10 साल से पौंग झील में मछली पकड़ने वाली शकुंतला को नहीं मिला सम्मान
Dharamsala News in Hindi

10 साल से पौंग झील में मछली पकड़ने वाली शकुंतला को नहीं मिला सम्मान
शकुंतला को मछुआरा सम्मेलन में सम्मानित नहीं किया गया

हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले के देहरा में मछुआरों का सम्मेलन आयोजित हुआ. इस सम्मेलन में ग्रामीण विकास, पंचायती राज, पशुपालन एंव मत्स्य मंत्री वीरेंद्र कंवर के मछुआरों के सम्मेलन में भाग लिया.

  • Share this:
हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले के देहरा में मछुआरों का सम्मेलन आयोजित हुआ. इस सम्मेलन में ग्रामीण विकास, पंचायती राज, पशुपालन एंव मत्स्य मंत्री वीरेंद्र कंवर के मछुआरों के सम्मेलन में भाग लिया. कार्यक्रम को चार चांद लगाने के लिए मत्स्य विभाग ने लाखों रुपये पानी की तरह बहा दिया. इस मौके पर सैंकड़ों मछुआरों को धाम भी खिलाई गई. मछली पकड़ने के लिए जाल भी बांटे गए. यहां वीरेंद्र कंवर ने मछुआरों को संपन्न बनाने के लिए जमीन और घर बनाने का ऐलान भी कर दिया. यहां इस घोषणा और तालियों के बीच एक जाबांज महिला मछुआरिन शकुंतला देवी निराश होकर घर लौट गईं. वह यह सोचती रही कि उसे सम्मान मिलेगा और लोग उसका उत्साह बढ़ाने के लिए तालियां बजाएंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ.

शकुंतला कार्यक्रम खत्म हो जाने का इंतजार करती रही लेकिन उसे सम्मान तो दूर मंच से उसका जिक्र तक नहीं किया गया. इससे आहत होकर शकुंतला ने न्यूज़18 हिमाचल को अपनी दुखभरी दास्तां सुना डाली.

शकुंतला बीते 10 सालों से पौंग झील में मछली पकड़ने वाली इकलौती महिला है. इस कार्यक्रम में मछुआरों का उत्साह बढ़ाने के लिए उन्हें जाल वितरित किए गए, लेकिन शकुंतला को ना ही जाल दिया गया और न ही सम्मान. वह अपने पति के साथ सभी नेताओं के आगे पीछे घूमते रहे, लेकिन किसी ने उनकी एक नहीं सुनी. मत्स्य मंत्री वीरेंद्र कंवर ने भी ये बोलकर पल्ला झाड़ लिया कि उनके ध्यान में ऐसा कोई मामला नहीं है.



भटोली फकोरियां की जाबांज महिला शकुंतला देवी ने कहा कि मैं मछलियों को पकड़ने का काम करती हूं. उन्होंने कहा कि मेरे पास मछली पकड़ने का लाइसेंस भी है. शकुंतला देवी ने कहा कि मैं अकेली महिला मछली पकड़ने का काम करती हूं, इसलिए मैं इनाम की हकदार हूं.
(देहरा से ब्रजेश्वर साकी की रिपोर्ट)

यह भी देंखे: VIDEO: पांवटा साहिब में गरीबों की मदद के लिए तैयार की गई ‘नेकी की दीवार’

VIDEO: ऊना के डीसी की अनूठी पहल, सरकारी स्कूल के बच्चों को पढ़ाएंगे अधिकारी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज