Home /News /himachal-pradesh /

HP Assembly Session: हिमाचल के मंडी में बनेगी सरदार पटेल यूनिवर्सिटी, विधानसभा में बिल पारित

HP Assembly Session: हिमाचल के मंडी में बनेगी सरदार पटेल यूनिवर्सिटी, विधानसभा में बिल पारित

हिमाचल विधानसभा में शीतकालीन सत्र.

हिमाचल विधानसभा में शीतकालीन सत्र.

Himachal Assembly Session: शिक्षा मंत्री गोबिंद ठाकुर ने कहा कि माकपा विधायक राकेश सिंघा पर सनसनी फैलाने का प्रयास करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि सरदार पटेल विश्वविद्यालय मंडी पूरी तरह से हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय एक्ट 1970 के प्रावधानों के तहत ही स्थापित की जाएगी.

अधिक पढ़ें ...

    धर्मशाला. हिमाचल प्रदेश में एक और राज्य विश्वविद्यालय बनाने का रास्ता साफ हो गया है. मंगलवार को धर्मशाला में विधानसभा के शीतकालीन सत्र के चौथे दिन सरकार को सदन ने मंडी जिले में सरदार पटेल विश्वविद्यालय बनाने की हरी झंडी प्रदान की. मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के गृह जिले में सरदार पटेल विश्वविद्यालय, हिमाचल प्रदेश स्थापना और विनियमन विधेयक 2021 ध्वनिमत से पारित हुआ.

    हालांकि, इस पर चर्चा के दौरान विपक्षी सदस्यों ने काफी सवाल उठाए. बिल पर संशोधन प्रस्ताव देने वाले माकपा विधायक ने सरकार को जमकर घेरा और विधेयक में जरूरी बदलाव को लेकर अपना मत रखा, लेकिन उसे खारिज कर दिया गया. कांग्रेस विधायक जगत सिंह नेगी ने मात्र 10 करोड़ रुपये के प्रावधान पर सरकार को घेरा तो मुकेश अग्निहोत्री ने रूसा के तहत ऊना जिले के लिए की गई विवि की घोषणा का मुद्दा उठाया. नेता प्रतिपक्ष ने ऊना के साथ धोखा करने का आरोप लगाया. विपक्षी सदस्यों ने इस कदम को राजनीतिक स्टंट करार कर दिया.

    शिक्षा मंत्री गोबिंद ठाकुर ने क्या कहा
    विधेयक पर हुई चर्चा का जवाब देते हुए शिक्षा मंत्री गोबिंद ठाकुर ने कहा-घोषणा की कि इस विश्वविद्यालय की स्थापना के लिए बजट सत्र के दौरान पर्याप्त धन की व्यवस्था की जाएगी. उन्होंने कहा कि सरदार पटेल विश्वविद्यालय मंडी कोई चुनावी स्टंट नहीं, बल्कि प्रदेश की जरूरत है. उन्होंने कहा कि एचपीयू पर करीब 300 शिक्षण संस्थानों को चलाने का बोझ है. नया विवि बनने से उच्चतर शिक्षा में गुणवत्ता आएगी, साथ ही एचपीयू की गुणवत्ता में सुधार होगा और रोजगार के द्वार भी खुलेंगे.

    शिक्षा मंत्री ने विपक्ष से अपने संशोधन वापस लेने की भी अपील की, माकपा विधायक राकेश विधायक राकेश सिंघा ने संशोधन वापस लेने से इनकार कर दिया लेकिन विधानसभा अध्यक्ष विपिन सिंह परमार ने बहुमत से इस विधेयक के पारित होने की घोषणा की. माकपा सदस्य राकेश सिंघा ने इस विधेयक पर 32 संशोधन दिए थे. उन्होंने चर्चा में हिस्सा लेते हुए कहा कि इस विधेयक में सरदार पटेल विश्वविद्यालय मंडी की स्वायत्तता खत्म कर दी गई है और विश्वविद्यालय की कार्यप्रणाली में सरकार का ही दखल होगा. उन्होंने सरदार पटेल विश्वविद्यालय मंडी से संबंधित विधेयक में प्रोफेसरों की नियुक्ति अनुबंध पर करने का भी विरोध किया. इसके साथ ही हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय संशोधन विधेयक भी ध्वनिमत से पारित हो गया.

    इस संशोधन विधेयक से अब प्रदेश सरकार को मंडी में प्रस्तावित सरदार पटेल विश्वविद्यालय, मंडी में कालेजों में शामिल करने का अधिकार मिल गया है. इससे पहले संशोधन विधेयक पर हुई चर्चा में भाग लेते हुए माकपा के राकेश सिंघा ने इसका विरोध किया. उन्होंने कहा कि कौन सा कालेज किस विश्वविद्यालय में शामिल होगा, इसका अधिकार विधायिका के पास है न कि कार्यपालिका के पास. सिंघा ने कहा कि यह विधायिका के अधिकार क्षेत्र में हस्तक्षेप है और अगर ऐसा ही करना है तो फिर सरकार को विधानसभा को ही भंग कर देना चाहिए. उन्होंने सरकार से संशोधन विधेयक को वापस लेने की मांग की.

    शिक्षा मंत्री ने दिया जवाब
    चर्चा का उत्तर देते हुए शिक्षा मंत्री गोबिंद ठाकुर ने कहा कि माकपा विधायक राकेश सिंघा पर सनसनी फैलाने का प्रयास करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि सरदार पटेल विश्वविद्यालय मंडी पूरी तरह से हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय एक्ट 1970 के प्रावधानों के तहत ही स्थापित की जाएगी और इसमें कालेजों को शामिल करने और एचपीयू के क्षेत्राधिकार में अतिक्रमण से बचाने के लिए कानून की धारा सात में संशोधन आवश्यक है.

    Tags: Himachal Government, Himachal pradesh, Shimla

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर