लाइव टीवी

खुद को बड़ा कलाकार समझने वाले देश के टुकड़े करने वालों के साथ खड़े हैं: अनुराग ठाकुर

News18 Himachal Pradesh
Updated: January 14, 2020, 6:43 PM IST
खुद को बड़ा कलाकार समझने वाले देश के टुकड़े करने वालों के साथ खड़े हैं: अनुराग ठाकुर
अनुराग ठाकुर ने कहा कि सिटिजनशिप अमेंडमेंट एक्ट नागरिकता देने का कानून है ना कि नागरिकता छीनने का.

अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) ने जनता को संबोधित करते हुए कहा कि सिटिजनशिप अमेंडमेंट एक्ट (CAA) को झूठ बोलकर कई भ्रम व अफवाहों को फैलाने का काम किया जा रहा है. यह कहा जा रहा है कि अल्पसंख्यक लोगों यानि मुसलमान भाइयों की नागरिकता छीन ली जाएगी. अनुराग ठाकुर ने कहा कि यह सरासर झूठ है.

  • Share this:
धर्मशाला. देश के प्रथम धरोहर गांव परागपुर में राज्यस्तरीय लोहड़ी पर्व 2020 का दो दिवसीय सांस्कृतिक कार्यक्रम शुरू हो गया है. इस कार्यक्रम में शिरकत करने सांसद व केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) ने मुख्त अतिथि के बतौर भाग लिया. इस दौरान उद्योग मंत्री बिक्रम ठाकुर (Bikram Thakur) ने भी सभी को लोहड़ी की बधाइयां दी. कार्यक्रम की प्रथम सांस्कृतिक संध्या में मशहूर गायकों बाबा हंसराज रघुवंशी, कुलदीप शर्मा व करनैल राणा ने समय बांधा. कुलदीप शर्मा ने केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर व उद्योग मंत्री बिक्रम ठाकुर को भी नाचने पर मजबूर कर दिया. इस अवसर पर अनुराग ठाकुर ने जनता को संबोधित करते हुए कहा कि सिटिजनशिप अमेंडमेंट एक्ट (CitizenShip Amendent Act) को झूठ बोलकर अफवाह को फैलाने का काम किया जा रहा है. यह कहा जा रहा है कि अल्पसंख्यक लोगों यानि मुसलमान भाइयों की नागरिकता छीन ली जाएगी. अनुराग ठाकुर ने कहा कि यह सरासर झूठ है.

'सिटिजनशिप अमेंडमेंट एक्ट नागरिकता देने का कानून है'

अनुराग ठाकुर ने कहा कि सिटिजनशिप अमेंडमेंट एक्ट नागरिकता देने का कानून है ना कि नागरिकता छीनने का. अनुराग ठाकुर ने कहा कि यह कानून उनके लिए बना है जो पाकिस्तान, अफगानिस्तान व बांग्लादेश में आजादी के समय वहां पर रह गए थे. हिन्दू, सिख, बौद्ध, जैन, ईसाई, पारसी जिनको मजबूर किया जाता है अपना धर्म बदलने को, इस्लाम कबूल करने को, जिनकी बहन बेटियों की इज्जत लूटने का काम किया जाता है. शादी के बाद जिनकी पत्नियों को उठाकर ले जाते हैं और उनकी जबरदस्ती शादी मुसलमान से करवाकर कहते हैं कि इस्लाम धर्म बदलो नहीं तो मार दिए जाओगे.

'72 सालों में किसी ने कुछ नहीं किया'

अनुराग ठाकुर ने कहा कि वो लोग उस देश को छोड़कर अपने देश हिन्दोस्तान आए हैं. अनुराग ठाकुर ने कहा कि 72 साल पहले महात्मा गांधी, पंडित जवाहर लाल नेहरू, सरदार पटेल व राजेन्द्र प्रसाद ने कहा था कि अगर इनको धर्म के नाम पर प्रताड़ित किया जाएगा तो हिन्दोस्तान उनको नागरिकता देगा. अनुराग ठाकुर ने कहा कि 72 सालों में किसी ने नहीं कुछ नहीं किया, लेकिन आपने नरेंद्र मोदी को अवसर दिया तो उन्होंने यह करके दिखा दिया है.

'जेएनयू में कुछ छात्र देश के सैनिकों की शहादत पर जश्न मनाते हैं'

उन्होंने कहा कि जेएनयू में कुछ कम्युनिस्ट छात्र संगठन के सदस्य देश के सैनिकों की शहादत पर जश्न मनाते हैं. उन्होंने कहा कि अफजल गुरू व याकूब मेमन को शहीद बताने का काम किया जा रहा है. अनुराग ठाकुर ने कहा कि एक ओर देश के टुकड़े करने के नारे लगाए जा रहे हैं, आज वही लोग हजारों छात्रों को पढ़ने से रोक रहे हैं. जेएनयू में पढ़ने वालों की सालाना फीस 108 रुपये है और हॉस्टल की फीस 20 रुपये है. उन्होंने कहा कि जब बच्चों ने वहां एडमिशन कराया तो उनको मारा गया और सर्वर तोड़ दिए गए.देश में अराजकता फैलाने का काम कुछ गिने चुने लोग कर रहे हैं : अनुराग

उन्होंने कहा कि देश में अराजकता फैलाने का काम कुछ गिने चुने लोग कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि जो अपने आप को बड़ा कलाकार कहते हैं, उनके चेहरे भी बेनकाब होंगे. देश के बड़े कलाकार कहाने वाले देश के टुकड़े करने वालों के साथ खड़े हो गए हैं. अनुराग ठाकुर ने कहा कि हम टुकड़े करने वालों के साथ खड़े नहीं हो सकते हम देश को एकजुट करने वाले हैं.

यह भी पढ़ें: देर आए पर, फिर भी दुरुस्त नहीं आए! सरकारी राशन डिपो में पहुंचा प्याज महंगा

नशे का नेटवर्क चलाने वाला राजेश गिरफ्तार, पुलिस को थी काफी समय से तलाश

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए धर्मशाला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 14, 2020, 6:40 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर