कुत्ते पालने का है शौक, तो देनी होगी सालाना इतनी रकम

कांगड़ा जिले के देहरा नगर परिषद ने अब पालतू कुत्तों को पालने के लिए भी लाइसेंस लेना अनिवार्य कर दिया है, जिसके लाइसेंस की फीस पचास रुपये सालाना होगी.

News18 Himachal Pradesh
Updated: July 14, 2019, 4:34 PM IST
कुत्ते पालने का है शौक, तो देनी होगी सालाना इतनी रकम
कुत्ता पालना है तो बनेगा लाइसेंस, सालाना देने होंगे पचास रुपये
News18 Himachal Pradesh
Updated: July 14, 2019, 4:34 PM IST
हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले के देहरा नगर परिषद ने अब पालतू कुत्तों को पालने के लिए भी लाइसेंस लेना अनिवार्य कर दिया है. साथ ही साथ पालतू कुत्ता बिना लाइसेंस के बाहर टहलते हुए नजर आया तो उसके मालिक के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी. इसी के तहत नगर परिषद ने पालतू कुत्तों के रजिस्ट्रेशन करके लाइसेंस जारी करने की कवायद छेड़ दी है. नगर परिषद के कहना है कि पालतू कुत्तों के लाइसेंस की पचास रुपये सालाना फीस लगेगी. नगर परिषद के मुताबिक इस पहल से जहां शहर को साफ-सुथरा रखने में मदद मिलेगी, तो वहीं कुत्तों की पहचान करने में भी मदद मिलेगी.

देहरा नगर परिषद ने अब पालतू कुत्तों को पालने के लिए लाइसेंस लेना अनिवार्य किया
देहरा नगर परिषद ने अब पालतू कुत्तों को पालने के लिए लाइसेंस लेना अनिवार्य किया




सीनियर सिटीजन फॉर्म देहरा ने की थी शिकायत

बता दें कि शहर में आवारा कुत्तों के टहलने और उनके द्वारा लोगों पर किए गए हमले से लोग परेशान थे, इसलिए सीनियर सिटीजन फॉर्म देहरा ने ई-समाधान के जरिये मुख्यमंत्री को शहर में पालतू कुत्तों को खुले में शौच करवाने व स्कूल जाते वक्त बच्चों व आते-जाते बुजुर्गों व अन्य लोगों पर पालतू कुत्तों द्वारा हमला कर काटने की शिकायत की थी. जिस पर हुए नगर परिषद देहरा ने कार्रवाई करते हुए पालतू कुत्तों के रजिस्ट्रेशन करके लाइसेंस जारी करने की कवायद छेड़ दी है.

सीनियर सिटीजन फॉर्म देहरा ने ई-समाधान के जरिये की थी मुख्यमंत्री से शिकायत
सीनियर सिटीजन फॉर्म देहरा ने ई-समाधान के जरिये की थी मुख्यमंत्री से शिकायत


ऐसे होगा पालतू कुत्तों का पंजीकरण

कुत्ते का पंजीकरण नगर परिषद में कराने के लिए एक फार्म भरना होगा साथ ही कुत्ते की दो फोटो और टीकाकरण का प्रमाण पत्र नगर परिषद कार्यालय में जमा कराना होगा, जिसके बाद ही नगर परिषद की ओर से कुत्ते को पालने का लाइसेंस मुहैया करवाया जाएगा. नगर परिषद के अनुसार इससे कुत्तों के आंकड़े उपलब्ध हो सकेंगे साथ ही रैबिज संबंधी केस भी नियंत्रित रखा जा सकेगा.
Loading...

कार्यकारी अधिकारी के एल ठाकुल ने कहा कि बिना लाइसेंस के पालतू कुत्ते पाए जाने पर होगी कार्रवाई
कार्यकारी अधिकारी के एल ठाकुल ने कहा कि बिना लाइसेंस के पालतू कुत्ते पाए जाने पर होगी कार्रवाई


 

(ब्रजेश्वर साकी की रिपोर्ट )

यह भी देखें- VIDEO: शिमला में कुत्ता पालना होगा महंगा, ये है वजह
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...