Home /News /himachal-pradesh /

शक्तिपीठों पर लक्ष्मी मेहरबान, नवरात्र में बज्रेश्वरी देवी मंदिर में रिकॉर्ड चढ़ावा, श्रद्धालुओं ने खुलकर दिया दान

शक्तिपीठों पर लक्ष्मी मेहरबान, नवरात्र में बज्रेश्वरी देवी मंदिर में रिकॉर्ड चढ़ावा, श्रद्धालुओं ने खुलकर दिया दान

कांगड़ा का ब्रजेश्वरी देवी मंदिर.

कांगड़ा का ब्रजेश्वरी देवी मंदिर.

Kangra Brijeshwar Devi Temple: नवमी बज्रेश्वरी देवी मंदिर के दर पर रिकार्ड तोड़ भीड़ उमड़ी व उस दिन के चढ़ावे की गिनती को पूरा करने के लिए मंदिर न्यास को दो दिन का समय लग गया. नवमी पर 10 लाख 21 हजार 880 नकद चढ़ावा चढ़ा, जो एक दिन का चढ़ावे का रिकार्ड है.

अधिक पढ़ें ...

कांगड़ा. कोरोनाकाल के चलते खाली हो चुके शक्तिपीठों के खजानों में एक बार फिर से लक्ष्मी मैया मेहरबान हो गई है. माता बज्रेश्वरी देवी मंदिर न्यास के खजाने में शारदीय नवरात्रों के मद्देनजर देवी मां ने इस कदर कृपा बरसाई है कि सब धन-धन हो गया है. इन शारदीय नवरात्रों में जहां रिकार्डतोड़ श्रद्धालुओं ने देवी मां के मंदिरों में हाज़िरी भरी है. वहीं दानपात्रों में भी रिकॉर्डतोड़ दान प्राप्त हुआ है. शारदीय नवरात्र में चढ़ाए गए दान की गिनती हुई है और न्यास को 50 लाख 67 हजार 584 रुपये का नकद चढ़ावा मिला है. सोने और चांदी के जेवरों की गिनती और उनका आकलन करना अभी बाकी है.

बज्रेश्वरी मंदिर परिसर के इंचार्ज दलजीत शर्मा की मानें तो इन नवरात्र के सात दिन में रिकार्डतोड़ चढ़ावा चढ़ाया गया है, जबकि इससे पहले मंदिर न्यास को पहले इतना चढ़ावा नहीं हासिल नहीं होता था. हालांकि, अभी सोने और चांदी के चढ़ावे का वजन किया जाना बाकी है.

लॉकडाउन के बाद से खाली था खजाना

बीते साल मार्च माह में कोरोना महामारी की वजह से लगे लाकडाउन के बाद श्री बजेश्वरी देवी मंदिर न्यास का खजाना खाली होने से मंदिर के सभी विकासात्मक कार्य लगभग बंद हो गये थे और मुश्किल से कर्मचारियों की तनख्वाह निकल पा रही थी. ऐसे में मंदिर न्यास में चढ़ावे में हुई बढ़ोतरी से मंदिर के विकास कार्य फिर से शुरू होने का रास्ता साफ हो गया है.

क्या कहते हैं अधिकारी

मंदिर सहायक आयुक्त व उपमंडलाधिकारी कांगड़ा अभिषेक वर्मा ने बताया कि मंदिर की आय बढ़ने पर रुके हुए विकास कार्य फिर शुरू हो सकते हैं. खजाना खाली हो गया. पिछली बैठक में सरकार से मांग की गई कि न्यास की गतिविधियों को संचालित करने के लिए चार करोड़ की सहायता प्रदान की जाए या सरकार ऋण की व्यवस्था करे, लेकिन सरकार से कोई भी मदद नहीं मिली.

नवमी पर दिखा अजब नजारा

नवमी पर रिकार्ड तोड़ भीड़ उमड़ी व उस दिन के चढ़ावे की गिनती को पूरा करने के लिए मंदिर न्यास को दो दिन का समय लग गया. नवमी पर 10 लाख 21 हजार 880 नकद चढ़ावा आया, जो एक दिन का चढ़ावे का रिकार्ड है. कोरोना काल में शक्तिपीठों में जहां श्रद्धालुओं की संख्या गिर गई थी और चढ़ावे में कमी आई थी. वहीं शक्तिपीठ माता श्री बज्रेश्वरी देवी मंदिर न्यास से कोरोना काल में एक वर्ष तक सैकड़ों लोगों को खाना खिलाया गया है.

आपके शहर से (धर्मशाला)

Tags: Himachal pradesh, Hindu Temples, Kangra News

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर