कांगड़ा : बारिश से नुकसान के बाद न तो राज्य और न ही केंद्र सरकार से कोई मदद मिली

Bichitar Sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: September 7, 2019, 3:20 PM IST
कांगड़ा : बारिश से नुकसान के बाद न तो राज्य और न ही केंद्र सरकार से कोई मदद मिली
केंद्र से राहत राशि मिलने के इंतजार में कांगड़ा जिला प्रशासन

मानसून की बारिश ने यूं तो प्रदेश में भारी तबाही मचाई है, लेकिन अकेले कांगड़ा जिले में इस सीजन में अब तक 115 करोड़ रुपये का नुकसान हो चुका है.

  • Share this:
कांगड़ा. मानसून की बारिश (Monsoon Rain) ने यूं तो प्रदेश में भारी तबाही (Destruction) मचाई है, लेकिन अकेले कांगड़ा (Kangra) जिले में इस सीजन में अब तक 115 करोड़ रुपये का नुकसान हो चुका है. जिलेभर में कई जगहों पर प्रशासन (District Administration)  की ओर से फौरी राहत के तौर पर नुकसान की भरपाई के लिए पीड़ितों को कुछ नकद राशि भी मुहैया करवाई गई. ये नकद राशि (Cash Amount) पीड़ितों के लिए महज़ ऊंट के मुंह में जीरे के सामान ही रही. बारिश से हुए नुकसान के आकलन के लिए केंद्र से भी एक टीम (Central Team) दौरा करके गई है. जिला प्रशासन केंद्र से राहत राशि मिलने के इंतजार में है.

मानसून से हुए नुकसान के बाद पीड़ितों को प्रशासन की ओर से राहत देने का मरहम लगा दिया गया


पिछले सीजन भी करोड़ों में हुआ था नुकसान

बीते साल के मानसून सीज़न में कांगड़ा में बरसे कहर पर अगर गौर किया जाए तो नुकसान का आंकड़ा तब भी करोड़ों में ही  था. पिछले सीजन भी नुकसान के आकलन (Damage assessment) के लिए केंद्र से टीम आई थी. इसके बावजूद ज्यादातर पीड़ित परिवार मुआवजे की राशि का इंतजार करते रह गए.  ऐसे पीड़ित परिवार अब अपने स्तर से गुजर-बसर करने लगे हैं. अब तक न तो राज्य और न ही केंद्र सरकार द्वारा इन्हें कोई राहत मुहैया करवाई गई है.

इस बार भी मानसून से हुए नुकसान के बाद पीड़ितों को जिला प्रशासन की ओर से राहत देने के नाम पर बहुत कम राशि दी गई है.  इस बार भी केंद्र से आई टीम आकलन करके चली गई, लेकिन राहत राशि कब मिलेगी और कब पीड़ितों के ज़ख्म भरेंगे इसका किसी के पास अभी भी माकूल जवाब नहीं है.

ये भी पढ़ें - दो दिन बाद झील में तैरते मिली मछुआरे की लाश, एनडीआरएफ की टीम ने बाहर निकाला

ये भी पढ़ें - शिमला टाउन हॉल विवाद पर विराम, HC ने सुनाया ऐतिहासिक फैसला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए धर्मशाला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 7, 2019, 2:52 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...