Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    हिमाचल को ‘ड्रग्स मामले’ में घसीटने पर मिले लीगल नोटिस का अभिनेत्री उर्मिला मांतोड़कर ने दिया ये जवाब

    उर्मिला मातोंडकर (फाइल फोटो)
    उर्मिला मातोंडकर (फाइल फोटो)

    वकील विश्व चक्षु ने कहा कि वह अब कोर्ट में केस नहीं करेंगे, लेकिन आगामी समय में भी उन्हें शब्दों को सही से प्रयोग करने की मशवरा अवश्य देंगे.

    • News18Hindi
    • Last Updated: October 15, 2020, 8:22 AM IST
    • Share this:
    धर्मशाला. देवभूमि व वीरभूमि हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के धर्मशाला (Dharamshala) से ताल्लुक रखने वाले एडवोकेट विश्व चक्षु द्वारा भेजे गये लिगल नोटिस का बॉलीवुड अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर (Urmila Mantodkar) ने जबाव भेज दिया है. अपने जबाव में उन्होंने मामले पर सफाई पेश की है. अभिनेत्री उर्मिला मांतोडकर ने अपने लीगल (Legal) एक्सपर्ट के जरिये धर्मशाला से भेजे गये लीगल नोटिस के जबाव में है कि उन्होंने कहा है कि हिमाचल पवित्र और महान राज्य है. हिमाचल प्रदेश और यंहा के लोगों के खिलाफ उन्होंने कोई भद्दी टिप्पणी नहीं की है और न ही निंदा करने वाला बयान दिया है.

    क्या कहा उर्मिला ने
    अभिनेत्री उर्मिला ने कहा कि उनका हिमाचल के भोले-भाले लोगों को आहत करने का कोई इरादा नहीं था. उर्मिला ने अपने ब्यान के स्पष्टीकरण में एडवोकेट विश्व चक्षु को स्पष्ट किया है कि उनके ब्यान का इरादा समाज के असमाजिक तत्वों व ड्रग माफिया को लेकर था, जोकि देश की युवा पीढ़ी को नशे की गर्त में धकेल रही है. उन्होंने स्पष्ट किया है कि हिमाचल के लोगों की भावनाओं को वह बिलकुल भी ठेस नहीं पहुंचाना चाहती थी. गौर हो कि एडवोकेट विश्व चक्षु ने ड्रग से जोड़कर हिमाचल पर दी गई टिपणी पर उर्मिला को कानूनी नोटिस भेजा था. इसके बाद दो हफ़्ते के अंदर उर्मिला मातोंडकर ने अपने अधिवक्ता के माध्यम से जबाव भी भेज दिया है.

    धर्मशाला के वकील विश्व चक्षु ने भेजा था लीगल नोटिस.

    क्यों भेजा था नोटिस


    बॉलीबुड में ड्रग को लेकर छिड़े विवाद को लेकर अभिनेत्री उर्मिला मातोड़कर ने कंगना रानौत पर निशाना साधते हुए एक बयान दिया था, जिससे समूचे प्रदेश भर में अभिनेत्री के ख़िलाफ़ लोगों में आक्रोश था, इसी बात को लेकर देवभूमि-वीरभूमि हिमाचल के धर्मशाला से अधिवक्ता विश्व चक्षु ने कानूनी नोटिस भेजा था. इसी के जबाव में उर्मिला मातोंडकर ने अपने बयान को लेकर स्पष्टीकरण दिया है. उन्होंने स्पष्ट किया है कि हिमाचल प्रदेश, यंहा के लोगों व उनकी विश्वसनीयता को पूरे विश्व की नज़रों में गिराने का कोई इरादा नहीं था. उर्मिला ने कहा कि बयान में हिमाचल को लेकर कोई आपत्तिजनक बात नहीं कही थी, जिससे कि पवित्र राज्य के पर्यटन को कोई नुकसान पहुंचे. उन्होंने कहा कि उनकी नज़र में देश के सभी राज्यों सहित हिमाचल भी पवित्र राज्य है.

    केस नहीं करूंगा: वकील
    अधिवक्ता विश्व चक्षु का कहना है कि हिमाचल को लेकर दिए गए बयान से पूरे राज्य के लोग आहत थे, जिसे लेकर लीगल नोटिस भेजा गया था. उर्मिला मातोंडकर ने बयान को लेकर जबाब दिया है, जिसमें उन्होंने हिमाचल को महान व पवित्र राज्य कहते हुए कहा है कि यंहा लोगों की भावनाओं, पर्यटन, पवित्रता व विश्वसनीयता को आहत करने का उनका कोई इरादा नहीं था. विश्व चक्षु ने कहा कि वह अब कोर्ट में केस नहीं करेंगे, लेकिन आगामी समय में भी उन्हें शब्दों को सही से प्रयोग करने की मशवरा अवश्य देंगे.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज