लाइव टीवी
Elec-widget

हिमाचल: जबरन धर्म परिवर्तन का आरोप, कार्यक्रम में हंगामा, पुलिस जांच में जुटी

News18 Himachal Pradesh
Updated: November 18, 2019, 11:00 AM IST
हिमाचल: जबरन धर्म परिवर्तन का आरोप, कार्यक्रम में हंगामा, पुलिस जांच में जुटी
कांगड़ा में हंगामे के बाद मौके पर पहुंचे पुलिस.

Religion conversion in Himachal: हिमाचल प्रदेश में जबरन, झांसे से या प्रलोभन देकर धर्म परिवर्तन करवाना कठोर अपराध (Crime) माना जाएगा. ऐसा अपराध संज्ञेय और गैर-जमानती (Non Bailable) होगा.

  • Share this:
देहरा (कांगड़ा). हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के जिला कांगड़ा (Kangra) के परागपुर की कौलपुर पंचायत में चल रहे यीशु मसीह के विशेष धार्मिक कार्यक्रम में हंगामा हो गया. लोगों ने आरोप लगाया कि धार्मिक कार्यक्रम (Religious Programme) की आढ़ में धर्म परिवर्तन (Religion Conversion) का खेल खेला जा रहा है. दोनों पक्षों में बहसबाजी बढ़ती देख पुलिस बुलाई गई.

क्षेत्रवासियों का आरोप है कि हर माह के दूसरे रविवार को गांव में यमुनानगर से यीशु मसीह से सम्बंधित एक संस्था रोगों के इलाज के नाम पर धर्मांतरण करवाने का खेल पर्दे के पीछे खेल रही है. यह कार्यक्रम पिछले सात वर्षों से चल रहा है. क्षेत्रवासियों ने आरोप लगाया कि समस्या की गंभीरता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि छोटे-छोटे बच्चों को भी इस प्रक्रिया में झोंक दिया गया है, जो कि केवल प्रार्थना से ही असाध्य रोगों के ठीक होने का दावा कर रहे हैं. क्षेत्रवासियों ने सख्त चेतावनी दी है कि क्षेत्र में दोबारा ऐसा होने पर वह चुप नहीं बैठेंगे और उसका कड़ा विरोध किया जाएगा.

यह कहती है आयोजक संस्था
आयोजक संस्था के पदाधिकारी ने बताया कि वह और उसके पति यहां आकर भगवान यीशु मसीह से लोगों के दुख दर्द दूर करने की प्रार्थना करते हैं, जिससे यहां के काफी लोगों को लाभ हुआ है. इलाज के बारे में उन्होंने बताया कि वह केवल भगवान यीशु मसीह से प्रार्थना करते हैं और किसी का भी धर्म परिवर्तन नहीं किया जाता. सुनीता निवासी चामुक्खा, सत्या दवी, कोमल निवासी बंगाणा, देस राज, कुलदीप, जगदीश ने बताया कि वह लोग कई वर्षों से इस आयोजन के साथ जुड़े हैं, लेकिन उन्होंने अपना धर्म परिवर्तन नहीं किया है.

दोनों पक्षों में बहसबाजी बढ़ती देख पुलिस बुलाई गई.
दोनों पक्षों में बहसबाजी बढ़ती देख पुलिस बुलाई गई.


यह बोले डीएसपी ज्वालामुखी
डीएसपी ज्वालामुखी तिलक राज शर्मा ने बताया कि प्राथमिक दृष्टि में धर्म परिवर्तन की बात सामने नहीं आई है, फिर भी मामले की जांच की जा रही है. वहीं, लोगों ने बताया कि माहौल बिगड़ने नहीं दिया जाएगा.
Loading...

हिमाचल में जबरन धर्मांतरण अपराध
हिमाचल प्रदेश में जबरन, झांसे से या प्रलोभन देकर धर्म परिवर्तन करवाना कठोर अपराध माना जाएगा. ऐसा अपराध संज्ञेय और गैर-जमानती होगा. नए कानून में सामान्य श्रेणी के व्यक्ति का जबरन धर्मपरिवर्तन करते हुए पकड़े जाने पर उसे न्यूनतम एक साल और अधिकतम पांच साल सजा होगी. इसी तरह नाबालिग, महिला, एससी या एसटी से संबंधित व्यक्ति का जबरन धर्मपरिवर्तन करवाते हुए कोई पकड़ा जाता है तो उस स्थिति में न्यूनतम सजा दो साल और अधिकतम सात साल सजा का प्रावधान किया गया है.

(ब्रजेश्वर साकी की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें: हिमाचल: सुंदरनगर के बाद सरकाघाट में फेसबुक ID हैककर ठगी की कोशिश

22 साल के जालसाज ने डुप्लीकेट सिम कार्ड से खाते से उड़ाए थे 33 लाख, गिरफ्तार

चरस तस्करी के दोषी को हुई 5 साल कैद, देना होगा 25 हजार जुर्माना भी

तीन दिन से हो रही थी बारिश और बर्फबारी के बाद मनाली में निकली गुनगुनी धूप

डीजल बसों से मुक्त होगा शिमला, CM जयराम को गिफ्ट में इलेक्ट्रिक कार देगा HRTC

हिमाचल प्रदेश: पंडोह डैम के पास कार लुढ़की, तीन की मौत, तीन गंभीर रूप से घायल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए धर्मशाला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 18, 2019, 9:50 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...