धर्मशाला में इंटेलीजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम शुरू, अब सीधे घर आएगा चालान

धर्मशाला में अब वाहन चालकों पर सीसीटीवी से नजर रखी जाएगी.
धर्मशाला में अब वाहन चालकों पर सीसीटीवी से नजर रखी जाएगी.

Smart Traffic System in Dharamshala: एसपी कांगड़ा ने कहा कि आईटीएमएस मेरा ड्रीम प्रोजेक्ट था. हम चाहते थे कि जिला में 20-30 जगहों पर ऐसी व्यवस्था करें, लेकिन अभी एक लगाया गया है. एसपी ने कहा कि एक और कैमरा अपने रिसोर्स से लगवाने जा रहे हैं और एक कैमरा लगवाने की बात डीसी कांगड़ा ने भी कही है

  • Share this:
धर्मशाला. हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा (Kangra) जिले के जिला मुख्यालय धर्मशाला में स्थापित इंटेलीजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम (ITMS) शुरू हो गया है. इस हाईटैक प्रणाली का कंट्रोल एसपी कार्यालय परिसर में स्थापित कक्ष में रहेगा, जिसे बाकायदा विशेष तौर पर तैयार किया गया है.

दो मुख्य मार्गों पर नजर

धर्मशाला में जल्द ही दो और मुख्य मार्गों पर यह सिस्टम इंस्टाल कर दिए जाएंगे. ऐसे में यातायात नियमों को नजरअंदाज कर ड्राइव कर रहे हैं तो सतर्क रहें, क्योंकि अब पुलिस नहीं, बल्कि यातायात नियमों की अवहेलना पर कैमरा आपको पकड़ लेगा और चालान भुगतना होगा. इस हाईटैक प्रणाली का शुभारंभ डीसी कांगड़ा राकेश प्रजापति ने किया. इस दौरान एसपी जिला कांगड़ा विमुक्त रंजन, डीएसपी बलदेव समेत अन्य पुलिस अधिकारी भी मौजूद रहे.



कंट्रोल रूम से वाहन चालकों पर नजर रहेगी.

क्या बोले एसपी कांगड़ा

एसपी ने बताया कि इस सिस्टम को जहां स्थापित किया गया है, वहां चेतावनी बोर्ड भी लगाए जाएंगे. साथ ही कई माध्यमों से लोगों को यातायात नियमों की अनुपालना के बारे में जागरूक भी किया जाएगा. एसपी कांगड़ा विमुक्त रंजन ने कहा कि हमारा उद्देश्य चालान काटना नहीं, बल्कि सड़क सुरक्षा है. जहां ट्रैफिक व्यवस्था रखनी है, ब्लैक स्पॉट और जहां एक्सीडेंट अधिक होते हैं, वहां इन कैमरा को स्थापित किया जा रहा है. जितने ज्यादा कैमरा लगेंगे, उतने रोड़ कवर हो पाएंगे.

एसी कांगड़ा विमुक्त रंजन के साथ पदाधिकारी.


यह मेरा ड्रीम प्रोजेक्ट

एसपी कांगड़ा ने कहा कि आईटीएमएस मेरा ड्रीम प्रोजेक्ट था. हम चाहते थे कि जिला में 20-30 जगहों पर ऐसी व्यवस्था करें, लेकिन अभी एक लगाया गया है. एसपी ने कहा कि एक और कैमरा अपने रिसोर्स से लगवाने जा रहे हैं और एक कैमरा लगवाने की बात डीसी कांगड़ा ने भी कही है. ऐसे में एक-दो माह में शहर में तीन रोड़ इससे कवर हो जाएंगे. अर्बन एरिया में जहां कैमरे लगे होंगे, वहां स्पीड भी नोटिफाई की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज