ओवैसी और सुखबीर बादल को ध्वाला की नसीहत- जमीन खरीदनी हो तो जम्मू कश्मीर जाओ

बीजेपी के वरिष्ठ नेता रमेश ध्वाला ने औवेसी और सुखबीर बादल को जमीन खरीदने के लिए जम्मू कश्मीर जाने को कहा है.

News18 Himachal Pradesh
Updated: August 9, 2019, 6:03 PM IST
ओवैसी और सुखबीर बादल को ध्वाला की नसीहत- जमीन खरीदनी हो तो जम्मू कश्मीर जाओ
रमेश ध्वाला ने कहा कि हम हिमाचल प्रदेश के हितों की रक्षा के लिए अपनी जान की बाजी लगा देंगे.
News18 Himachal Pradesh
Updated: August 9, 2019, 6:03 PM IST
अनुच्छेद 118 पर ओवैसी और सुखबीर बादल के बयान के बाद हिमाचल प्रदेश में इन नेताओं का जमकर विरोध हो रहा है. अब बीजेपी के वरिष्ठ नेता राज्य योजना बोर्ड उपाध्यक्ष रमेश ध्वाला ने इन दोनों नेताओं को नसीहत दी है. ध्वाला ने इन्हें जमीन खरीदने के लिए जम्मू कश्मीर जाने को कहा है. बीते दिनों बिल पर चर्चा करते हुए ओवैसी ने पूछा था कि सरकार बताए कि मैं कब हिमाचल प्रदेश में जमीन खरीद सकूंगा? उसके बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस कर एनडीए सरकार के सहयोगी दल के नेता पंजाब के पूर्व डिप्टी सीएम और सांसद सुखबीर सिंह बादल ने हिमाचल प्रदेश में अनुछेद 118 को हटा जमीन खरीदने के हक की मांग की. जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 और अनुच्‍छेद 35A हटाने के बाद अब वहां देश का कोई भी नागरिक जमीन खरीद सकता है. केंद्र सरकार के इस फैसले का प्र‌भाव हिमाचल प्रदेश पर पड़ने लगा है. कई नेता अब हिमाचल में जमीन खरीदने पर लगाई गई रोक पर सवाल उठा रहे हैं.

ये बोले सुखबीर बादल

हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी के बाद अब पंजाब के पूर्व डिप्टी सीएम और सांसद सुखबीर सिंह बादल ने भी मांग की है कि हिमाचल में जमीन खरीदने पर लगी रोक हटनी चाहिए. अंग्रेजी अखबार ‘द ट्रिब्यून’ की खबर अनुसार, शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर बादल ने कहा कि पंजाब में हर भारतीय बिजनेस और उद्योग लगाने के लिए जमीन खरीद सकता है, लेकिन हिमाचल प्रदेश और कुछ अन्य राज्यों में ऐसा नहीं है. सुखबीर ने कहा कि एक देश के अंदर इस तरह का प्रावधान खत्म होना चाहिए.

असदुद्दीन ओवैसी ने ये कहा

लोकसभा में मंगलवार जम्मू कश्मीर पुनर्गठन बिल पर चर्चा के दौरान असदुद्दीन ओवैसी ने सवाल उठाया और कहा कि क्या वह हिमाचल में एग्रीकल्चर लैंड खरीद सकते हैं? असदुद्दीन ओवैसी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के राष्ट्रीय अध्यक्ष और सांसद भी हैं. वह जम्मू कश्मीर से जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 और धारा 35a हटाने संबधी बिल को लेकर हो रही चर्चा में बोल रहे थे.

अनुच्‍छेद 118 पर भी रमेश ध्वाला की चिंता

ramesh-dhawala-रमेश ध्वाला
रमेश ध्वाला ने कहा कि ये लोग अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35ए की तुलना अनुच्छेद 118 से न करें.

Loading...

राज्य योजना बोर्ड उपाध्यक्ष रमेश ध्वाला ने जम्मू कश्मीर को लेकर अनुछेद 370 व अनुछेद 35ए हटाने के केंद्र सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है. साथ ही हिमाचल में अनुच्‍छेद 118 के प्रावधानों को लेकर ओवैसी और सुखबीर सिंह बादल को भी घेरा. ध्वाला ने कहा कि हम हिमाचल प्रदेश के हितों की रक्षा के लिए अपनी जान की बाजी लगा देंगे. ध्वाला ने कहा कि पंजाब व अन्य प्रदेशों में बड़े बड़े अमीर लोग बैठे होंगे, लेकिन अनुछेद 118 के तहत उनको हिमाचल प्रदेश में जमीन खरीदने की कोई परमिशन नहीं देगा.

हिमाचल में नियमों के तहत ही इंडस्ट्री लगाने के लिए जमीन मिलेगी

ध्वाला ने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कड़ा फैसला लिया है कि हम हिमाचल प्रदेश के लोगों व हितों की रक्षा करेंगे व हिमाचल प्रदेश की भूमि हम नहीं बेचने देंगे. वहीं इन दोनों नेताओं पर पलटवार करते हुए ध्वाला ने कहा कि अगर ये लोग कुछ करना चाहते हैं तो जम्मू कश्मीर जाएं. ध्वाला ने कहा हिमाचल प्रदेश में नियमों के तहत ही इंडस्ट्री लगाने के लिए जमीन मिलेगी.

'अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35ए की तुलना अनुच्छेद 118 से न करें'
ध्वाला ने कहा ये लोग जिस आधार पर कह रहे हैं कि अनुछेद 370 और अनुछेद 35ए हटने से जम्मू कश्मीर के लोगों को आजादी मिली है। वहां लोगों को नोकरी करने का, जमीन खरीदने का और न ही वोट डालने का अधिकार था. लेकिन हिमाचल प्रदेश में ऐसा नहीं है ये लोग अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35ए की तुलना अनुच्छेद 118 से न करें.

(देहरा से ब्रजेश्वर साकी की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें:  आफत की बारिश: शिमला में ल्हासा गिरने से दो पेड़ हुए धड़ाम

15 साल बाद छोटी काशी मंडी पहुंचे दलाईलामा, भव्य स्वागत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए धर्मशाला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 9, 2019, 5:51 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...