VIDEO: ज्वालामुखी में एक हफ्ते में दूसरी बार मिला 15 फीट लंबा अजगर, गांव में दहशत

ज्वालामुखी में निकला अजगर.
ज्वालामुखी में निकला अजगर.

Python in Jawalamukhi: वन कर्मियों की एक टीम बनाकर अजगर को रेस्क्यू किया गया और उसे घने जंगलों में आबादी से दूर छोड़ा गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 28, 2020, 12:57 PM IST
  • Share this:
ज्वालामुखी (कांगड़ा). हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा (Kangra) जिले में ज्वालामुखी उपमंडल में एक सप्ताह में दूसरी बार अजगर (Python) मिलने से दहशत का माहौल है. हालांकि, वन विभाग की टीम ने अजगर को पक़ड़कर जंगल (Jungle) में छोड़ दिया है, लेकिन ग्रामीणों में दहशत फैली हुई है. इससे पहले यहां कुत्ते को निगलते हुए एक अजगर का वीडियो वायरल हुआ था. बाद में वन विभाग की टीम ने इस अजगर को पक़ड़कर जंगल में छोड़ा था. लेकिन अब एक दूसरा अजगर मिलने से डर का आलम है.

घर के पास पहुंच गया था
जानकारी के अनुसार, अब ज्वालामुखी के साथ लगती ग्राम पंचायत धनोट के बसदी गांव में 15 फीट लम्बा अजगर रिहायशी मकानों के पास खेत में आ पहुंचा. अजगर को देख आस पास के ग्रामीणों की सांसे फूल गई. इसके बाद वन विभाग को सूचना दी गई. इस पर वन विभाग ने तुंरत कार्यवाही करते हुए वन टीम डिप्टी रेंजर भूपिंदर सिंह भड़ोली, डिप्टी रेंजर राजेश कुमार जवालामुखी, विनोद कुमार फारेस्ट गार्ड अधवानी ने मौके पर पहुंच कर अजगर को पकड़ने की मुहिम चलाई. बड़ी मश्क्कत के बाद रेस्क्यू ऑपेरशन चलाकर अजगर को कब्जे में लेकर उसे वन टीम द्वारा जंगल मे सुरक्षित छोड़ दिया गया. इसके बाद ग्रामीणों ने राहत की सांस ली.

जंगल में जाकर छोड़ा
गौरतलब है कि अजगर निकलने से आसपास के घरों में दहशत का माहौल उत्पन्न हो गया था और कई गांववासी वहां इकठ्ठे हो गए. हालांकि, अजगर ने किसी को नुकसान नहीं पहुंचाया, लेकिन अगर अजगर घरों में घुस जाता तो आफत हो सकती थी. वन विभाग के वन खण्ड अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि दूरभाष पर धनोट के बसदी गांव से अजगर निकलने की सूचना प्राप्त हुई थी. वन कर्मियों की एक टीम बनाकर अजगर को रेस्क्यू कर लिया गया और उसे घने जंगलों में आबादी से दूर छोड़ा गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज