमाचल में छिप गए. फरवरी 2020 में भी पांच चीनी नागरिक बिना स्थानीय प्रशासन को सूचना दिए शिमला में होम स्टे लेकर रहते पकड़े गए थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज