Home /News /himachal-pradesh /

विजय हजारे ट्रॉफी जीतने पर हिमाचल क्रिकेट टीम का सम्मान, BCCI देगी एक करोड़ रुपये का इनाम

विजय हजारे ट्रॉफी जीतने पर हिमाचल क्रिकेट टीम का सम्मान, BCCI देगी एक करोड़ रुपये का इनाम

विजय हजारे ट्रॉफी पहली बार जीतने वाली हिमाचल प्रदेश की टीम को बीसीसीआई देगी एक करोड़ का इनाम.

विजय हजारे ट्रॉफी पहली बार जीतने वाली हिमाचल प्रदेश की टीम को बीसीसीआई देगी एक करोड़ का इनाम.

Himachal Cricket Team: अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम धर्मशाला में HPCA की ओर से इंटर डिस्ट्रिक क्रिकेट प्रतियोगिता के फाइनल मुकाबले के साथ ही विजय हज़ारे ट्राफी की विजेता टीम को भी सम्मानित किया गया. धर्मशाला में BCCI के कोषाध्यक्ष एवं HPCA के डायरेक्टर अरुण धूमल ने बतौर मुख्य अतिथि कार्यक्रम में पहुंचे. इस मौके पर हिमाचल प्रदेश क्रिकेट टीम के कैप्टन ऋषि धवन ने बताया कि अब पिछली गलतियों में सुधार कर कड़े अभ्यास से अच्छा क्रिकेट खेलने का लगातार मौका मिल रहा है, ऐसे में उन्हें उम्मीद है कि जल्द ही एक बार फिर से भारतीय जर्सी में नज़र आएंगे. उन्होंने कहा हिमाचल की टीम लगातार पिछले 15-20 वर्षों से कड़ी मेहनत कर रही थी.

अधिक पढ़ें ...

धर्मशाला. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम धर्मशाला (International Cricket Stadium-Dharamshala) में हिमाचल प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन (HPCA) की ओर से इंटर डिस्ट्रिक क्रिकेट प्रतियोगिता के फाइनल मुकाबले के साथ ही विजय हज़ारे ट्राफी की विजेता टीम को भी सम्मानित किया गया. धर्मशाला में BCCI के कोषाध्यक्ष एवं एचपीसीए के डायरेक्टर अरुण धूमल (Arun Dhoomal) ने हिमाचल प्रदेश को विजय हजारे ट्रॉफी पहली बार जीतने पर बतौर इनाम एक करोड़ रुपये देने की घोषणा की.

अरुण धूमल ने सभी खिलाडिय़ों व मैच ऑफिसियल को इनाम दिया. विजेता टीम के खिलाडिय़ों में कैप्टन ऋषि धवन की अगुवाई में हिमाचली टोपी, मफ्लर, एचपीसीए जैकेट, स्मृति चिन्ह भेंट किया और एक करोड़ रुपये की राशि बतौर इनाम घोषित की गई.

अरुण धूमल ने इसका श्रेय अनुराग ठाकुर को दिया

अरूण ने कहा कि अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) ने हिमाचल क्रिकेट में धर्मशाला स्टेडियम की नींव रखी. वहीं इस इंफास्ट्रक्चर ने आज हिमाचल के खिलाडिय़ों में जीत दर्ज करने के पश्चात नए ऊर्जा का संचार किया है. उन्होंने कहाकि जैसा 1983 में वर्ल्ड कप विजेता टीम के कैप्टन कपिल देव ने कहा है कि हिमाचल की जीत भी 83 के वर्ल्ड कप की जीत की तरह ही है. अरूण ने कहा कि हिमाचल के क्रिकेट के इतिहास में यह जीत मील का पत्थर साबित होगी.

हिमाचल का क्रिकेट अब राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचाना जाने लगा: धूमल

अब उन्हें पूरा विश्वास है कि हिमाचली खिलाड़ी जल्द ही भारतीय टीम की जर्सी पहनकर इसी धर्मशाला स्टेडियम में अंतर्राष्ट्रीय मैच खेलते हुए नज़र आएंगे. उन्होंने कहा कि हिमाचल का क्रिकेट अब राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचाने जाने लगा है. हिमाचल के ICC अंपायर के अलावा भारतीय पुरूष टीम के बल्लेबाजी कोच, इंडिया टीम में पुरूष खिलाड़ी व महिला टीम में हिमाचल के खिलाडिय़ों की संख्या बढ़ रही है. अब अधिक हिमाचल के खिलाड़ी भारतीय टीम में शामिल होंगे, ऐसी उन्होंने उम्मीद जताई है.

हिमाचल टीम जारी रखेगी अपना बेहतरी प्रदर्शन

HPCA के सचिव सुमीत शर्मा ने बताया कि विजय हज़ारे में इस टीम की जीत ने हिमाचल के युवाओं को क्रिकेट के प्रति जुड़ने का सुनहरा अवसर का निर्माण किया है. सुमित ने दोहराया कि एचपीसीए व बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष अनुराग ठाकुर की कड़ी तपस्या व खिलाडिय़ों के लगातार अभ्यास से ही जीत संभव हो पाई है. आने वाले समय में भी हिमाचल की टीम अपना बेहतरीन प्रदर्शन जारी रखेगी.

सुमीत ने बताया अरुण धूमल के नेतृत्व में हिमाचल क्रिकेट में बहुत से नए आधारभूत ढांचे का निर्माण कर गांव स्तर तक क्रिकेट को पहुंचाने में हम सब अपेक्स बॉडी के सदस्य दृढ़ संकल्पित हैं. इस मौके पर निदेशक सुरेंद्र ठाकुर, प्रेम ठाकुर, संजय शर्मा, कोषाध्यक्ष अवनीश परमार, संयुक्त सचिव अमिताभ शर्मा, सदस्य विशाल शर्मा, बरजिंदर शर्मा, नयन कटोच व असीम अग्रवाल उपस्थित रहे.

भारतीय टीम में जगह बनाना अगला लक्ष्य: ऋषि धवन

हिमाचल प्रदेश क्रिकेट टीम के कैप्टन व विजय हज़ारे ट्राफी में दमदार आलरांउडर प्रदर्शन के बलबूते टीम को फाईनल ट्राफी दिलाने वाले ऋषि धवन ने बताया कि अब पिछली गलतियों में सुधार कर कड़े अभ्यास से अच्छा क्रिकेट खेलने का लगातार मौका मिल रहा है, ऐसे में उन्हें उम्मीद है कि जल्द ही एक बार फिर से भारतीय जर्सी में नज़र आएंगे।उन्होंने कहा हिमाचल की टीम लगातार पिछले 15-20 वर्षों से कड़ी मेहनत कर रही थी।

Tags: Anurag thakur, Dharamshala News, Himachal pradesh

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर