DC कांगड़ा राकेश प्रजापति के तबादले की सुगबुगाहट, विरोध में लामबंद हुई जनता

कांगड़ा के पंचायत प्रधानों, बीडीसी सदस्यों, जिला पार्षदों ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur) के नाम ज्ञापन प्रषित किया है.

Memorandum to CM from Kangra: जब मंडी के डीसी का कार्यकाल चार साल को हो सकता है तो फिर कांगड़ा के डीसी का क्यों नहीं? उन्होंने कहा कि अगर फिर भी सरकार ने इस अपील को अनदेखा किया, तो फिर इसका निकट भविष्य में सरकार को भुगतान भी भुगतना पड़ सकता है.

  • Share this:
धर्मशाला. हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा (Kangra) जिले के डीसी की ट्रांसफर की चर्चाएं मौजूदा दौर में जोर पकड़ रही है. कांगड़ा की जनता इस चर्चा के बाद नाखुश दिख रही है. इससे पहले कि सरकार आईएएस अधिकारियों के तबादलों की सूची जारी करे और कांगड़ा के प्रजापति को किसी दूसरे स्थान पर स्थानांतरित किया जाए, कांगड़ा के जन प्रतिनिधि लामबद्ध होने शुरू हो गये हैं. पहली मर्तबा किसी अधिकारी का तबादला न करने को लेकर सूबे का समूचा जनपद एकजुट नज़र आ रहा है. बाकायदा, इसी सिलसिले में एक ज्ञापन कांगड़ा के पंचायत प्रधानों, बीडीसी सदस्यों, जिला पार्षदों ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur) के नाम प्रषित किया है.

ज्ञापन में राकेश प्रजापति का तबादला न करने की गुहार लगाई गई है और जिक्र किया है कि राकेश प्रजापति वो शख्सियत हैं, जिन्होंने वैश्विक महामारी में भी जिस तरह से अपने हुनर और होशियारी से प्रदेश के इतने बड़े जिला का संचालन किया है. भडियाड़ा वार्ड के जिला पार्षद जोगिंद्र कुमार ने सरकार से अपील करते हुये याद दिलाया कि राकेश प्रजापति को कांगड़ा में आये हुये अभी महज़ दो साल ही हुये हैं.

किसी अधिकारी का तबादला न करने को लेकर सूबे का समूचा जनपद एकजुट नज़र आ रहा है.


इस छोटे से अंतराल में उन्होंने जिस तरह से वीआईपी कल्चर को अपनी सूझ-बूझ के साथ हाशिये पर सिमेटते हुये जनता के दिलों में जगह बनाई है वो काबिले तारीफ है. सरकार तो कभी-कभार जनता दरबार लगाती है, मगर राकेश प्रजापति का तो 24 घंटों वाली घड़ी की लिहाज़ से 20 घंटे जनता दरबार लगता है. जनता का हर जायज कार्य वो अपने सोशल हैंडल से भी सुलझा देते हैं.

क्या सवाल उठाए

उन्होंने कहा कि जब मंडी के डीसी का कार्यकाल चार साल को हो सकता है तो फिर कांगड़ा के डीसी का क्यों नहीं? उन्होंने कहा कि अगर फिर भी सरकार ने इस अपील को अनदेखा किया, तो फिर इसका निकट भविष्य में सरकार को भुगतान भी भुगतना पड़ सकता है. इसके लिये सरकार के नुमाइंदे खुद उतरदायी होंगे. बता दें कि सीएम सिटी मंडी के जिलाधीश ऋग्वेद मिलिंद ठाकुर को भी अपना तीन साल का कार्यकाल पूरा किये हुये पूरे चार साल बीत गये हैं. उनकी सेवाओं से खुश जनता और सरकार ने उन्हें एक ही जगह सेवा विस्तार दे रखा है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.