लाइव टीवी

CAA Support: HPCU के VC बोले- 'जो अभी तक अपने धर्म पर अड़े हुए हैं सरकार उन्हें नागरिकता दे रही है'
Dharamsala News in Hindi

News18 Himachal Pradesh
Updated: December 23, 2019, 8:20 AM IST
CAA Support: HPCU के VC बोले- 'जो अभी तक अपने धर्म पर अड़े हुए हैं सरकार उन्हें नागरिकता दे रही है'
सेंट्रल यूनिवर्सिटी हिमाचल प्रदेश के वीसी डॉ. कुलदीप चंद अग्निहोत्री

सेंट्रल यूनिवर्सिटी हिमाचल प्रदेश के वीसी डॉ. कुलदीप चंद अग्निहोत्री ने इस बिल का समर्थन किया है.

  • Share this:
देहरा. देश में नागरिकता संशोधन एक्ट (Citizenship Amendment Act, CAA) बनने पर राजनीतिक दलों के विरोध और आम लोगों के प्रदर्शन के बीच बुद्धिजीवियों ने CAA का खुलकर समर्थन करना शुरू कर दिया है. सेंट्रल यूनिवर्सिटी हिमाचल प्रदेश के वीसी डॉ. कुलदीप चंद अग्निहोत्री ने इस बिल का समर्थन किया है. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में कांगड़ा (Kangra) जिले के देहरा के ज्वालाजी डिग्री कॉलेज में ABVP के कार्यक्रम में वीसी आए हुए थे. इस दौरान उन्होंने सवाल खड़ा करते हुए कहा कि पाकिस्तान और बांग्लादेश में हिंदू-सिख रहते हैं वह कौन हैं.

1947 में जबरन छीनी गई थी नागरिकता, अब सरकार दे रही उनका हक

वीसी ने कहा कि 90 प्रतिशत लोग दलित समाज के हैं. उन्होंने कहा कि जो ऊंची जातियों के हिंदू और सिख थे वो मुसलमान हो गए. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान का आर्मी चीफ बाजवा भी जाट है यह भी मुसलमान हो गया. हाईकोर्ट का जज सेठी है वो भी मुसलमान हो गया. चौहान, परमार, भट्टी जो राजपूत थे वो मुसलमान हो गए. इसके अलावा जो वाल्मीकि, रविदास हैं वो पाकिस्तान और बांग्लादेश में अभी भी मुसलमान नहीं हुए हैं. उन्होंने कहा कि सन् 1947 से पहले सभी भारत के नागरिक थे. वहीं सन् 1947 में उनसे भारत की नागरिकता छीन ली गई और यह उनसे पूछकर नहीं छीनी गई. वह अभी तक अपने धर्म पर अड़े हुए हैं और मुसलमान नहीं हुए. उन्होंने कहा कि अब भारत सरकार उनको नागरिकता देना चाहती है तो जो लोग उस वक्त पाकिस्तान में मुसलमान बन गए थे उन्हीं के भाई यहां बैठकर कह रहे हैं कि उनको नागरिकता नहीं मिलनी चाहिए.

उपकेन्द्रीय भाषण प्रतियोगिता कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे थे VC



ज्वालाजी डिग्री कॉलेज में एबीवीपी व स्वामी विवेकानंद मेडिकल ट्रस्ट के उपकेन्द्रीय भाषण प्रतियोगिता कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे थे, सेंट्रल यूनिवर्सिटी के वीसी डॉ. कुलदीप चंद अग्निहोत्री. उन्होंने विवेकानंद के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि विवेकानंद के विचारों को 150 वर्ष बाद भी इसलिए याद किया जा रहा है, क्योंकि उनके विचार समाजहित के लिए सर्वोपरि रहे हैं. इस कार्यक्रम केन्द्रीय संयोजक किशन शर्मा ने विवेकानंद के जीवन पर हो रही इस प्रतियोगिता के बारे में अवगत करवाया. उपकेन्द्रीय भाषण प्रतियोगिता में विभिन्न स्कूलों कॉलेजों से आए हुए छात्रों ने विवेकानंद के जीवन पर अपने विचार रखे. इस दौरान कार्यक्रम अध्यक्ष शैलेन्द्र गोस्वामी, डिग्री कॉलेज के प्रिंसिपल अजायब सिंह बनयाल, निर्णायक मंडल सदस्य संजय शर्मा, डॉ. दिलबाग राणा और डॉ. देवराज भी मौजूद रहे.

(देहरा से बर्जेश्वर साकी की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें:- सलमान और आमिर खान उपद्रवियों से शांत रहने की अपील क्यों नहीं करते: करणी सेना

ये भी पढ़ें:- BJP मंत्री कंवर ने CAA पर राणा को दी नसीहत कहा, हैसियत के हिसाब से दें बयान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए धर्मशाला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 23, 2019, 8:16 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,709

     
  • कुल केस

    6,412

     
  • ठीक हुए

    503

     
  • मृत्यु

    199

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 10 (08:00 AM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,151,685

     
  • कुल केस

    1,604,072

    +788
  • ठीक हुए

    356,656

     
  • मृत्यु

    95,731

    +38
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर