Home /News /himachal-pradesh /

हिमाचल में फर्जी डिग्रियों के मामले पर पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार ने जाहिर की पीड़ा, उठाया सवाल

हिमाचल में फर्जी डिग्रियों के मामले पर पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार ने जाहिर की पीड़ा, उठाया सवाल

शांता कुमार ने अपनी ही सरकार पर उठाए सवाल

शांता कुमार ने अपनी ही सरकार पर उठाए सवाल

Himachal Fake Degree Case: शांता कुमा ने कहा कि आजकल पैसों के बल पर कुछ भी हो जा रहा है. शिक्षा के बिना संस्कार कहां से लाओगे, सोने से लदा हुआ गधा आज कहीं भी पहुंच जा रहा है

कांगड़ा. पूर्व मुख्यमंत्री-केंद्रीय मंत्री व भाजपा के वरिष्ठ राष्ट्रीय नेता शांता कुमार (Shanta Kumar) ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान हिमाचल में फर्जी डिग्री मामले (Fake Degree Case) पर हैरत जताई. उन्होंने कहा कि ये हिमाचल के पाक पवित्र माथे पर कलंक का काला टीका है जिसे धो पाना बहुत मुश्किल है. उन्होंने इस बात की भी हैरत जताई कि शिक्षा के क्षेत्र में इतना बड़ा फर्जीवाड़ा हो गया मगर अब तक सरकार कोई उचित कार्रवाई नहीं कर पाई, इससे बड़ी विड़म्बना और क्या हो सकती है.

शांता कुमार ने कहा कि इस बाबत उन्होंने प्रदेश सरकार को भी लिख दिया है कि जल्द से जल्द इस मामले की उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिये और दोषियों के ख़िलाफ़ सख्त कार्रवाई भी होनी चाहिये. साथ ही उन्होंने सीबीआई और पुलिस को भी इस मामले में अपनी जांच को और तेज़ करने की अपील की.

पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार ने कहा कि हैरत इस बात की है कि जब प्रदेश में इस तरह का इतना बड़ा शैक्षणिक स्तर पर फर्जीवाड़ा हो रहा था तो उस वक्त की सीआईडी क्या कर रही थी. सवाल तो उस वक्त की सीआईडी पर भी उठता है, मगर हैरत है कि जब वो विपक्ष में होते थे तो सीआईजी उनके कार्यालय के नीचे ही बैठी रहती थी और हर आवाजाही करने वालों पर नज़र रखती थी.

विपक्ष की आंखें ही बंद थी

शांताा कुमार ने कहा मगर जब इस तरह से लाखों करोड़ों रुपयों का फर्जीवाड़ा हो रहा था तो विपक्ष की आंखें ही बंद थी. उन्होंने कहा कि आजकल पैसों के बल पर कुछ भी हो जा रहा है. शिक्षा के बिना संस्कार कहां से लाओगे, सोने से लदा हुआ गधा आज कहीं भी पहुंच जा रहा है, ये समाज के लिये बेहद नुकसानदायक है.

Tags: Himachal Politics, Shanta kumar

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर