Lockdown: कांगड़ा में दो सगी बहनों की एक ही गांव और एक ही मंडप में हुई शादी
Dharamsala News in Hindi

Lockdown: कांगड़ा में दो सगी बहनों की एक ही गांव और एक ही मंडप में हुई शादी
ज्वालामुखी इलाके में हुई दो बहनों की शादी.

Lock down Marriage in Kangra: दूल्हे के भाई राजकुमार और मामा दीप कुमार ने बताया कि शादी सादगी से की गई और सोशल डिस्टेंस को अपनाया गया.

  • Share this:
ज्वालामुखी (कांगड़ा). कोरोना संक्रमण (Coronavirus) के चलते जहां हर जगह पाबंदिया लग गई हैं. वहीं शादी (Marriage) समारोह भी बहुत सादगी से निभाये जा रहे हैं. मई जून के माह में होने वाली शादियां बिना बारात व धामों के संपन्न हो रही हैं. ताजा मामला कांगड़ा (Kangra) जिले के ज्वालामुखी इलाके का है. इसी के चलते चंगर क्षेत्र में लगड़ू की दो सगी बहनों की शादी एक ही मंडप में एक ही गांव में सम्पन्न हुई.

एक ही साथ उठी डोली
दोनों बहनों विपना और दीपिका पुत्रियाँ मिलाप चंद निवासी लगड़ू की शादी गांव नाहलियाँ से हुई. विपना की शादी विजय कुमार पुत्र प्रीतम चंद निवासी नाहलियाँ और दूसरी बहन दीपिका की शादी सुनील कुमार पुत्र मिलखी राम निवासी नाहलियाँ के साथ संपन्न हुई. इस दौरान दोनों की डोली एक साथ विदा हुई.

दोनों की शादी में पहुंचे केवल 10 दस लोग
दोनों तरफ के दूल्हे 5 बारातियों को लेकर एक एक गाड़ी में शादी करने के लिए पहुंचे थे. शादी की रस्में निभाई गई, पर कोई धाम, डीजे, फोटोग्राफर और हलवाई नही बुलाये गए थे. बिल्कुल सादगी से दोनों बहनों की डोली लगड़ू में रवाना हुई. इसके साथ ही दोनों दूल्हों और दुल्हनों ने मास्क व सोशल डिस्टनेंस का भी पूरा पूरा ध्यान रखा.



केवल ये हुए शामिल
दूल्हे के भाई राजकुमार और मामा दीप कुमार ने बताया कि शादी सादगी से की गई और सोशल डिस्टेंस को अपनाया गया. शादी में सिर्फ दूल्हे के चाचा, भाई, पिता आदि ही शामिल हुए. सुबह आयी बारात दोपहर बाद ही नाहलियाँ लौट आई और सभी ने दुल्हनों का स्वागत किया पर कोई भी भीड़ इकठी नहीं की गई.

यह बोले एसडीएम
एसडीएम अंकुश शर्मा ने भी बताया कि वे जब चंगर क्षेत्र में निरीक्षण पर थे, तभी उन्होंने दो गाड़ियों में नाहलियाँ में बापिस आती हुई बारात देखी और सभी ने सोशल डिस्टनेंस का पालन किया और मास्क का भी प्रयोग किया था और 5 लोगों के साथ शादी सम्पन्न हुई. बता दें कि कोरोना के कारण सबकुछ बदल गया है शादी, समारोह और भी कार्यक्रम बिना शोर शराबे के और सोशल डिस्टनेंस से निभाये जा रहे हैं और चंगर व ग्रामीण क्षेत्र के लोग भी इसकी सही से अनुपालना करते नजर आ रहे हैं.

ये भी पढ़ें: मंडी: 16 साल से लापता था शख्स, लॉकडाउन ने पहुंचाया घर, परिवार की आंखें हुई नम

COVID-19: पंजाब से शिमला लौटी महिला की अस्थमा से मौत, सैंपल की जांच नेगेटिव

कांगड़ा: ट्रक और सूमों में आमने-सामने से भिड़ंत, दो युवकों की मौत
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज