लाइव टीवी

मां ज्वाला, मशरूम, फौजी और कांगड़ा पेंटिंग का जिक्रकर PM मोदी बोले-मैं भी हिमाचली हूं

News18 Himachal Pradesh
Updated: November 7, 2019, 6:53 PM IST
मां ज्वाला, मशरूम, फौजी और कांगड़ा पेंटिंग का जिक्रकर PM मोदी बोले-मैं भी हिमाचली हूं
धर्मशाला में पीएम मोदी का स्वागत करती यामी गौतम.

PM Modi in Dharamshala: पीएम (PM Modi) ने कहा कि मैं आज मेहमान नहीं हूं मैं भी एक प्रकार से हिमाचली ही हूं और इ‍सलिए आप मेरे यहां आए हैं, आप सब मेरे मेहमान हैं और मैं आपको विश्‍वास दिलाता हूं कि आप हिमाचल (Himachal Pradesh) की धरती पर अपना नसीब आजमाइए.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) की पहली ग्लोबल इन्वेस्टर मीट (Global Investor Meet) का धर्मशाला में गुरुवार को पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narender Modi) ने आगाज किया. इस दौरान पीएम मोदी ने हिमाचल से अपने रिश्ते का जिक्र किया. उन्होंने हिमाचल के फौजियों की तारीफ की. दोपहर एक बजे पीएम ने संबोधन शुरू किया और कहा कि धर्मशाला (Dharamshala) में इन्वेस्टर मीट  कल्पना नहीं, सच्चाई है. यह अभूतपूर्व है, अद्भुत है. ये हिमाचल प्रदेश का एक स्टेटमेंट है, पूरे देश को, पूरी दुनिया को कि हम भी अब कमर कस चुके हैं. आज हिमाचल कह रहा है- Yes, We Have Arrived, इसलिए सबसे पहले मैं हिमाचल प्रदेश सरकार, जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur)  और उनकी टीम को मां ज्वाला के सानिध्य में इस आयोजन के लिए बहुत-बहुत बधाई देता हूं.

यहां आकर मिलती है ऊर्जा
पीएम ने कहा कि आज हम सभी एक ऐसे स्थान पर एकत्र हुए हैं, जहां कण-कण में शक्ति का वास है, जहां आकर एक नई ऊर्जा मिलती है. देवियों ने, देवताओं ने, ऋषियों ने, तपस्वियों ने इस स्थान को दिव्यता भी दी है और प्राकृतिक संपन्नता का आशीर्वाद भी दिया है. इस वातावरण में आप सभी का स्वागत करते हुए मुझे आनंद हो रहा है.

पीएम ने जताई खुशी

पीएम ने कहा कि मुझे खुशी है कि इसी सोच के साथ हिमाचल प्रदेश सरकार भी कई महत्‍वपूर्ण निर्णय कर रही है. सही दिशा में सरकार भी काम कर रही है. यहां सिंगल विंडो क्लीयरेंस की व्यवस्था का निर्माण हो, लैंड अलॉटमेंट को ट्रांसपेरेंट किया जाना हो या फिर सेक्टर स्पेसिफिक इंडस्ट्री पॉलिसी का गठन, इन कदमों ने यहां के माहौल को बिजनेस फ्रैंडली बना दिया है. हिमाचल जैसे अनेक राज्यों में हो रहे बदलावों की वजह से ही आज भारत की पहचान, पहले से कहीं बेहतर बनी है. हिमाचल प्रदेश के लिए आज हमने जो टूरिज्म सेक्टर को लेकर रैंकिंग की है, उसका सीधा लाभ हिमाचल को मिलने की संभावना है. हिमाचल को लेकर जो कॉफी टेबल बुक रिलीज हुई है या जो फिल्म दिखाई गई है, उसमें हिमाचल की क्षमता को विस्तार दिया गया है.

धर्मशाला: दोपहर एक बजे पीएम ने संबोधन शुरू किया.
धर्मशाला: दोपहर एक बजे पीएम ने संबोधन शुरू किया.


हिमाचल की इन चीजों का किया जिक्र
Loading...

पीएम ने कहा कि मुझे याद है जब मैं सोलन जाता था, तो कई बोर्ड लगे देखता था जैसे- मशरूम सिटी में आपका स्वागत है. इसी तरह लाहौल-स्पीति के आलू, कुल्लू की शॉल, कांगड़ा की पेंटिंग भी तो मशहूर है, लेकिन अक्सर जो लोग बाहर से आते हैं, उन्हें ये कम ही पता होता है. प्रत्येक जिलों को पहचान देने वाली इन चीजों को कैसे प्रमोट किया जाए, इस बारे में भी नए तरीके सोचने की आवश्यकता है. यहां के सेब, नाशपाती, प्लम जैसे फलों से लेकर टमाटर, गुच्छी, मशरूम, शिमला मिर्च जैसी सब्जियों तक की डिमांड है, इसलिए यहां के फूड, फूड प्रोसेसिंग, फार्मिंग और फार्मा सेक्टर में जबरदस्त क्षमता है. यहां हमेशा से ऑर्गेनिक खेती होती रही है. देश की ऐसी शायद ही कोई फार्मा कंपनी हो जो हिमाचल में दवाइयों का उत्पादन ना करती हो. इस सेक्टर के विस्तार के लिए भी यहां खूब संभावनाएं हैं.

विकास की प्रक्रिया तेज हुई
पीएम ने माना कि इन अपार संभावनाओं के बीच, पहले हिमाचल में एक गैप महसूस होता था. यहां जयराम ठाकुर की टीम को अवसर मिला है, तबसे ये प्रकिया और तेज हुई है. आज हिमाचल में इंफ्रास्ट्रक्चर और कनेक्टिविटी से जुड़ी अनेक परियोजनाओं को आगे बढ़ाया जा रहा है. मुझे बताया गया है कि उड़ान योजना के तहत हिमाचल प्रदेश ने हेली-टैक्सी सेवा आरंभ की है. शिमला, धर्मशाला, कुल्लू, चंडीगढ़ इस सुविधा से जुड़ गए हैं. इसके अलावा हजारों करोड़ रुपए के निवेश से नेशनल हाईवेज का भी विस्तार किया जा रहा है. रोहतांग सुरंग का काम पूरा होने का लाभ तो लाहौल-स्पीति और लद्दाख तक को मिलेगा.

धर्मशाला में पीएम मोदी का स्वागत करते हुए सीएम जयराम ठाकुर.
धर्मशाला में पीएम मोदी का स्वागत करते हुए सीएम जयराम ठाकुर.


रेललाइन पर यह बोले पीएम
पीएम ने कहा कि  ‘नंगल डैम-तलवाड़ा’रेल लाइन, ‘चंडीगढ़-बद्दी’रेल लाइन, ‘ऊना-हमीरपुर’ रेल लाइनऔर ‘भानुपल्ली-बिलासपुर-बेरी’ रेल लाइनइस पूरे क्षेत्र की कनेक्टिविटी को नया आयाम देंगी. अगले कुछ वर्षों में देश के इंफ्रास्ट्रक्चर पर100 लाख करोड़ रुपए के निवेश का लाभ हिमाचल को भी मिलने वाला है. हिमाचल, भारत की ग्रोथ स्टोरी को नई रोशनी देने के लिए तैयार है और मेरे इस विश्वास के पीछे हिमाचल की मेरी अपनी समझ है. हिमाचल देश के उन राज्यों में है, जहां लिटरेसी रेट हाई है. हिमाचल के कोने-कोने में आपको व्यापार, व्यवसाय में लगे लोग दिख जाएंगे. वह सरकार का इंतजार नहीं करते. जो भी संसाधन उनके पास होते हैं वो उन्हीं से शुरुआत कर देते हैं. यहां के लोगों के भीतर एक स्वाभाविक उद्यम भावना है, जिसका लाभ निवेशकों को होता है.

हिमाचल के फौजियों की तारीफ
पीएम मोदी ने कहा कि इतना ही नहीं, हिमाचल प्रदेश, देश के रक्षा क्षेत्र की भी बहुत बड़ी ताकत है. यहां का कोई परिवार ऐसा नहीं है जो सैन्य बल न जुड़ा हो. यदि हिमाचल के किसी गांव में जा कर बैठेंगे, क्‍योंकि मेरा यहां काफी अनुभव रहा है, और गांव वालों से बातें करेंगे तो एक प्रकार से आपको वहां लघु भारत मिलेगा. हमारे रिटायर्ड फौजियों के तौर पर हिमाचल प्रदेश के पास उनका अनुभव, बहुत बड़ा स्किल सेट है. अनेक सेक्टर्स के लिए और विशेषकर डिफेंस इंडस्ट्रीज के लिए ये मैन पावर बहुत काम आ सकता है. अंत में पीएम मोदी ने कहा कि आप सभी का मैं समिट में हिस्सा लेने के लिए बहुत-बहुत आभार व्‍यक्‍त करता हूं.

मैं मेहमान नहीं, हिमाचली
अंत में पीएम ने कहा कि मैं आज मेहमान नहीं हूं मैं भी एक प्रकार से हिमाचली ही हूं और इ‍सलिए आप मेरे यहां आए हैं, आप सब मेरे मेहमान हैं और मैं आपको विश्‍वास दिलाता हूं कि आप हिमाचल की धरती पर अपना नसीब आजमाइए, हिमाचल आपको आशीर्वाद देता रहेगा आप फलेंगे-फूलेंगे, बहुत-बहुत प्रगति करेंगे, हिमाचल भी बढ़ेगा, हिन्‍दुस्‍तान भी बढ़ेगा और आप भी बढ़ेंगे.

ये भी पढ़ें: घर का इकलौता चिराग बुझा, कश्मीर में मुठभेड़ में हिमाचली जवान राहुल शहीद

PHOTOS: 12 माह में दूसरी बार धर्मशाला पहुंचे PM मोदी, मां ज्वाला को किया याद

शिमला: चिट्टे के साथ पकड़ी 23 साल की ‌BCA की छात्रा का साथी भी गिरफ्तार

हिमाचल के 10 जिलों में बारिश और बर्फबारी से तापमान गिरा, लेह-मनाली हाईवे बंद

20 दिन बाद मिली लापता महिला, बोली-6 साल छोटे प्रेमी के साथ ही रहूंगी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए धर्मशाला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 7, 2019, 6:16 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...