लाइव टीवी

शिक्षा मंत्री का ऐलान: हिमाचल में अब दूसरी क्लास से पढ़ाई जाएगी संस्कृत

Bichitar Sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: November 19, 2019, 5:18 PM IST
शिक्षा मंत्री का ऐलान: हिमाचल में अब दूसरी क्लास से पढ़ाई जाएगी संस्कृत
धर्मशाला में बैठक के दौरान शिक्षा मंत्री और अन्य अधिकारी.

500 प्राइमरी स्कूलों में कमरों की कमी के सवाल पर शिक्षा मंत्री ने कहा कि इतनी कमी तो नहीं है, लेकिन जो थोड़ी बहुत कमी है, उस पर कार्य किया जा रहा है. जहां एक कमरा है, वहां दूसरा कमरा एड करने के लिए सरकार प्रयासरत है.

  • Share this:
धर्मशाला: हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में अब दूसरी क्लास (Second Class) से संस्कृत (Sanskrit) पढ़ाई जाएगी. यह जानकारी शिक्षामंत्री सुरेश भारद्वाज (Education Minister Suresh Bhardwaj) ने दी है. फिलहाल, छठी कक्षा से सूबे के स्कूलों में संस्कृत पढ़ाई जाती है.

धर्मशाला (Dharamshala) में मंगलवार को शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड की बैठक में शैक्षणिक विषयों पर विशेष रूप से विचार किया गया. प्रदेश में गुणवत्तापूर्ण व संस्कारयुक्त शिक्षा मिले, इसके लिए सिलेबस में परिवर्तन किया जाए. शिक्षा मंत्री ने बताया कि संस्कृत को दूसरी कक्षा से शुरू करने के लिए सिलेबस को स्वीकृति प्रदान की गई. शतरंग और योग का सिलेबस, जिसे एससीईआरटी सोलन ने बनाया है, को भी अप्रूव किया गया है.

ये भी बदलाव किए गए
शिक्षा मंत्री ने कहा कि आजकल बहुत से स्कूल डम्मी एडमिशन करते हैं और बच्चे बाहर जाते हैं. ऐसे कार्यों को रोकने के लिए शिक्षा बोर्ड सर्विलांस कमेटी बनेगी और कोई विद्यालय ऐसी गतिविधियों में संलिप्त पाया तो उसकी संबद्धता रद्द कर दी जाएगी. इसके अतिरिक्त जहां पहले 40 बच्चों पर एक इनविजिलेटर लगाया था, अब 25 बच्चों पर एक इनविजिलेटर रखा जाएगा. ऐसा इसलिए किया गया है कि क्योंकि कई स्कूलों में कमरे छोटे होते हैं, जिनमें 40 बच्चे नहीं बैठ पाते हैं.

3 करोड़ रुपये की बचत
शिक्षा मंत्री ने बताया कि प्रिंटिंग के टेंडर में इस मर्तबा अच्छा कागज लेकर पिछले वर्षों की अपेक्षा 3 करोड़ रुपये की बचत की गई है, जो कागज पहले 77 हजार रुपये प्रति मीट्रिक टन लिया जाता था, उसे इस वर्ष 69 हजार प्रति मीट्रिक टन लिया गया है. इसके अतिरिक्त अन्य परीक्षा संबंधी विषयों पर विचार किया गया. शिक्षा मंत्री ने बताया कि स्कूलों में शिक्षा का स्तर अच्छा हो, इसके लिए भी शैक्षणिक कमेटी की बैठक में जो निर्णय लिए गए, उन्हें अप्रूण किया गया है. इसके अतिरिक्त प्रार्थना सभा में बदलाव करने सहित बैग-फ्री डे पर विद्यार्थियों को क्या-क्या किया जाए, इस बारे में विद्यार्थियों को बताने का निर्णय लिया गया.

कमरों की कमी पर ये बोले मंत्री500 प्राइमरी स्कूलों में कमरों की कमी के सवाल पर शिक्षा मंत्री ने कहा कि इतनी कमी तो नहीं है, लेकिन जो थोड़ी बहुत कमी है, उस पर कार्य किया जा रहा है. जहां एक कमरा है, वहां दूसरा कमरा एड करने के लिए सरकार प्रयासरत है.

ये भी पढ़ें: हिमाचल का 22 वर्षीय जवान सियाचीन ग्लेशियर में शहीद, 2 साल पहले हुआ था भर्ती

हिमाचल पुलिस के जवान सहित चिट्टे के साथ चार युवक गिरफ्तार

कैबिनेट विस्तार पर मंथन: CM जयराम दिल्ली रवाना, अमित शाह और नड्डा से मिलेंगे

प्रदूषण से राहत के लिए शिमला पहुंची प्रियंका वाड्रा ने पति संग निहारी वादियां

पूर्व CM वीरभद्र के भतीजे के मर्डर केस में हरमेहताब दोषी करार, सजा का ऐलान कल

VIDEO: जान जोखिम में डाल माइनस डिग्री में सड़क बहाल करने में जुटे BRO के जवान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए धर्मशाला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 19, 2019, 5:11 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर