• Home
  • »
  • News
  • »
  • himachal-pradesh
  • »
  • हिमाचलः CM जयराम के सामने फूटा BJP सांसद का दर्द, नगर निगम चुनाव से पहले सामने आई पार्टी की गुटबाजी!

हिमाचलः CM जयराम के सामने फूटा BJP सांसद का दर्द, नगर निगम चुनाव से पहले सामने आई पार्टी की गुटबाजी!

सांसद ने धर्मशाला क्षेत्र में पिछले कई माह से चल रही पार्टी की गतिविधियों और बैठकों में सूचना न देने के आरोप लगाते हुए अपनी नाराजगी जताई.

सांसद ने धर्मशाला क्षेत्र में पिछले कई माह से चल रही पार्टी की गतिविधियों और बैठकों में सूचना न देने के आरोप लगाते हुए अपनी नाराजगी जताई.

हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी माने जाने वाले धर्मशाला में बीजेपी के वरिष्ठ सांसद किशन कपूर ने पार्टी की बैठक के दौरान मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के सामने ही अपनी अनदेखी का लगाया आरोप. सीएम ने सांसद को मनाया और पदाधिकारियों को वरिष्ठ नेताओं से सीख लेने की दी नसीहत.

  • Share this:
धर्मशाला. मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के कांगड़ा प्रवास के दौरान धर्मशाला में हुई एक बैठक में कई दिनों से चुप्पी साधे बैठे सांसद किशन कपूर का दर्द आखिर छलक पड़ा. अपनी अनदेखी से नाराज कपूर ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के सामने अपनी नाराजगी जताते हुए बैठकों व कार्यक्रमों की सूचना नहीं दिए जाने का आरोप लगाया. इस मामले को मुख्यमंत्री ने भी संज्ञान में लिया है. उन्होंने वरिष्ठ नेताओं को पार्टी में महत्व देने और उनके अनुभव का लाभ लेने की नसीहत दी. बैठक के बाद सीएम, सांसद को बाकायदा अपने साथ ही हेलिकाप्टर में फतेहपुर ले गए. सियासी जानकार नगर निगम चुनावों से ठीक पहले भाजपा की इस घटना को पार्टी के भीतर की गुटबाजी मान रहे हैं.

सांसद ने धर्मशाला क्षेत्र में पिछले कई माह से चल रही पार्टी की गतिविधियों और बैठकों में सूचना न देने के आरोप लगाते हुए अपनी नाराजगी जताई. गौरतलब है कि सांसद किशन कपूर इससे पूर्व धर्मशाला विधानसभा क्षेत्र का लंबे समय तक प्रतिनिधित्व करते रहे हैं. सांसद बनने के बाद उन्हें कुछ मसलों से दूर रखा जा रहा था, जिससे कपूर खासे नाराज दिखे. मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के साथ उन्होंने फतेहपुर विधानसभा क्षेत्र में होने वाले उद्घाटन और शिलान्यास कार्यक्रमों में शिरकत करनी थी. नगर निगम चुनावों के लिए भी सर्किट हाउस में शनिवार को सुबह ही पहुंचे थे.

कार्यकर्ताओं के बीच चर्चा
पार्टी की बैठक के दौरान मुख्यमंत्री के सामने एक वरिष्ठ सांसद के नाराज होने और अपनी व्यथा सुनाने से बीजेपी के आम कार्यकर्ता सकते में हैं. खासकर प्रदेश नगर निगम के चुनावों से पहले भाजपा के अंदरूनी मतभेदों को लेकर पार्टी कार्यकर्ताओं के बीच चर्चा शुरू हो गई है. धर्मशाला में भाजपा दो गुटों में बंटी हुई दिख रही है. सियासी जानकारों का मानना है कि पार्टी व संगठन ने इस डैमेज को कंट्रोल नहीं किया तो इसका खामियाजा नगर निगम चुनावों में ही नहीं,  बल्कि आने वाले समय में भी भुगतना पड़ सकता है.  सत्ताधारी दल के लिए प्रदेश की दूसरी राजधानी धर्मशाला में ऐसी बातें किसी बड़ी चुनौती से कम नहीं हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज