लाइव टीवी

VIDEO: नौ साल सऊदी अरब में बंधक है कांगड़ा का विजय, मांगी मदद
Dharamsala News in Hindi

Bichitar Sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: September 17, 2019, 1:42 PM IST
VIDEO: नौ साल सऊदी अरब में बंधक है कांगड़ा का विजय, मांगी मदद
विजय ने वीडियो जारी कर मदद की गुहार लगाई है.

कांगड़ा (Kangra) रौंखर का विजय पिछले 9 साल से सऊदी अरब (Saudi Arabia) में बंधक (Hostage) की जिंदगी जी रहा है. परिजन उसकी रिहाई के लिए दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं, बावजूद इसके कहीं से विजय की रिहाई की उम्मीद नहीं बंध रही है.

  • Share this:
धर्मशाला. बीते कई सालों से जहां देश के सैकड़ों नोजवानों को विदेशी सरजमीं से दिवंगत सुषमा स्वराज (Sushma Sawraaj)ने बतौर विदेश मंत्री रहते स्वदेश वापस लाया, वहीं आज विदेशी (Foreign) धरती में बंधक की जिंदगी जी रहे कई युवा उन्हें याद करके अपनी रिहाई की बार-बार आवाज बुलंद कर रहे हैं, लेकिन आज उनकी रिहाई के लिए कारगर कदम उठाने वाला कोई नजर नहीं आ रहा. ताजा मामला हिमाचल (Himachal) के कांगड़ा (Kangra) के नगरोटा के रौंखर का सामने आया है.

कई जगह लगाई गुहार
दरअसल, रौंखर का विजय पिछले 9 साल से सऊदी अरब (Saudi Arabia) में बंधक की जिंदगी जी रहा है. परिजन उसकी रिहाई के लिए दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं, बावजूद इसके कहीं से विजय की रिहाई की उम्मीद नहीं बंध रही है. अभिभावकों की मानें तो वो पिछले लम्बे अरसे से PMO में पत्राचार कर रहे हैं, विधायक और सांसद से मांग कर चुके हैं, लेकिन स्थिति अभी भी ढाक के तीन पात हैं, फिलहाल उन्हें प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur) से ही आख़िरी उम्मीद बची है, जिसके लिए उन्होंने कांगड़ा के DC राकेश प्रजापति का दरवाजा खटखटाया है, ताकि उनके जरिये अपनी आवाज को मुख्यमंत्री तक पहुंचाया जा सके.

Himachal Man in Saudi Arab
रौंखर का विजय पिछले 9 साल से सऊदी अरब में बंधक की जिंदगी जी रहा है.




वीडियो जारी किया
विजय ने वहां से एक वीडियो जारी किया है और कहा कि वह अपने घर जाना चाहते हैं. बीते छह साल से रियाद में भारतीय एंबेसी के चक्कर लगाकर थक चुके हैं लेकिन, कोई मदद नहीं मिली है. विजय ने कहा कि वह हिमाचल के सीएम से भी गुहार लगा चुके हैं, लेकिन उन्हें मदद नहीं मिली है. वह यहां परेशान हो चुका है और जल्द से जल्द घर जाना चाहता है.

जेल भी जाना पड़ा
विजय 2011 में सऊदी अरब गए थे.वहां उन्हें जेसीबी ऑपरेटर की नौकरी मिली थी. 2013 में लोडर एक लोडर हादसे के बाद विजय की गिरफ्तारी हो गई थी. 20 दिन के बाद पुलिस ने पूछताछ के बाद उसे छोड़ दिया. इसके बाद वह फिल से कंपनी में काम करने लगा, लेकिन अब कंपनी उसे छुट्टी नहीं दे रही है. अब उसने मदद की गुहार लगाई है.



ये भी पढ़ें-मनाली में महिला पर पेट्रोल छिड़क लगाई आग, खुद भी किया सुसाइड का प्रयास

हिमाचल के मयंक ने दुनिया की सबसे कठिन ट्रायथलोन जीतकर बनाया नया वर्ल्ड रिकॉर्ड

हिमाचल कैबिनेट के फैसले: टूरिज्म पॉलिसी मंजूर, 9700 छात्रों को मिलेंगे लैपटॉप

APG यूनिवर्सिटी में फिर भिड़े अफगानी और भारतीय छात्र, 8 गिरफ्तार

अस्पताल में सिटी स्कैन करवाने आई महिला से तकनीशियन ने की छेड़छाड, FIR

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए धर्मशाला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 17, 2019, 1:22 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर