लाइव टीवी

Inspiring Kangra: पैसे कमाने के लिए खच्चरें पाली, घूमने के लिए रखी कार, 6 बेटियों को भी पढ़ाया
Dharamsala News in Hindi

News18 Himachal Pradesh
Updated: May 22, 2020, 9:05 AM IST
Inspiring Kangra: पैसे कमाने के लिए खच्चरें पाली, घूमने के लिए रखी कार, 6 बेटियों को भी पढ़ाया
कांगड़ा के हरवंश कुमार. (फोटो साभार-फोकस हिमाचल)

हरवंश कुमार की सात बेटियां है और उन्होंने छह बेटियों को शिक्षित कर उनकी शादियां की. एक बेटी और एक बेटे की शादी करनी बाकी है.

  • Share this:
कांगड़ा. कहते हैं कोई भी काम छोटा नहीं होता और मेहनत से हर मुकाम पाया जा सकता है. ऐसी ही प्रेरक कहानी है कांगड़ा (Kangra) के नगरोटा बंगवा के हरवंश कुमार की. शुरुआत छोटी की, मगर अब वह उस मुकाम पर हैं, जहां से हर किसी के लिए प्रेरणास्त्रोत (Inspiring) हैं.

ऐसे की शुरुआत
कांगड़ा जिला के नगरोटा बगवां उपमंडल के धलूं गांव की पटियालकर पंचायत के हरवंश कुमार ने 16 साल की उम्र में खच्चर लादने का काम किया. आज वह एक सफल कारोबारी हैं. आज उनके पास आलीशान घर है, घूमने के लिए एक कार और एक स्कूटी रखी है. इसके अलावा, अल्ट्राटैक और अम्बूजा सीमेंट की एजेंसी भी है.

भवन निर्माण की सामग्री



डिजीटल न्यूजपेपर ‘फोकस हिमाचल’ के अनुसार, 63 साल के हरवंश कुमार की हर रोज दिनचर्या रात दो बजे शुरू होती है. पिछले 47 साल से उन्होंने कभी एक भी छुट्टी नहीं ली. रोज दस बजे सुबह तक अपना सारा काम निपटा देते हैं. भवन निर्माण के लिए वे रेत- बजरी, बोल्डर और सीमेंट उपलब्ध करवाते हैं.



12 साल तक की मजदूरी
हरवंश कुमार का कहना हैं कि घर के आर्थिक हालत ठीक नहीं थे. पिता किसान थे और बड़ा परिवार था. रोजी-रोटी का और कोई जरिया नहीं था. ऐसे में उनकी पढ़ाई छूट गई. 16 साल के थे तो दाड़ी में एक खच्चर मालिक के यहां खच्चर लादने का काम शुरू कर दिया. 12 साल तक यहां जम कर पसीना बहाया और फिर पैसों जुटाकर दो खच्चर खरीदी और अपना काम शुरू कर दिया. संघर्ष के इस दौर में पत्नी ने खूब साथ दिया और बाद में
गरीबी को मात देकर कारोबार शुरु किया.


परिवार से संभाला, खुद रास्ता निकाला
हरवंश कुमार की सात बेटियां है और उन्होंने छह बेटियों को शिक्षित कर उनकी शादियां की. एक बेटी और एक बेटे की शादी करनी बाकी है. बेटा विशाल बीएससी कर रहा है. फिलहाल, पिता के कारोबार में हाथ बंटा रहा है. हरवंश का कहना है कि कोई भी काम छोटा बड़ा नहीं होता, बल्कि मेहनत से हर काम में बड़ी सफलता हासिल की जा सकती है.

ये भी पढ़ें: 5 लाख लेनदेन Audio केस: हिमाचल स्वास्थ्य विभाग के निदेशक अजय गुप्ता गिरफ्तार

हिमाचल के CM जयराम ने दिए संकेत, 31 मई के बाद सील किए जा सकते हैं बॉर्डर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए धर्मशाला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 22, 2020, 8:42 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading