हिमाचल में पेट्रोल-डीज़ल के बढ़ते दामों पर अपनी ही सरकार पर बरसे BJP के पूर्व मंत्री रविंद्र रवि

हाशिये पर चल रहे पूर्व मंत्री रविंद्र रवि ने अपनी ही सरकार पर निशाना साधा है.

Petrol Diesel Price issue: दरअसल, रविंद्र रवि पूर्व सीएम धूमल के करीबियों में आते हैं. चुनाव में हार के बाद धूमल का राजनीतिक करियर लगभग खत्म हो चुका है. ऐसे में उनके समर्थकों को भी पार्टी में पक़ड़ रखने वाले नेताओं ने साइडलाइन कर दिया है. ऐसे में रविंद्र रवि भी हाशिये पर चल रहे हैं.

  • Share this:
    ब्रजेश्वर साकी

    देहरा (कांगड़ा). हिमाचल प्रदेश में भाजपा (BJP) में हाशिये पर चल रहे पूर्व मंत्री रविंद्र रवि ने अपनी ही सरकार पर निशाना साधा है. वह पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों पर भाजपा (BJP) की ही सरकार पर जमकर बरसे. कांगड़ा जिले के विधानसभा क्षेत्र देहरा के पूर्व विधायक और धूमल सरकार में मंत्री रहे रविन्द्र सिंह रवि ने पेट्रोल-डीज़ल के बढ़ते दामों पर जहां केंद्र सरकार की पैरवी की तो वहीं, प्रदेश सरकारों पर भी जमकर बरसे. उन्होंने कहा कि अगर कोरोना काल में हिम्मत है तो प्रदेश सरकार पेट्रोल-डीज़ल का दम करके.दिखाए.

    राज्य सरकार लगाती है टैक्स
    उन्होंने यह भी कहा कि केंद्र सरकार कुल कर मिलाकर 42 रुपये लेती है, बाकी का टैक्स प्रदेश सरकार लगाती है. उन्होंने कहा कि देश भर के सभी राज्य सरकारें पेट्रोल-डीज़ल के रेट कम करने में सक्षम हैं. रवि ने कहा कि पेट्रोल डीजल से राज्य सरकारों को भारी राजस्व मिलता है. रवि ने सेंट्रल यूनिवर्सिटी को लेकर भी बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि मैं दावे के साथ कह सकता हूँ कि शत-प्रतिशत सेंट्रल यूनिवर्सिटी देहरा में ही बनेगी. उन्होंने कहा कि देहरा को इस सौगात का श्रेय पूर्व मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल को जाता है. रवि ने कहा कि मेरे पास सारा रिकॉर्ड है की कब इसकी नोटिफिकेशन हुई.

    कब हुई नोटिफिकेशन
    उन्होंने कहा कि 30 अप्रैल 2010 को इसकी नोटिफिकेशन हुई और 3 साल पहले तक के सारे रिकॉर्ड मेरे पास हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर को भी इसका श्रेय जाता है. उन्होंने कहा कि 520 करोड़ रुपये सेंट्रल यूनिवर्सिटी देहरा के निर्माण के लिए सेंक्शन हो गए हैं.

    क्यों बरस रहे हैं अपनी ही पार्टी पर रवि
    दरअसल, रविंद्र रवि पूर्व सीएम धूमल के करीबियों में आते हैं. चुनाव में हार के बाद धूमल का राजनीतिक करियर लगभग खत्म हो चुका है. ऐसे में उनके समर्थकों को भी पार्टी में पक़ड़ रखने वाले नेताओं ने साइडलाइन कर दिया है. ऐसे में रविंद्र रवि भी हाशिये पर चल रहे हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.