• Home
  • »
  • News
  • »
  • himachal-pradesh
  • »
  • कांगडा: आतंकियों से जीता, सिस्टम से हारा सैनिक, दफ्तरों के चक्करों में कटती हैं छुट्टियां

कांगडा: आतंकियों से जीता, सिस्टम से हारा सैनिक, दफ्तरों के चक्करों में कटती हैं छुट्टियां

कांगड़ा के जवान पंकज राणा.

कांगड़ा के जवान पंकज राणा.

बता दें कि पंकज साल 2018 में पुलवामा के त्राल में हुए आंतकी हमले में बुरी तरह से घायल हो गए थे. इस हमले में उनकी दाईं टांग और बाजू में गोली लगी और दूसरी टांग में मोर्टार से घायल हो गए थे. सैनिक के घर पर 2018 में एमपी अनुराग ठाकुर, एलएलए होशियार सिंह और पूर्व मंत्री रविन्द्र रवि भी पंहुचे थे.

  • Share this:
    कांगड़ा. हिमाचल प्रदेश के जिला कांगड़ा की नौशहरा पंचायत में सैनिक परिवार का बेटा आतंकवादियों से तो जीत गया लेकिन सरकारी सरकारी सिस्टम के आगे नतमस्तक है और घर तक एंबुलैंस रोड को पक्का करवाने के लिए हार गया.

    जानकारी के मुताबिक, पंकज राणा वार्ड-3 नौशहरा पंचायत निवासी है. पंकज राणा के मुताबिक, उनके घर तक एंबुलेंस रोड सेंक्शन किया गया, ताकि उन्हें आपात स्थिति में कोई भी मुश्किल ना उठाना पड़ी. नेताओं ने आश्वासन दिया कि तत्काल उनके घर तक कच्चे रास्ते को एबुंलेस रोड के लिए पक्का किया जाएगा, लेकिन आश्वासन कोरे ही रहे गए, एबुलेंस मार्ग पक्का आज दिन तक नही हुआ.
    जवान को मलाल

    जवान को मलाल है कि जब भी वह छुट्टी आते हैं तो अधिकारियों के दफ्तरों के चक्कर काटने में ही उनकी छुट्टी खत्म हो जाती है. घर पर मां अकेली है, वह जा नहीं सकती. पंचायत ने भी आज दिन तक कोई गंभीरता मार्ग को पक्का करने में नही दिखाई. दफ्तरों से हार कर अब मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से हेल्पलाईन के माध्यम से मदद की गुहार लगाई है.

    पंकज की मां शुकुतंला देवी का कहना है कि उनका सैनिक परिवार कच्चे घर में रहता है और पीने के पानी के लिए भी दूर से पानी लाना पड़ता है. एक हैंडपंप तक की मदद नहीं हो पाई है. सरकार मेरे सैनिक बेटे की मदद को आगे आएगी, उन्हें पूरी उम्मीद है.

    सड़क की बदहाली.


    क्या बोली पंचायत

    पंचायत सेक्रेटरी राजेन्द्र गुलेरिया ने इस सदर्भ में बताया कि पंकज राणा के घर तक कच्चे मार्ग को पक्का करके एबुंलेंस मार्ग बनाया जाए इसके लिए मुख्यमंत्री हैल्पलाईन पर इस परिवार ने शिकायत दर्ज करवाई है. इनकी शिकायत पर गंभीरता से छानबीन की जा रही है, ताकि जल्द सैनिक परिवार को लाभ मिले.

    ग्राम उत्थान सेवा समिति नौशहरा आई सैनिक परिवार के पक्ष में

    सदस्य अजय कुमार ने कहा कि सैनिक परिवार की पंचायत को तत्काल एंबुलेंस का पक्का मार्ग बना करके मदद करनी चाहिए और इनके घर में हैंडपंप की व्यवस्था भी करनी चाहिए. बता दें कि पंकज साल 2018 में पुलवामा के त्राल में हुए आंतकी हमले में बुरी तरह से घायल हो गए थे. इस हमले में उनकी दाईं टांग और बाजू में गोली लगी और दूसरी टांग में मोर्टार से घायल हो गए थे. सैनिक के घर पर 2018 में एमपी अनुराग ठाकुर, एलएलए होशियार सिंह और पूर्व मंत्री रविन्द्र रवि भी पंहुचे थे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज