COVID-19: कांगड़ा में कोरोना बेकाबू, 3 दिन में 1937 नए केस, 45 लोगों की मौत

हिमाचल में कोरोना वायरस.

हिमाचल में कोरोना वायरस.

Coronavirus in Kangra: परौर के राधा स्वामी सतसंग भवन में फिलहाल 100 बिस्तरों का अस्पताल गुरुवार से शुरू हो गया है. हालांकि यहां एक हजार बिस्तरों तक की व्यवस्था की जा रही है. ऑक्सीजन की भारी कमी के चलते कांगड़ा जिला के इंदौरा में स्टील प्लांट का काम भी बंद हो गया है.

  • Share this:
धर्मशाला. हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा (Kangra) जिले में कोरोना (Corona Virus) का सबसे ज्यादा कोहराम है. आ बीते तीन दिन में कांगड़ा जिले में 24 मौतें हो चुकी हैं. वहीं, 2 हजार से अधिक केस रिपोर्ट हुए हैं. कांगड़ा (Kangra) में बेहताशा शादियों की वजह से भी कोरोना फैला है. आने वाले एक माह में कांगड़ा में 24 मई तक तीन हजार आवेदन शादियों की परमिशन के लिए प्रशासन को मिले हैं. गुरुवार को कांगड़ा में 17 लोगों की मौत हुई है. वहीं, 610 केस रिपोर्ट हुए हैं. 28 अप्रैल को कांगड़ा में 693 केस और 15 मौतें हुई थी. 27 अप्रैल को कांगड़ा में 13 मौतें और 631 केस सामने आए थे. ऐसे में तीन दिन में कांगड़ा में 1937 केस रिपोर्ट हुए हैं.

कांगड़ा जिले में अकेले अप्रैल माह में ही 7003 मामले कोरोना संक्रमितों के सामने आए हैं. इसके अलावा 122 लोगों की मौत हुई है. इनमें जितने मामले सामने आए हैं, उनमें से अधिकतर लोगों की ट्रेवल हिस्ट्री शादी समारोह में शिरकत करना था. इंदौरा में एक शादी में 300 लोग शामिल हुए थे. यहां तहसीलदार ने चालान काटा है.

शिमला से आगे कांगड़ा

कांगड़ा ने बढ़ते संक्रमण में शिमला को भी पीछे छोड़ दिया है. कांगड़ा में कोरोना संक्रमण के 17,191 मामले हैं. वहीं, मौत का आंकड़ा 364 के पार है. एक्टिव केस 4410 हैं. प्रदेश में फैले संक्रमण के 19 फीसदी मामले केवल जिला कांगड़ा से संबंधित हैं. वहीं, प्रदेश में कोरोना संक्रमण के कारण दम तोड़ने वालों में करीब 24 प्रतिशत लोग कांगड़ा से हैं. प्रदेश में बढ़ते संक्रमण के कारण सक्रिय मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. प्रदेश में इस समय 17 फीसद सक्रिय मामले हैं. जबकि कांगड़ा में 25 फीसद सक्रिय मामले हैं.
क्या हैं व्यवस्थाएं

परौर के राधा स्वामी सतसंग भवन में फिलहाल 100 बिस्तरों का अस्पताल गुरुवार से शुरू हो गया है. हालांकि, यहां एक हजार बिस्तरों तक की व्यवस्था की जा रही है. ऑक्सीजन की भारी कमी के चलते भारत सरकार ने कांगड़ा जिला के इंदौरा में स्टील प्लांट का काम भी बंद कर दिया है. डीसी राकेश कुमार प्रजापति का कहना है कि परौर में उचित प्रबंध कर लिए गए हैं. ऑक्सीजन की भी व्यवस्था की गई है. निजी अस्पतालों में भी कोरोना संक्रमित मरीजों लिए प्रबंध किए गए हैं. एक दो दिन में यह व्यवस्था भी सुचारू कर ली जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज