COVID-19: जब ग्रामीणों ने मोड़ा मुख तो SDM-DSP ने कोरोना संक्रमित के शव को दिया कंधा

महिला के घर पर पहुंचे एसडीएम और डीएसपी.

महिला के घर पर पहुंचे एसडीएम और डीएसपी.

Corona Death in Kangra: एसडीएम और डीएसपी ने स्वयं महिला के घर जाकर मृतक शरीर को अंतिम संस्कार के लिए ले जाने की व्यवस्था की मंदिर न्यास ज्वालामुखी द्वारा महिला के घर को पूर्ण रूप से सेनिटाईज किया गया.

  • Share this:
ब्रजेश्वर साकी

देहरा (कांग़ड़ा). अक्सर फिल्मों में हीरो देखे होंगे, लेकिन कोरोना के इस नकारात्मक दौर में आपको हम रियल हीरो के बारे में बताएंगे. यह कोई ओर नहीं हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले के देहरा के एसडीएम (SDM) और डीएसपी (DSP) हैं. धनबीर ठाकुर के पास ज्वालामुखी उपमंडल का एडिशनल चार्ज भी है. यहां एक महिला की कोविड-19 पॉजिटिव आने के बाद मौत हो गई, लेकिन अंतिम संस्कार के वक्त किसी ने भी मृतक महिला की अर्थी को कंधा नहीं दिया तो यहां एसडीएम धनबीर ठाकुर ने कंधा दिया. उनका साथ यहां के DSP तिलक राज ने भी दिया. अब हर कोई SDM को रियल हीरो कह रहा है.

यह था मामला

ज्वालामुखी उपमंडल में आज वार्ड नं. एक में एक कोरोना संक्रमित महिला की दुखद मृत्यु होने के पश्चात कोई अंतिम संसकार को आगे नहीं आ रहा था. महिला का पूरा परिवार भी स्वयं संक्रमित होने की वजह से अंतिम संस्कार करने में असमर्थ था. प्रशासन तक यह सूचना पहुंचते ही एसडीएम ज्वालामुखी धनबीर ठाकुर एवं डीएसपी ज्वालामुखी तिलक राज ने स्वयं जाकर मोर्चा संभाला. एसडीएम और डीएसपी ने स्वयं महिला के घर जाकर मृतक शरीर को अंतिम संस्कार के लिए ले जाने की व्यवस्था की मंदिर न्यास ज्वालामुखी द्वारा महिला के घर को पूर्ण रूप से सेनिटाईज किया गया.
क्या कहते हैं एसडीएम

एसडीएम धनबीर ठाकुर ने कहा कि यह संकट की घड़ी आवश्य है, लेकिन समाज आपसी सहयोग बनाए रखे. उन्होंने कहा कि ऐसे समय में लोग पूर्ण सावाधानी बरतें और हिम्मत न हारें. कोविड नियमों का पालन करते हुए एक-दूसरे के सहयोग और उत्साह बड़ाने के लिए आगे आएं. उन्होंने कहा कि यह समय भी निकल जाएगा, इसलिए लोगों को निराश एवं निरुत्साहित होने की आवश्यकता नहीं है. उन्होंने कहा कि लोग कोविड नियमों का पालन पूरी निष्ठा से करें, प्रशासन सदैव उनके साथ खड़ा रहेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज