ग्लोबल इन्वेस्टर मीट : सीएम ने कहा- 93 हजार करोड़ रुपये की इन्वेस्टमेंट की उम्मीद
Dharamsala News in Hindi

ग्लोबल इन्वेस्टर मीट : सीएम ने कहा- 93 हजार करोड़ रुपये की इन्वेस्टमेंट की उम्मीद
इन्वेस्टर मीट में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने निवेशकों की समस्याओं को जानने के साथ-साथ उनका समाधान करने का भी आश्वासन दिया.

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (Jairam Thakur) ने दावा किया कि दो दिन की ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट (Global Investors Meet) पूरी तरह से सफल रही. 93 हजार करोड़ रुपये की इन्वेस्टमेंट की उम्मीद हिमाचल में जगी है. ये इतिहास है कि धर्मशाला (Dharamshala) में निवेशकों ने दिल खोल कर एमओयू (MoU) पर हस्ताक्षर किए हैं.

  • Share this:
धर्माशाला. मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (Jairam Thakur) ने दावा किया कि दो दिन की ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट (Global Investors Meet) पूरी तरह से सफल रही. 93 हजार करोड़ रुपये की इन्वेस्टमेंट की उम्मीद हिमाचल में जगी है. ये इतिहास है कि धर्मशाला (Dharamshala) में निवेशकों ने दिल खोल कर एमओयू (MoU) पर हस्ताक्षर किए हैं. सीएम ने कहा कि भविष्य में आनेवाली चुनौतियों से भी पार पाया जाएगा. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) की पहली राइजिंग हिमाचल ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट का शुक्रवार को समापन हो गया.

निवेशकों के साथ अलग-अलग क्षेत्रों में निवेश के लिए बैठक

ग्लोबल इन्वेस्टर मीट के दूसरे दिन प्रदेश सरकार ने निवेशकों के साथ अलग-अलग क्षेत्रों में निवेश के लिए अलग-अलग सत्रों का आयोजन किया. इसमें पर्यटन, आईटी, फूड प्रोसेसिंग, हाइड्रो पावर, समेत दूसरे क्षेत्रों के लिए अलग-अलग सत्र में निवेशकों से बातचीत की गई. इस दौरान मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने निवेशकों की समस्याओं को जानने के साथ-साथ उनका समाधान करने का भी आश्वासन दिया. इस दौरान उन निवेशकों से संबंधित क्षेत्रों के मंत्री और प्रशासनिक अधिकारी भी मौके पर मौजूद रहे. मुख्यमंत्री के साथ निवेशकों ने बातचीत के दौरान हिमाचल में आने वाली कई समस्याओं को भी सरकार के समक्ष रखा.



धर्मशाला में निवेशकों ने दिल खोल कर एमओयू पर हस्ताक्षर किए.




पर्यटन के क्षेत्र में निवेश के लिए प्रेरित किया गया

ग्लोबल इन्वेस्टर मीट के दूसरे दिन के सुबह के सत्र के मुख्य अतिथि केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने शिरकत की. इस दौरान उन्होंने भी पर्यटन के क्षेत्र में हिमाचल में निवेश को लेकर निवेशकों को प्रेरित किया. इतना ही नहीं इस ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट के समापन समारोह में भी बतौर मुख्य अतिथि उन्हें ही अहम भूमिका
निभानी पड़ी. ऐसा इसलिए, क्योंकि खराब मौसम के कारण गृह मंत्री अमित शाह धर्मशाला नहीं आ पाए.

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि केंद्र हिमाचल सरकार से मिलकर हाई लेवल टास्क फोर्स का गठन करेगा. उन्होंने कहा कि कृषि फूड रेलवे और उद्योगों से जुड़े अधिकारियों की यह फोर्स 3 माह के अंदर
अपनी रिपोर्ट देगी. यह फोर्स केंद्र और प्रदेश में चल रही योजनाओं को आधार बनाकर निवेशकों व जनता को सहूलियत मुहैया करवाएगी.

ये भी पढ़ें - ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट: नहीं आए अमित शाह, पीयूष गोयल ने किया समापन

ये भी पढ़ें - इन्वेस्टर्स मीट: साल 1997 में ज्वालामुखी में 7 दिन के लिए रुके थे पीएम मोदी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading