कांगड़ा में दर्दनाक हादसा: बहन ने छोटे भाई का बाल भी बांका नहीं होने दिया, युवती की अस्‍पताल में इलाज के दौरान मौत

सांकेतिक तस्वीर.

सांकेतिक तस्वीर.

Kangra News: गंभीर रूप से घायल युवती को परिजन सिविल अस्पताल नगरोटा सूरियां लेकर गए, जहां प्राथमिक जांच के बाद डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

  • Share this:

धर्मशाला. छोटे भाई को बचाते हुए बहन (Sister) की जान चली गई. मामला हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा (Kangra) जिले के धर्मशाला (Dharamshal) का है. दर्दनाक हादसे में बेटी को जान गंवानी पड़ी. जानकारी के अनुसार, हरिपुर थाना क्षेत्र के तहत गांव बिलासपुर के कपाड़ी क्षेत्र में दर्दनाक हादसा हुआ. इसे देखकर लोग सिहर उठे, लेकिन कोई कुछ कर नहीं पाया.

युवती ने अपने भाई को बचाने के लिए जान दे दी. उसे इतनी भयानक मौत मिली कि जांच करने वाले डॉक्टरों के भी होश उड़ गए. हादसा सड़क निर्माण कार्य के दौरान हुआ. दरअसल, मशीनें चल रही थीं और प्रवासी मजदूर काम कर रहे थे. इस दौरान एक बच्चा मशीन के पास पहुंच गया. यह देखकर उसकी 19 साल की बहन उसे वापस लाने के लिए दौड़ी, लेकिन इतनी देर में बच्चा मशीन के काफी करीब आ गया. बहन दौड़ आई और उसने बच्चे को पीछे हटा दिया, लेकिन उसका खुद का दुपट्‌टा मशीन की चपेट में आ गया और मशीन ने उसे अपनी तरफ खींच लिया. युवती के बाल भी फंस गए. हादसा देखकर मौके पर चीख-पुकार मच गई.

परिजन ले गए अस्पताल

आनन-फानन में मशीन बंद की गई और गंभीर रूप से घायल युवती को परिजन सिविल अस्पताल नगरोटा सूरियां लेकर गए, जहां प्राथमिक जांच के बाद डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. हादसे की सूचना पुलिस चौकी नगरोटा सूरियां को दी गई. पुलिस थाना हरिपुर मौके पर पहुंची और प्रभारी सुशील कुमार ने घटना की पुष्टि करते हुए केस दर्ज कर लिया.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज