Assembly Banner 2021

Dharamshala MC Elections: जयराम सरकार ने धर्मशाला से भेदभाव क्यों किया: कांग्रेस

कांग्रेस ने भाजपा पर साधा निशान.

कांग्रेस ने भाजपा पर साधा निशान.

MC Elections in Himachal Pradesh: हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला सहित चार नगर निगमों में 7 अप्रैल को चुनाव होने हैं. प्रचार अभियान थम चुका है और अब एक दिन बाद वोटिंग होगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 6, 2021, 10:23 AM IST
  • Share this:
धर्मशाला. हिमाचल प्रदेश कांग्रेस (Himachal Congress) के प्रदेश प्रवक्ता डॉ राजेश शर्मा ने जयराम सरकार पर स्मार्ट सिटी धर्मशाला से भेदभाव करने के आरोप लगाए हैं. डॉ. शर्मा का कहना है कि भाजपा (BJP) सरकार बताए कि पिछले 3 सालों से उन्होंने स्मार्ट सिटी धर्मशाला को मिलने वाले प्रदेश के शेयर को क्यों रोक रखा है? स्मार्ट सिटी परियोजना में हिमाचल सरकार की ओर से मिलने वाले शेयर को क्यों रिलीज नहीं किया गया. स्मार्ट सिटी के कार्यों को रोककर भाजपा ने धर्मशाला के विकास में रोड़ा अटकाने का काम किया है. इससे क्षेत्र की जनता में सरकार के प्रति भारी रोष है. उनका कहना है कि नगर निगम चुनावों में भाजपा व प्रदेश सरकार को इस मामले पर जवाब देना होगा कि मुख्यमंत्री खुद जिन परियोजनाओं का शिलान्यास धर्मशाला में करके गए उनके काम आखिर क्यों शुरू नहीं हो पाए?

क्यों रुके हैं धर्मशाला में काम?
कांग्रेस नेता ने पूछा कि क्या धर्मशाला में सांसद व विधायक के बीच चल रहे शीत युद्ध के कारण यह कार्य रुके हैं. उन्होंने कहा कि भाजपा के बीच आंतरिक कलह चरम पर है और इसी का नतीजा है कि स्मार्ट सिटी के कार्यों को गति मिलने के बजाय ब्रेक लग गई है. डॉ शर्मा का कहना है कि कांग्रेस सत्ता में आते ही इन कार्यों को गति देगी और जनता को मिलने वाली सुविधाएं तुरंत दी जाएंगी. उन्होंने क्षेत्र की जनता से आह्वान किया है कि नगर निगम चुनावों में भाजपा को सत्ता से बाहर कर 2022 में होने वाले विधानसभा चुनावों में भी सत्ता से बाहर का रास्ता दिखाना होगा, तभी इन्हें पता चलेगा कि जनता का जनादेश का सम्मान कितना आवश्यक है. डॉ शर्मा ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं से भी एकजुट होकर नगर निगम चुनावों में जन विरोधी कार्य करने वाली सरकार को सबक सिखाने का आह्वान किया है.

मुख्यमंत्री खुद जिन परियोजनाओं का शिलान्यास धर्मशाला में करके गए उनके काम आखिर क्यों शुरू नहीं हो पाए?

युद्ध संग्रहालय, व सेल्फी प्वाइंट को भाजपा ने क्यों बनाया खंडहर?


कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता डॉ राजेश शर्मा ने धर्मशाला शहर के प्रवेश द्वार पर ही पूर्व मंत्री सुधीर शर्मा ने सेल्फी प्वाइंट बनाया था. जहां देश दुनिया के पर्यटक सेल्फी लेकर धर्मशाला का प्रचार करते थे. इसके साथ ही युद्ध संग्रहालय का निर्माण भी करवाया था. लेकिन भाजपा ने सत्ता में आने के बाद इन दोनों बड़ी एवं महत्वाकांक्षी परियोजनाओं को अधर में लटका कर बता दिया कि वे धर्मशाला का कितना विकास करवाना चाहती है. अब यह करोड़ों रुपए से बनी पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र परियोजनाएं खंडहर बनते जा रहे हैं. डॉ शर्मा ने कहा कि पर्यटकों को सुविधा देने के लिए धर्मशाला में ट्यूलिप लगाकर हिमाचल में पहला टयूलिप गार्डन बनाने की नीव कांग्रेस सरकार में रखी गई थी, लेकिन वहां पर सरकार बदलने के बाद उस पार्क का नाम ही बदल दिया और आज तक एक भी ट्यूलिप वहां पर नहीं लग पाया है. धर्मशाला के ऐतिहासिक मंदिर अघंजर महादेव के पास पार्किंग सहित भवन निर्माण करवाया गया. वह भी अभी तक मंदिर जनता को समर्पित नहीं हो पाया है. इसके अलावा डीसी ऑफिस के साथ दो बड़ी-बड़ी पार्किंग का निर्माण करवाने के अलावा वहां एक आधुनिक कैफे का निर्माण करवाया गया था. भाजपा ने उसे भी सत्ता में आने के बाद खंडहर बनने के के लिए छोड़ दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज