धर्मशाला: परिजनों ने शहीद के पार्थिव शरीर के साथ आया तिरंगा प्रशासन को लौटाया
Dharamsala News in Hindi

धर्मशाला: परिजनों ने शहीद के पार्थिव शरीर के साथ आया तिरंगा प्रशासन को लौटाया
डीसी कांगड़ा को तिरंगा लौटाते हुए परिजन.

Dharamshala ITBP Martyred Jawan: परिजनों ने बेटे (Son) के नाम पर अपने क्षेत्र में ख़ुद के खर्च से आंगनबाड़ी केंद्र खोलने की भी डीसी (DC) से इजाज़त मांगी है.

  • Share this:
धर्मशाला. हिमाचल प्रदेश (Himachal) के कांगड़ा जिले में धर्मशाला (Dharamshala) विधानसभा की टंग पंचायत के उथड़ा गांव के देश राज के छोटे पुत्र रजनीश आईटीबीपी (ITBP) जवान थे. 31 जुलाई 2017 को शहीद हो गए थे. उस वक़्त उनकी पार्थिव देह के साथ जो तिरंगा (Tricolor) लाया गया था. परिजनों ने उस तिरंगे को सम्मान के साथ जिलाधीश (DC) राकेश प्रजापति के हवाले कर दिया है.

यह है मामला

इस पूरे मामले को लेकर वीर सपूत रजनीश के पिता देश राज कहते हैं कि बीते 3 सालों से ये तिरंगा उनके घर पर रखा था, जिसकी घर में सही रखरख़ाव न हो पाने की चिंता उन्हें हमेशा सताती रहती थी. दरअसल तिरंगे को घर पर वो मान-सम्मान नहीं मिल पा रहा था, जो उसे मिलना चाहिये. यही वजह है कि आज उन्होंने दिल पर पत्थर रखकर आज इस तिरंगे को सरकार के सपुर्द करने का मन बना लिया है और जिलाधीश राकेश प्रजापति को ये सौंप दिया गया है.



आंगनबाड़ी केंद्र खोलने की इजाज़त
साथ ही अपने बेटे के नाम पर अपने क्षेत्र में ख़ुद के खर्च से एक आंगनबाड़ी केंद्र खोलने की इजाज़त मांगी है, ताकि उस आंगनबाड़ी में पढ़ने वाले भावी कर्णधार देश-प्रदेश के वीर सपूतों की गाथाओं को भी सुन कर आत्मसात कर सकें. उनकी अगर ये मांग पूरी होती है तो उनके बेटे की आत्मा को शांति मिलेगी और उन्हें सुकून हासिल होगा. इस दौरान धर्मशाला के विधायक विशाल नैहरिया भी मौके पर मौजूद रहे.

डीसी कांगड़ा के साथ परिजन और साथ में हैं स्थानीय विधायक नैहरिया.


क्या बोले विधायक नैहरिया

विधायक विशाल नैहरिया ने कहा कि इन्होंने जो मांग रखी है कि शहीद बेटे की याद में ख़ुद की धन राशि से आंगनबाड़ी भवन का निर्माण करना चाहते है, ताकि आगामी भविष्य में बच्चों को भी प्रेरणा मिल सके इस के लिए यह परिवार पूरी तरह से बधाई का पात्र है. जिलाधीश राकेश प्रजापति ने भी शहीद के परिजनों का आदर सत्कार करते हुये उनकी मांग को गौर से सुना है और इस दिशा में तुरन्त फ़ैसला लेने की भी बात कही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज