लाइव टीवी
Elec-widget

आंगन में जलाया महिला का शव: राष्ट्रीय अवॉर्ड से सम्मानित कुठेहड़ पंचायत पर बड़ा कलंक!

Bichitar Sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: November 25, 2019, 11:28 AM IST
आंगन में जलाया महिला का शव: राष्ट्रीय अवॉर्ड से सम्मानित कुठेहड़ पंचायत पर बड़ा कलंक!
कांगड़ा के ज्वाली महिला का शव आंगन में जला दिया गया. (FILE PHOTO)

Women Death in Kangra: दरअसल, 32 साल की ऊषा की बीते सप्ताह संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई. मर्डर (Murder) के आरोप में सास, ससुर और पति को गिरफ्तार (Arreste) कर सलाखों के पीछे हैं.

  • Share this:
धर्मशाला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के कांगड़ा के ज्वाली (Jawali) में घर को श्मशान बनाकर समाज को कलंकित करने के मामले ने देवभूमि को शर्मसार कर दिया है. बता दें कि शनिवार को ज्वाली की कुठेहड़ पंचायत में 32 साल की ऊषा की लाश (Dead) को उसके परिजनों ने ससुरालियों के आंगन में जला दिया था. इस मामले में पुलिस ने परिजनों पर भी मामला दर्ज किया है. महिला की हत्या (Women Murder) के आरोप में ससुराली पहले ही जेल में बंद हैं.

देश भर में अव्वल पंचायत पर लगा कलंक
देश की ढाई लाख पंचायतों में अव्वल सूची में शुमार ज्वाली की कुठेहड़ पंचायत की हालत भी इन दिनों कुछ ऐसी ही हो चुकी है. कुठेहड़ पंचायत ने कड़ी मेहनत के बलबूते ख़ुद को देश और प्रदेश में आदर्श श्रेणी में लाकर खड़ा किया है. पंचायत को उत्कृष्ठ कार्यों के लिए एक स्टेट तो 2 नेशनल अवॉर्ड मिल चुके हैं. पंचायत की प्रधानगी साल 1945 से लेकर अब तक एक ही परिवार के पास है. शायद ही देश में ऐसी कोई पंचायत होगी, जहां पत्नी पंचायत की प्रधान, पति उपप्रधान और भाई पंचायत समिति मेम्बर होगा. बावजूद इसके यहां एक विवाहिता की संदिग्ध मौत और उसके बाद उसके शव के साथ हुई ज़्यादती ने इस पंचायत के माथे पर वो बदनुमा दाग लगाया है, जिसे शायद ही कोई धो पाएगा. यहां के उपप्रधान सुशील कुमार इसे पंचायत के ख़िलाफ़ राजनीतिक षड्यंत्र करार दे रहे हैं.

घटना के बाद मौके पर जुटी भीड़.
घटना के बाद मौके पर जुटी भीड़.


खौफ में इलाके के लोग
इस पूरे घटनाक्रम के लिए कौन जिम्मेदार है ये तो कानून तय करेगा, लेकिन इस पूरी घटना से कुठेहड़ वासी ख़ौफ़ में हैं. ये वो लोग हैं जो भूत-प्रेत और आत्माओं के अस्तित्व से भी जुदा नहीं, और अब इस ग़लती से सबक लेने और मृतक विवाहिता की सामाजिक रीति-रिवाजों के मुताबिक गति करवाने की भी बातें कह रहे हैं.बाकायदा घटनास्थल पर हवन-पाठ करवाने की भी चर्चा हो रही है, ताकि मृतक विवाहिता की आत्मा को शान्ती मिल सके और स्थानीय लोग भी सुकून से रह सकें.

कांगड़ा के ज्वाली में मौके पर महिलाएं.
कांगड़ा के ज्वाली में मौके पर महिलाएं.

Loading...

यह है पूरा मामला
दरअसल, 32 साल की ऊषा की बीते सप्ताह संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई. मर्डर के आरोप में सास, ससुर और पति को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे हैं. वहीं, असमाजिक तौर-तरीकों और कानून को गुमराह करने के आरोप में पीड़ित पक्ष की ओर से 22 लोगों के ख़िलाफ़ भी जांच बिठा दी गई है, जिसमें पुलिस कर्मी भी शामिल हैं. विमुक्त रंजन, SP, कांगड़ा ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है और पुलिस कर्मियों से भी जवाब मांगा गया है. पुलिस कर्मियों की लापरवाही भी सामने आई है.

ये भी पढ़ें: हिमाचल कांग्रेस के सीनियर लीडर धामी का निधन, दो दिन पहले मनाया था बर्थडे

किन्नौर में आधी रात को SBI का ATM काटा रहा ITBP जवान और साथी गिरफ्तार

पर्यटन नगरी मनाली में सुहावना हुआ मौसम, पर्यटकों के आने से कारोबारी खुश

CM ने किया अल्ट्रा मॉडर्न बस अड्डे का उद्घाटन, मिलेंगी एयरपोर्ट जैसी सुविधाएं

चूड़धार यात्रा के दौरान ऑक्सीजन की कमी के चलते 33 वर्षीय डॉक्टर की मौत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए धर्मशाला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 25, 2019, 11:06 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...