3.5 करोड़ रुपये से संवरेगा माँ बगलामुखी मंदिर, टूरिज्म विभाग ने सर्वे किया

भारत में मां बगलामुखी के तीन ही प्रमुख ऐतिहासिक मंदिर हैं, जो क्रमशः दतिया (मध्यप्रदेश), कांगड़ा (हिमाचल) तथा नलखेड़ा (मध्यप्रदेश) में हैं. तीन मुखों वाली त्रिशक्ति माता बगलामुखी का एक मंदिर आगरमालवा जिला में नलखेड़ा में लखुंदर नदी के किनारे है. मां बगलामुखी रावण की ईष्टदेवी हैं.

News18 Himachal Pradesh
Updated: July 25, 2019, 5:18 PM IST
3.5 करोड़ रुपये से संवरेगा माँ बगलामुखी मंदिर, टूरिज्म विभाग ने सर्वे किया
कांगड़ा का बगलामुखी मंदिर.
News18 Himachal Pradesh
Updated: July 25, 2019, 5:18 PM IST
सिद्धपीठ माँ बगलामुखी मंदिर को संवारने के लिए साढ़े तीन करोड़ रुपये का प्रावधान हो गया है, जिसके लिए टूरिज्म विभाग की टीम ने माँ बगलामुखी मंदिर की पुरानी विरासत को खंगाला है.

देहरा के विधायक होशियार सिंह की अगुवाई में ईको टूरिज्म विभाग के एक्सीयन देवेंद्र चौहान, आर्किटेक्ट सुशील शर्मा, एसडीएम देहरा धनवीर ठाकुर, डीएफओ देहरा राजकुमार डोगरा ने निरीक्षण कर रिपोर्ट तैयार की और यथास्थिति को कैमरे में भी कैद किया. अब यह उम्मीद जताई जा रही है कि साढ़े तीन करोड़ रुपये से मंदिर का कायाकल्प हो जाएगा, जिसमें मंदिर में हवन कुंड, सफाई व्यवस्था, धर्मशाला, पार्किंग, रेन शेल्टर, पार्क, शनानागार, शौचालय, फाउंटेन लगाने का प्रावधान है.

ये बोले विधायक
निर्दलीय विधायक होशियार सिंह ने कहा कि प्राचीन बगलामुखी मंदिर में टूरिज्म विभाग से निरीक्षण करने टीम आई थी. उन्होंने कहा कि साथ में डीएफओ देहरा व एसडीएम देहरा भी यहां आए थे. उन्होंने कहा कि टीम यहां साइट का निरीक्षण करने आई है. उन्होंने कहा कि साढ़े तीन करोड़ रुपये यहां खर्च होने हैं.

मंदिर के लिए बहुत बड़ी उपलब्धि
विधायक ने कहा कि ये इस इलाके और मंदिर के लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है. उन्होंने कहा कि लाखों श्रद्धालु यहां पहुंचते हैं, इसलिए मंदिर का सौन्दर्यकरण करना बहुत जरूरी है. इसमें मंदिर में हवन कुंड, सफाई व्यवस्था, धर्मशाला, पार्किंग, रेन शेल्टर, पार्क, श्नानानागार, शौचालय, फाउंटेन लगाने का प्रावधान है

देर भर में तीन ही मंदिर, रावण की ईष्टदेवी हैं मां बगलामुखी
Loading...

भारत में मां बगलामुखी के तीन ही प्रमुख ऐतिहासिक मंदिर हैं, जो क्रमशः दतिया (मध्यप्रदेश), कांगड़ा (हिमाचल) तथा नलखेड़ा (मध्यप्रदेश) में हैं. तीन मुखों वाली त्रिशक्ति माता बगलामुखी का एक मंदिर आगरमालवा जिला में नलखेड़ा में लखुंदर नदी के किनारे है. मां बगलामुखी रावण की ईष्टदेवी हैं.

ये भी पढ़ें: हिमाचल: खुदाई में निकले पानी पर तैरने वाले ‘रामसेतु’ पत्थर

PHOTOS:हिमाचली जवान का अंतिम संस्कार, बेटों ने दी मुखाग्नि

गाड़ी के चक्कर में हमीरपुर के पूर्व फौजी ने लुटाए 14.62 लाख

हिमाचल में बारिश का दौर शुरू, अब भी 38 फीसदी कम बरसे बादल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए धर्मशाला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 25, 2019, 5:12 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...