लाइव टीवी

पाकिस्तानी WhatsApp ग्रुप में हिमाचल और पड़ोसी राज्यों के 300 नंबर जोड़े, पुलिस हुई अलर्ट
Dharamsala News in Hindi

Bichitar Sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: December 30, 2019, 7:32 PM IST
पाकिस्तानी WhatsApp ग्रुप में हिमाचल और पड़ोसी राज्यों के 300 नंबर जोड़े, पुलिस हुई अलर्ट
हिमाचल सहित पड़ोसी राज्यों के नंबर पाकिस्तानी ग्रुप में जोड़े गए हैं. (सांकेतिक तस्वीर)

Pakistani Whats App Group: एसपी कांगड़ा ने आम लोगों से अपील भी की है कि +92 नम्बर से कोई भी कॉल आए या व्हाट्सऐप से कोई मैसेज आये तो उसको रिस्पॉंड न करें.

  • Share this:
धर्मशाला. पाकिस्तान (Pakistan) के एक व्हाट्स एप (Whats App) नंबर से हिमाचल (Himachal Pradesh) और उसके साथ लगते प्रदेशों के करीब 300 मोबाइल नंबरों को ग्रुप में जोड़ा गया है. इससे सुरक्षा एजेंसियों (Security Agencies) चौंकन्नी हो गई हैं. सबसे पहले कांगड़ा (Kangra) के देहरा में सामने आए इस मामले की गहनता से छानबीन में एक और बड़ा खुलासा हुआ है. यह घटनाक्रम न केवल हिमाचल बल्कि, पंजाब (Punjab), हरियाणा (Haryana) समेत दूसरे प्रदेशों में भी घटित हुआ है. सुरक्षा एजेंसियों के मुताबिक, ये घटनाक्रम रातों-रात नहीं, बल्कि, पिछले डेढ-दो साल से चल रहा है.

पुलिस से शिकायत
मामले का खुलासा तब हुआ जब कांगड़ा के देहरा में रहने वाले एक शख्स ने पुलिस स्टेशन में जाकर इस घटना की जानकारी दी. कांगड़ा के एसपी विमुक्त रंजन ने इस घटना पर संज्ञान लिया और उन्होंने पूरे घटनाक्रम की जांच-पड़ताल की. जांच में हिमाचल समेत अन्य राज्यों के नंबर जोड़े जाने की बात भी सामने आई है.

Pakistani whats group
पाकिस्तान के इसी नंबर से क़ॉल और ग्रुप बनाया गया है.


ये है मामला
दरअसल पाकिस्तान के राष्ट्रीय कोड से एक नंबर ने हिमाचल के एक ही सीरीज के नंबरों के लोगों का व्हाट्सएप ग्रुप बनाकर उसमें जोड़ना शुरू कर दिया. उसमें ‘कौन बनेगा करोड़पति’ के वीडियो डाल कर खेल में शामिल होने का लालच दिया गया. इससे पहले कि ग्रुप में शरीक लोग उस वीडियो के झांसे में आते उन्होंने तुरंत पाकिस्तान कोड के नंबर को पहचानते हुए खुद ग्रुप से एग्जिट हो जाना मुनासिब समझा और इसकी सूचना पुलिस स्टेशन में करवा दी.

यह बोले एसपीजिला कांगड़ा के एसएसपी विमुक्त रंजन ने कहा कि उनके संज्ञान में आया था कि +92 नम्बर से एक व्हाट्सऐप ग्रुप बना है और लगभग एक ही सीरीज के 300 नम्बर उस ग्रुप में ऐड किये गए हैं. उन नम्बरों में कुछ एक नम्बर देहरा से ऐड किए गए. उन्होंने कहा कि उस ग्रुप में एक ऑडियो में कहा गया है कि आपकी लॉटरी लगी है और आप फलां नम्बर पर कॉल करें. उन्होंने कहा, "इसके अलावा इस ग्रुप में कोई भी और एक्टिविटी नहीं हुई. बावजूद इसके पुलिस इसे हलके में नहीं ले सकती, इसलिए इसकी गहनता से छानबीन की गई है."

पाकिस्तानी नंबर पर ना करें रिस्पॉंड
एसपी कांगड़ा ने आम लोगों से अपील भी की है कि +92 नम्बर से कोई भी कॉल आए या व्हाट्सऐप से कोई मैसेज आये तो उसका कोई जवाब न दें. क्योंकि, ऐसे लोगों का मकसद आम आदमी को झांसे में फंसाकर उन्हें आपराधिक एक्टिविटी में धकेलना या उनकी जीवन भर की जमा पूंजी को डकारना होता है.

ये भी पढ़ें- हिमाचल में झीलें जमी, माइनस में लुढ़का पारा, बर्फबारी से होगा नए साल का आगाज

हिमाचल बिजली बोर्ड में भरे जाएंगे 3034 खाली पद, सरकार ने दी मंजूरी

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए धर्मशाला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 30, 2019, 2:12 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर