लाइव टीवी

हिमाचल में बर्फबारी में 340 भेड़-बकरियों सहित फंसे पालक, फरिश्ता बने युवकों ने किए रेस्कयू
Dharamsala News in Hindi

Bichitar Sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: December 17, 2019, 4:47 PM IST
हिमाचल में बर्फबारी में 340 भेड़-बकरियों सहित फंसे पालक, फरिश्ता बने युवकों ने किए रेस्कयू
कांगड़ा के शाहपुर उपमंडल के बोह में बर्फबारी के बीच भेड़पालक.

Snowfall in Himachal: डीसी कांगड़ा राकेश प्रजापति ने कहा कि कुछ भेड़पालक बोह-द्रीणी से होते हुए इंदौरा की तरफ जा रहे थे. इनके साथ 340 भेड़ें थी.

  • Share this:
धर्मशाला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के कांगड़ा (Kangra) जिले में शाहपुर उपमंडल के बोह में बर्फबारी (Snowfall) में भेड़-बकरियों (Sheep and goats) संग फंसे भेड़पालकों (Shepard) के लिए नोडल क्लब मोरछ के युवक फरिश्ता बनकर आए. बोह के खबरू झरना के पास दो दिन से लगातार भारी बारिश और बर्फबारी हुई. इसमें भरमौर निवासी गद्दी (Gaddi) पुहाल, दूली राम और उनका बेटा संजय कुमार 340 भेड़-बकरियों के साथ फंस गए थे.

टीम बनाकर 3 से 4 फीट बर्फ में रास्ता बनाया
इसकी सूचना मिलते ही मोरछ-भंगार व गड़घून के युवा अपनी जान की परवाह किए बिना भेड़पालकों व भेड़-बकरियों का रेस्क्यू करने निकल पड़े. मोरछ-भंगार व गड़घून के युवाओं ने टीम बनाकर 3 से 4 फीट बर्फ में भेड़-बकरियों के लिए रास्ता बनाया और उन्हें मोरछ गांव में पहुंचाया. रेस्क्यू टीम में मदन सिंह, उत्तम सिंह, अशोक कुमार, जोगिंद्र सिंह, शौनकी राम, सुरजीत सिंह, केवल सिंह, मेघो, बिट्टू राम, सुरजीत सिंह, बबलू राम, दिलवर सिंह, झोंफी राम, रंगीला राम, मदन सिंह, बिहारी, रणजीत सहित स्थानीय लोग शामिल थे.

मौके से भेड़-बकरियों को निकालते हुए लोग.
मौके से भेड़-बकरियों को निकालते हुए लोग.




भरमौर से इंदौरा जा रहा था भेड़पालक दूली राम
भेड़ पालक दूली राम ने बताया कि वह अपनी भेड़-बकरियों को लेकर भरमौर से इंदौरा जा रहे थे. दो दिनों से खबरू में ठहरे हुए थे, लेकिन अचानक रात को भारी हिमपात हुआ. सुबह होते ही उनकी भेड़ें-बकरियां बर्फ में फंस गई. सुबह उनका बेटा मदद मांगने के लिए गड़घून गांव पहुंचा, जहां से उसने मोरछ के युवाओं से संपर्क साधा. इस पर 25 से 30 युवाओं ने एकत्रित होकर खबरू से ऊपर पहाड़ में फंसी 300 के करीब भेड़ बकरियों को बर्फ से निकालकर मोरछ तक ले आए. भेड़पालक ने सरकार से आर्थिक सहायता की गुहार लगाई हैं.

यह बोले डीसी कांगड़ा
डीसी कांगड़ा राकेश प्रजापति ने कहा कि कुछ भेड़पालक बोह-द्रीणी से होते हुए इंदौरा की तरफ जा रहे थे. इनके साथ 340 भेड़ें थी. सोमवार शाम तक 300 भेड़ें निकाली जा चुकी थी और 40 बाकी बची थी. अभी सूचना मिली है, उसमें 40 भेड़ों को भी निकालकर भेड़पालक को सौंप दिया गया है.
डीसी ने बताया कि केवल भेड़ों के ही फंसने की सूचना थी, जबकि किसी भी व्यक्ति के फंसने की कोई सूचना नहीं थी. हमारा फील्ड स्टाफ लगा हुआ था तथा सभी भेड़ों को निकाल लिया गया है.

ये भी पढ़ें: शिमला मेयर-डिप्टी मेयर चुनाव: सत्या कौंडल और शेलेंद्र होंगे BJP कैंडिडेंट!

हिमाचल के सुंदरनगर में दो हादसों में युवक की मौत, दो बच्चे घायल, PGI रेफर

लो वोल्टेज में कैसे मनेगा क्रिसमस व न्यू ईयर, पर्यटन कारोबारियों की बढ़ी चिंता

हिमाचल में बर्फबारी का कहर: CM जयराम ठाकुर ने कहा, जल्द पटरी पर लौटेगी जिंदगी

जब पिता को मुखाग्नि देकर फफक पड़ी बेटी, बोली- पूरा करूंगी पापा का सपना

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए धर्मशाला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 17, 2019, 4:47 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर