लाइव टीवी

जानिये क्यों, बुजुर्ग दंपत्ति ने PM मोदी से की प्लास्टिक की टोकरियों पर बैन लगाने की मांग

News18 Himachal Pradesh
Updated: October 5, 2019, 6:19 PM IST
जानिये क्यों, बुजुर्ग दंपत्ति ने PM मोदी से की प्लास्टिक की टोकरियों पर बैन लगाने की मांग
बुजुर्ग दंपति पीएम नरेंद्र मोदी से ज्वालामुखी मंदिर में प्लास्टिक की टोकरियों पर बैन लगाने की मांग की है.

बुजुर्ग दंपति ने पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से ज्वालामुखी मंदिर (Jwalamukhi Temple) में प्लास्टिक की टोकरियों पर बैन लगाने की मांग की, ताकि उनकी बांस की टोकरियां बिक सके और वह दो वक्त की रोटी खा सके.

  • Share this:
कांगड़ा/धर्मशाला. देशभर में सिंगल यूज प्लास्टिक को लेकर अभियान चलाया जा रहा है. ऐसे में हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के कांगड़ा (Kangra) में रहने वाले बुजुर्ग दंपत्ति ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से ज्वालामुखी मंदिर (Jwalamukhi Temple) में प्लास्टिक (Plastic) की टोकरियों पर बैन लगाने की मांग की है. बुजुर्ग मिलाप चंद ने कहा कि अगर प्लास्टिक की टोकरियों पर रोक लग जाएगी तो उनकी बांस की टोकरियां बिक सकेंगी और उन्हें दो वक्त की रोटी खाने को मिल जाएगी.

कांगड़ा के बुजुर्ग दंपत्ति मिलाप चंद (Milap Chand)और बिमला देवी (Bimla Devi) की जवान बेटी की हत्या ससुराल वालों ने कर दी थी. उनका एक जवान बेटा करीब 10 वर्ष पहले दो वक्त की रोटी कमाने के लिए घर से निकला और लौटकर वापस नहीं आया. इसके बावजूद दंपत्ति ने जीवन से हार नहीं मानी और वह आज भी हाड़तोड़ मेहनत करते हैं और अपने लिए रोटी की जुगाड़ करते हैं. यह दीगर बात है कि इतनी मेहनत के बाद भी एक ही वक्त चूल्हा जल पाता है. यह कहानी कांगड़ा जिले की ज्वालामुखी विधानसभा की ग्राम पंचायत अम्ब पठियार के निवासी मिलाप चंद और उनकी पत्नी बिमला देवी की है.

बुजुर्ग दंपति (Elderely Couple) बांस की टोकरियां (Cane Basket) बनाकर अपना गुजारा करते हैं. लेकिन मंदिर में बांस की टोकरियों की जगह अब प्लास्टिक की टोकरियों (Plastic Basket) ने ले ली है. इसके चलते अब उनकी बांस से बनी टोकरियों का कोई खरीददार नहीं है. आलम यह है कि पैसे के अभाव में इनके घर में एक ही टाइम का खाना बन पाता है. ऐसे में अब बुजुर्ग दंपति ने पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से ज्वालामुखी मंदिर (Jwalamukhi Temple) में प्लास्टिक की टोकरियों पर बैन लगाने की मांग की, ताकि उनकी बांस की टोकरियां बिक सके और वह दो वक्त की रोटी खा सके.



प्लास्टिक की टोकरी पर बैन लगने से 1000 लोगों को मिलेगा रोजगार

दंपत्ति के पास एक कच्चा मकान है और वह कभी भी गिरने की स्थिति में आ चुका है. बारिश और तूफान में मकान गिरने के डर से उन्हें रातें बाहर गुजारनी पड़ती हैं. ऐसे में अब बुजुर्ग दंपत्ति पीएम नरेंद्र मोदी से ज्वालामुखी मंदिर में प्लास्टिक की टोकरियों पर बैन लगाने की मांग की है. उनका कहना है कि अगर मंदिर में प्लास्टिक बैन कर दिया जाए तो इस क्षेत्र के लगभग 1000 परिवारों को रोजगार मिल सकता है.

 
Loading...

House
दंपत्ति के पास एक कच्चा मकान है और वह गिरने की स्थिति में आ चुका है. मकान गिरने के डर से उन्हें रातें बाहर गुजारनी पड़ती है.


बुजुर्ग दंपति को सूची से बाहर कर पंचायत को किया बीपीएल मुक्त

इस बुजुर्ग दंपत्ति को ना ही पेंशन मिलती है और ना ही इनके पास पक्का घर है. इस दंपत्ति को प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत नए घर की दरकार है. बुजुर्ग ने योजना बोर्ड के उपाध्यक्ष रमेश ध्वाला से कई बार मुलाकात की. वे अपने लिए वृद्धा पेंशन व मकान बनाने की मांग करते रहे. उनकी किसी ने भी सुनवाई नहीं की. इसके उलट ज्वालामुखी विधानसभा क्षेत्र की ग्राम पंचायत अंब पठियार के इस बुजुर्ग दंपत्ति को जबरन बीपीएल सूची से निकालकर पंचायत को बीपीएल मुक्त घोषित भी कर दिया है.

पक्का घर और पेंशन चाहते हैं दंपति

मिलाप चंद और उनकी पत्नी बिमला देवी ने अपने दर्द न्यूज 18 से साझा करते हुए कहा कि वह बांस की टोकरी बनाकर अपना भरण पोषण करते हैं. हम सरकार व प्रशासन से चाहते हैं कि जल्द हमें पक्का घर व पेंशन योजना का लाभ दिलाए.

Bimla devi
बिमला देवी ने कहा कि हम सरकार व प्रशासन से चाहते हैं कि जल्द उन्हे पक्का घर व पेंशन योजना का लाभ मिले.


देहरा के बीडीओ राजीव सूद का इस संदर्भ में कहना है कि पंचायत ने प्रधानमंत्री आवास योजना में इस परिवार को डाला है. पूरी उम्मीद है कि जल्द ही उनके लिए पक्के घर के निर्माण का कार्य शुरू हो जाएगा.

(देहरा से ब्रजेश्वर साकी की रिपोर्ट)

यह भी पढ़ें: सड़क हादसे के बाद घायलों के सिर से रिसता रहा खून, लोग बनाते रहे VIDEO

 हिमाचल HC को मिला नया CJ, जस्टिस एल नारायण स्वामी को राज्यपाल दिलाएंगे शपथ

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए धर्मशाला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 5, 2019, 5:21 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...