हिमाचली बेटियों ने राष्ट्रीय मिक्स मार्शल आर्ट चैंपियनशिप में जीता गोल्ड मेडल

कोच अमित राणा ने इन दोनों छात्राओं की जीत पर ख़ुशी जाहिर करते हुए कहा कि जिस प्रकार से इन दोनों खिलाड़ियों ने पसीना बहाया था. उससे इनकी जीत सुनिश्चित थी.

News18 Himachal Pradesh
Updated: July 9, 2019, 4:10 PM IST
हिमाचली बेटियों ने राष्ट्रीय मिक्स मार्शल आर्ट चैंपियनशिप में जीता गोल्ड मेडल
किक बॉक्सिंग में खिलाड़ी प्रियंका और सोमी.
News18 Himachal Pradesh
Updated: July 9, 2019, 4:10 PM IST
बेटियां किसी भी क्षेत्र में बेटों से कम नहीं है. यह कर दिखाया है राजकीय महाविद्यालय और नूरपुर स्पोर्ट्स क्लब की खिलाडी सोमी और प्रियंका ने. दिल्ली के प्रगति मैदान में नेशनल मिक्स मार्शल आर्ट प्रतियोगिता में इन दोनों महिला खिलाडियों ने अपने अपने वर्ग भार में गोल्ड मेडल जीतकर, ना केवल कांगड़ा के नूरपुर क्षेत्र, बल्कि पूरे हिमाचल प्रदेश का नाम रोशन किया है.

खतरनाक खेल है किक बॉक्सिंग
सोमी और प्रियंका की इस उपलब्धि पर पूरे क्षेत्र में खुशी का माहौल है. मिक्स मार्शल आर्ट बहुत ही खतरनाक खेल माना जाता है, जो कुश्ती, जूडो और बॉक्सिंग खेल का मिश्रण है, इस खतरनाक खेल में इन गांव की बालाओं ने स्वर्ण पदक जीतकर यह साबित किया है कि ग्रामीण क्षेत्र में भी अगर लडकियों को बेहतर प्लेटफार्म दिया जाए तो वह प्रदेश का नाम जरूर रोशन कर सकती हैं.

इन दोनों खिलाडियों की इस ऊँची उड़ान को पंख दिए है. राजकीय महाविद्यालय में कार्यरत अमित राणा ने इन लडकियों को प्रशिक्षित किया है. अमित राणा के पास लगभग चालीस छात्र-छात्राएं प्रशिक्षण लेते है और वह निशुल्क इन बच्चों को प्रशिक्षण कर उन्हें आत्म रक्षा के गुर सिखा रहे है,

ये बोले कोच
कोच अमित राणा ने इन दोनों छात्राओं की जीत पर ख़ुशी जाहिर करते हुए कहा कि जिस प्रकार से इन दोनों खिलाड़ियों ने पसीना बहाया था. उससे इनकी जीत सुनिश्चित थी. राष्ट्रीय स्तर पर गोल्ड मेडल जीतने के बाद अब इनका अगला लक्ष्य वर्ल्ड क्वालीफायर के लिए तैयारी करना है. उन्होंने कहा कि सोमी इंटरनेशनल स्तर पर भी बेहतर प्रदर्शन करेगी.

(नुरपुर से भूषण शर्मा की रिपोर्ट)
Loading...

ये भी पढ़ें: हमीरपुर कॉलेज में मारपीट के बाद 10 स्टूडेंट्स सस्पेंड किए

कार हादसा: बेटी लड़ रही जंग, पिता के बाद सहेली की भी मौत

हिमाचल में रोड सेफ्टी ऑडिट के बाद ही पास होंगी नई सड़कें

आयुष्मान कार्ड से इलाज नहीं, IGMC से मिला 3 लाख का एस्टिमेट
First published: July 9, 2019, 4:00 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...