लाइव टीवी

कांगड़ा के टांडा मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर ने पहले जड़ा, फिर खाया थप्पड़
Dharamsala News in Hindi

Bichitar Sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: February 20, 2020, 5:14 PM IST
कांगड़ा के टांडा मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर ने पहले जड़ा, फिर खाया थप्पड़
कांगड़ा का टांडा मेडिकल कॉलेज.

टांडा के एमएस डॉ सुरेंद्र सिंह ने बताया कि उन्होंने सुरक्षा कर्मी को बुलाकर पूरी जानकारी ली तथा मामले की छानबीन करने के आदेश दिए हैं.

  • Share this:
धर्मशाला. हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले में डॉक्टर और मरीज के तीमारदार में थप्पड़बाजी का मामला सामने आया है. हालांकि, मामले की शिकायत पुलिस को नहीं दी गई है.दरअसल मामला डॉ. राजेंद्र प्रसाद मेडिकल कॉलेज टांडा (Tanda Medical College) का है. यहां एकाएक पुरुष वार्ड थप्पड़ों की आवाज से गूंज उठा. ऑर्थो विभाग के पुरुष वार्ड में यह थप्पड़बाजी देखने को मिली. बुधवार देर शाम की यह घटना है.

जानकारी के अनुसार, देहरा से 70 वर्षीय अमी चंद अपना इलाज करवाने आया था. उन्हें से ऑर्थो विभाग के बेड नंबर-9 मिला था. एक दुर्घटना के कारण उसकी टांग व गर्दन में चोटें आई थी इसके चलते उसका मंगलवार को दूसरा ऑपरेशन किया गया था. बुधवार को पीजी डॉक्टर (Doctor) उसकी मरहमपट्टी कर रहा था. इस दौरान रोगी को दर्द होने पर वह डॉक्टर के हाथ को बार-बार पीछे कर रहा था. इससे परेशान डॉक्टर ने उसको थप्पड़ (Slap) जड़ दिया.

बेटे से नहीं हुआ बर्दाश्त
इसी दौरान वहीं साथ खड़े मरीज का बेटा यह बात बर्दाश्त नहीं कर सका और उसने डॉक्टर को भी थप्पड़ जड़ दिया. इसके बाद डॉक्टर ने भी रोगी के बेटे को थप्पड़ मार दिया. डॉक्टर के साथ रोगी की पट्टी करने में मदद कर रहा वार्ड ब्वाय रोगी के तीमारदारों से उलझ पड़ा. ऐसे में वहां का माहौल तनावपूर्ण हो गया. इसके चलते सुरक्षा कर्मी ने अन्य वार्डों से सुरक्षा कर्मी बुलाए और मामले को शांत किया. रोगी के साथ वाले बेड के मरीजों और तीमारदारों ने बताया कि डॉक्टर ने रोगी और तीमारदार व डॉक्टर ने एक-दूसरे को थप्पड़ जड़ दिए.उनका कहना है कि जिस तरह रोगी के लिए डॉक्टर भगवान होता है, उसी तरह डॉक्टर को भी रोगी के इलाज में ऐसा ही व्यवहार करना चाहिए.



मामले की छानबीन के आदेश
इस संबंध में टांडा के एमएस डॉ सुरेंद्र सिंह ने बताया कि उन्होंने सुरक्षा कर्मी को बुलाकर पूरी जानकारी ली तथा मामले की छानबीन करने के आदेश दिए हैं. इसी प्रकार ऑर्थो विभाग के एचओडी एवं कॉलेज के प्रधान डॉ भानु अवस्थी से बात की तो उन्होंने बताया कि उन्हें इस बात की कोई भी जानकारी नहीं है.

ये भी पढ़ें-‘सस्ती शराब’ पर भारी हंगामा: युकां ने हाथों में खाली बोतलें लेकर जताया विरोध

हिमाचल सरकार बोली- टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए घटाए शराब के दाम

PubG खेलते-खेलते हिमाचल से महाराष्ट्र पहुंचा नाबालिग, पुलिस ने ऐसे की तलाश

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए धर्मशाला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 20, 2020, 5:14 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर