हिमाचली सिनेमा को बढ़ावा देने के लिए उठी फिल्म पॉलिसी बनाने की मांग

हिमाचल का सिनेमा आज भी गली-कूचों में सिसकने के लिए मजबूर है. यहां की प्राकृतिक सुंदरता, सभ्यता व संस्कृति का बाहरी लोग दोहन कर रहे हैं, लेकिन हिमाचल में यह उद्योग दम तोड़ रहा है.

Bichitar Sharma | News18 Madhya Pradesh
Updated: February 14, 2019, 2:34 PM IST
हिमाचली सिनेमा को बढ़ावा देने के लिए उठी फिल्म पॉलिसी बनाने की मांग
हिमाचल फिल्म सिटी कंपनी के निदेशक पदम वर्मा
Bichitar Sharma | News18 Madhya Pradesh
Updated: February 14, 2019, 2:34 PM IST
हिमाचल की फिल्म सिटी कंपनी ने सूबे की सरकार से फिल्म पॉलिसी बनाने की एक बार फिर से मांग की है. धर्मशाला पहुंचे हिमाचल फिल्म सिटी कंपनी के निदेशक पदम वर्मा ने कहा कि हिमाचल में जहां पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं, वहीं सभ्यता और संस्कृति के लिहाज से भी यह प्रदेश अति समृद्ध है. हिमाचल में बॉलीवुड सहित दूसरे राज्यों के कलाकार आकर न जाने कितनी फिल्मों की शूटिंग की है और उन्हें हिमाचल की बदौलत पड़े पर्दे पर हिट भी करवाया है.

हिमाचल सिटी फिल्म कंपनी के निदेशक पदम वर्मा ने कहा कि हिमाचल का सिनेमा आज भी गली-कूचों में सिसकने के लिए मजबूर है. यहां की प्राकृतिक सुंदरता, सभ्यता व संस्कृति का बाहरी लोग दोहन कर रहे हैं, लेकिन हिमाचल में यह उद्योग दम तोड़ रहा है. उन्होंने कहा कि यह तब तक संभव नहीं होगा, जब तक इस क्षेत्र में यहां की सरकार सजगता नहीं दिखाती.

पदम वर्मा ने कहा कि हिमाचल की सरकार को यहां फिल्म पॉलिसी को सख्ती से बनानी चाहिए. उन्होंने कहा कि सरकार सिर्फ नीतियों का निर्माण ही नहीं करे, बल्कि हिमाचल की सांस्कृतिक धरोहर को बड़े पर्दे पर उतारना भी चाहिए. उन्होंने कहा कि हिमाचल में फिल्म निर्माण की संभावनाएं है. उन्होंने कहा कि फिल्म निर्माण नीति बनने के बाद यहां से युवाओं को इस फिल्ड में भविष्य बनाने का मौका मिलेगा.



यह भी पढ़ें-  Valentine's Day Special: प्यार के लिए 38 साल तक मौत का इंतजार!

यह भी पढ़ें-  फिर स्टडी टूर पर जाएंगे MC शिमला के पार्षद, हैदराबाद में जानेंगे ‘जल प्रबंधन’

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...