Home /News /himachal-pradesh /

landslide risk increased due to heavy rains in dharamsala mcleodganj traffic also affected for hours

धर्मशाला के मैक्लोडगंज में भारी बारिश से बढ़ा भूस्खलन का खतरा, ट्रैफिक भी घंटों तक हो रहा प्रभावित

हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा घाटी में बीते एक सप्ताह से लगातार भारी बारिश का दौर जारी है, जिससे यहां भूस्खलन की कई घटनाएं हो रही हैं.

हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा घाटी में बीते एक सप्ताह से लगातार भारी बारिश का दौर जारी है, जिससे यहां भूस्खलन की कई घटनाएं हो रही हैं.

कांगड़ा घाटी में बीते एक सप्ताह से लगातार हो रही भारी बारिश ने मैक्लोडगंज के तीनों ओर भूस्खलन का खतरा भी बेहद ज्यादा बढ़ चुका है, जिसकी वजह से सामरिक नजरिये से अति महत्वपूर्ण धर्मशाला-मैक्लोडगंज रोड ने आम लोगों की दिक्कतों के साथ साथ सरकार-प्रशासन की भी चिंता बढ़ा दी है.

अधिक पढ़ें ...

धर्मशाला. हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा घाटी में बीते एक सप्ताह से लगातार भारी बारिश का दौर जारी है, जिसके कारण जिला मुख्यालय धर्मशाला का अप्पर धर्मशाला, जिसे ग्लोबल सिटी मैक्लोडगंज के नाम से भी जाना जाता है, वहां जगह-जगह मलबा गिरने से बार-बार यातायात बाधित हो रहा है और घंटों जाम की स्थिति बन रही है. यहां तक कि कई बार तो पूरा दिन भी आवाजाही को बहाल करने में खप जा रहा है. वहीं इस क्षेत्र के तीनों ओर भूस्खलन का खतरा भी बेहद ज्यादा बढ़ चुका है, जिसकी वजह से सामरिक नजरिये से अति महत्वपूर्ण धर्मशाला-मैक्लोडगंज रोड ने आम लोगों की दिक्कतों के साथ साथ सरकार-प्रशासन की भी चिंता बढ़ा दी है. वहीं इस रोड पर आर्मी एरिया में पोस्ट ऑफिस के पास बड़ा पेड़ सड़क पर गिर जाने की वजह से सुबह से ही वाहनों की आवाजाही पूरी तरह से थम गई, जिसे कड़ी मशक्कत के बाद अब बहाल किया गया है.

इसके अलावा धर्मशाला से मैक्लोडगंज जाने वाले खड़ा डंडा मार्ग रोड पर भी लाइब्रेरी के पास भारी लैंडस्लाइड हुआ है, जिसकी चपेट में पार्क की गई गाड़ी भी आ गई और सड़क से नीचे लुढ़क गई. इस दौरान भारी भूस्खलन से कुछ पेड़ भी गिरे हैं और पूरा मलबा सड़क पर बिखर गया. इस कारण इस सड़क पर वाहनों की आवाजाही पूरी तरह से बंद हो गई.

मैक्लोडगंज पुलिस थाना से संपर्क करने पर उन्होंने बताया कि धर्मशाला से मैक्लोडगंज के लिए आने वाले दोनों सड़क मार्ग फिलहाल पूरी तरह से बंद है. सड़क से पेड़ को हटाने और उसके साथ ही खड्डा डंडा मार्ग से जेसीबी के माध्यम से ही भूस्खलन के मलबे को हटाने के बाद ही सड़क मार्गों को सुचारू किया जा सकेगा. इसके अलावा धर्मशाला के आसपास के क्षेत्रों में भी कई स्थानों पर पेड़ और लैंडस्लाइड होने की सूचना है. वही एक बार फिर से मांझी, मनुनी व चरान खड्ड उफान में नजर आ रही है.

स्थानीय नागरिक देशराज ने बताया कि धर्मशाला में लगातार हो रही बारिश के कारण भूस्खलन भी लगातार हो रहा है. उन्होंने बताया कि सुबह तकरीबन 5 बजे तेज बारिश होने के कारण अचानक से भूस्खलन हो गया और सड़क पर खड़ी कई गाड़ियां भी इस भूस्खलन की चपेट में आ गई. उन्होंने बताया कि काफी मशक्कत के बाद लैंडस्लाइड की चपेट में आई गाड़ियों को निकाला गया. उन्होंने बताया कि भूस्खलन होने के कुछ समय बाद ही जिला प्रशासन भी मौके पर पहुंच गया.

वहीं एक अन्य स्थानीय निवासी रमेश कुमार ने बताया कि भारी बारिश होने के कारण भूस्खलन हुआ है. वहीं स्कूल जाने वाले बच्चों को भी इस भूस्खलन के कारण काफी परेशानी का सामना करना पड़ा है, क्योंकि भारी मात्रा में मलबा सड़क पर आ गिरा है और वाहनों की आवाजाही पूरी तरह बंद हो गई है. जिला प्रशासन ने मशीनरी को मौके पर पहुंचा दिया है और बंद पड़े रोड को खोलने का कार्य शुरू कर दिया गया है.

Tags: Dharamshala News, Dharamshala Rain, Himachal news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर