• Home
  • »
  • News
  • »
  • himachal-pradesh
  • »
  • पंडित नेहरू की प्रतिमा देखकर पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार की आंखों में आए आंसू, SDM को लिखा खत

पंडित नेहरू की प्रतिमा देखकर पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार की आंखों में आए आंसू, SDM को लिखा खत

हिमाचल के पूर्व सीएम शांता कुमार. (FILE PHOTO)

हिमाचल के पूर्व सीएम शांता कुमार. (FILE PHOTO)

Himachal News: राज्य के पूर्व सीएम शांता कुमार ने कहा, 'जब कायाकल्प से लौट रहे थे तो देखा कि नेहरू चौक पर भारत के प्रथम प्रधानमंत्री आदरणीय पण्डित जवाहर लाल नेहरू जी की प्रतिमा टूट रही है. प्रतिमा की हालत देख बचपन की कुछ यादें ताजा हो गईं और आंखों में आंसू आ गए.'

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    पालमपुर. हिमाचल प्रदेश के पूर्व सीएम और केंद्र में मंत्री रहे शांता कुमार ने अपने गृहनगर पालमपुर में देश के पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू की प्रतिमा की दुर्दशा को लेकर दुख जताया है. साथ ही उन्होंने इस संबंध में पालमपुर के एसडीएम को पत्र लिखा है. शांता ने कहा कि पंडित नेहरू एक महान नेता थे और देश की आजादी में उनका अहम् योगदान है.

    कांगड़ा से भाजपा के पूर्व सांसद शांता कुमार ने कहा कि नेहरू जी की प्रतिमा के सम्बंध में उपमण्डल दण्डाधिकारी पालमपुर को पत्र लिखा है. उन्होंने कहा कि जब कायाकल्प से लौट रहे थे तो देखा कि नेहरू चौक पर भारत के प्रथम प्रधानमंत्री आदरणीय पण्डित जवाहर लाल नेहरू जी की प्रतिमा टूट रही है. प्रतिमा की हालत को देख कर बचपन की कुछ यादें मन मस्तिष्क में घूम गई और आंखों में आंसू आ गये.

    शांता ने यादें की ताजा
    शांता कुमार ने आगे लिखा कि शायद 1942 की बात है. मेरे पूज्य पिता जी बैजनाथ में पोस्टमास्टर थे. मैं भी पांचवीं में पढ़ता था. अच्छी तरह से याद है पंडित जवाहर लाल नेहरू जी बैजनाथ में मन्दिर के साथ बहुत बड़े वट वृक्ष के नीचे एक जनसभा में भाषण दे रहे थे. अटियाले पर दरियां बिछी थी. कुछ कुर्सियां लगी थी. बैजनाथ के प्रसिद्ध कांग्रेस नेता शायद श्री मंगत राम जी भी थे. उस समय के मेरे बाल मन पर अंकित वह सब याद आ रहा है. आदरणीय नेहरू जी ने भाषण दिया था. भाषण का एक वाक्य याद है-हम सबको मिलकर आजादी प्राप्त करनी है. मुझे याद है कि उसी समय इसी पालमपुर में उस समय के प्रसिद्ध कांग्रेस नेता श्री कन्हैया लाल बुटेल जी को मिलने के लिए उनके घर गये थे.

    बुटेल से भी की बात
    शांता ने कहा कि मैंने आज इस तथ्य की पुष्टि पालमपुर के विधायक आशीष बुटेल से की है. उन्होंने बताया की 1942 अप्रैल मास में जवाहर लाल नेहरू उनके घर आये थे. बैजनाथ में छोटी-सी जन सभा करके वे मंडी होकर मनाली गये थे.

    नेहरू भारत के एक महान नेता थे
    शांता ने कहा कि जवाहर लाल नेहरू भारत के एक महान नेता थे. उनका परिवार स्वतन्त्रता आन्दोलन में सराहनीय कार्य करता रहा. स्वतन्त्र भारत के वे प्रथम प्रधानमंत्री बने. जिस पालमपुर में वे आज से लगभग 80 वर्ष पहले पधारे थे, उसी पालमपुर के नेहरू चौक में उनकी छोटी सी प्रतिमा की इतनी बुरी हालत हो, इस से अधिक लज्जा की और कोई बात नहीं हो सकती. मैं कल से ही बहुत आहत हूं और मैंने एक निर्णय किया है, आपका सहयोग चाहिए.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज